बीएफ देसी एक्स

छवि स्रोत,भोजाई के सेक्सी वीडियो

तस्वीर का शीर्षक ,

इंडियन सेक्सी बीपी नवीन: बीएफ देसी एक्स, मैं उसके गले को किस कर रहा था, वो चुपचाप मज़ा ले रही थी और साथ दे रही थी.

ओल्ड लेडी सेक्सी मूवी

छुट्टियां हो गई थीं तो मैं अपने चाचा के यहां आ गया था और मस्ती से छुट्टियां काट रहा था. वीडियो सेक्सी पोर्न वीडियोमैंने उनके नंगे बदन की कल्पना करके न जाने कितनी ही बार मुट्ठी मारी थी.

मैं बोला- ये अभी और प्यार चाहता है तुम्हारा!तो वो बोली- मेरे ऊपर आकर मेरे मम्मों के बीच में डाल कर इसका रस मेरे ऊपर छोड़ दो।मैंने वैसा ही किया और कुछ देर उनकी चूचियों के बीच रगड़ने के बाद ऐसी पिचकारी छूटी कि सासू माँ के मुंह, गला और छाती सब गीले हो गए।मैं तो निढाल होकर एक तरफ लेट गया. ब्लू सेक्सी मूवी फुल एचडीइतनी सफेद और मांसल पैर, लाल रंग की ब्रा के साथ के सैट की पैंटी, जिसमें नेट लगी हुई थी.

मुझे ज्यादा मजा नहीं आया तो मैंने उसे लेटा दिया और उसकी चूत को चाटने लगा.बीएफ देसी एक्स: मैंने उनसे कहा- चाची एक बार इसे मुँह में लेकर भी प्यार करो न!उन्होंने इसके लिए मना कर दिया.

इस तरह दस मिनट की पलंगतोड़ चुदाई के बाद सरिता बोली- हर्षद, अब झड़ने वाली हूँ.मैं सच कहूँ तो मेरी लाइफ का पहला खुला लंड मैं अपनी आंखों के सामने देख रही थी.

नंगी नहाती हुई सेक्सी - बीएफ देसी एक्स

भाभी ने जल्दी से अपने मुँह में लगी सिगरेट मेरे होंठों में लगा दी और मैंने एक लम्बा कश खींच कर दारू की कड़वाहट को ठीक किया.ये देख कर भाभी बोलीं- तेरे लिए पैग बनाऊं?मैंने हां में सर हिला- हां भाभी, गला सूख रहा है.

फिर उसने गले से हटाया और बोली- क्या बात है … आज बहुत लेट हो गया तू?मैंने कहा- हां दीदी, वो आज एक टैक्स रिटर्न फाइल करनी थी तो इसलिए लेट हो गया. बीएफ देसी एक्स मैंने अपनी लुँगी ठीक से गाँठ लगाकर पहन ली और टीवी चालू करके बेड पर लेट गया.

फिर 8:30 बजे मैंने लवी को कॉल की तो वो बोली कि तुम 10 मिनट में अपनी छत से मेरे घर आ जाओ.

बीएफ देसी एक्स?

मैंने उनका चेहरा देखा तो उनकी आंखें बंद थीं और वो मदहोश तरीके से सीत्कार कर रही थीं. मैं उनकी पैंटी निकालने ही जा रहा था कि अम्मी ने खुद ही अपनी पैंटी निकाल दी. हर धक्के के साथ मेरे लंड का सुपारा सोनाली के गर्भाशय से मुँह पर ठोकर मार रहा था.

इसलिए दीदी को भी आज उसी रूम में सोना था क्योंकि वो कमरा हम तीनों का ही था. मैं साफ देख रहा था कि जितना पागल मेरा जीजू पूनम की चुदाई करने को था, वो भी गैर मर्द के लंड में उतनी ही रुचि ले रही थी. मैंने पूछा- जी बोलिए?उसने बोला- मैं मोनू … मुझे आपके जीजू ने भेजा है.

जैसे जैसे मैं ऊपर जाता गया, उनकी टांग की मांसपेशियाँ मुलायम होती जा रही थी. दीदी की नाइटी उनके चेहरे पर पड़ी हुई थी और वो अपनी चूत में दो उंगलियां डालकर अंदर बाहर कर रही थी. मैं वहीं कुर्सी पर बैठ कर आराम करने लगी और वो लोग भी कुर्सी पर बैठ गए.

मैं ब्रीफ लेने उसके पास गया तो उसने हाथ ऊपर करके कहा- पहले ये बताओ कि तुम नंगे क्यों सोये थे?तो मैं उसके हाथ से ब्रीफ छीनने लगा. मैंने पूछा- दीदी आप भी कहीं जा रही हो क्या?वो बोली- नहीं, ड्रेस रखी रहती है … अब न कहीं जाऊं, तो सोचा घर में ही डाल लूं.

जब ये लोग ऊपर वाले फ्लोर पर रहने आए, तो मेरी नजर उनकी जवान बेटी श्रुति पर टिक गई.

फिर घुटनों के बल बैठकर उसने अपना लंड सोनम की गांड के छेद पर रखकर हल्का धक्का दे दिया.

मेरे झड़ जाने के बाद भाभी हंस कर बोलीं- आज जो सुख आपने दिया है देवर जी, आगे भी देते रहना. मैंने बहुत कोशिश की मगर ना तो मुझे उसका फोन नम्बर मिला और न ही मुलाकात हो पाई. जो मैं आपको बताकर कहानी का लुत्फ खराब नहीं करना चाहती।ऐ रीटा! चल न हमारे मिलने की खुशी में कोई डेरिंग टास्क करते है।” जब मैं रसोई में नंगी ही सुबह की चाय बना रही थी तब पीछे से मुझे पकड़े हुए सीमा ने कहा.

तो वो पूछने लगी- और क्या क्या किया है … टेंशन मत ले, मैं किसी को नहीं बताऊंगी. इस दिन के बाद जब भी मैं अपनी साली की तरफ देखता था तो वह मुस्कुरा देती थी लेकिन बोलती नहीं थी. मैंने भाभी को फोन करके उन्हें सब बात बता दी कि मैं आज अपने पति को क्या गोली देकर आ रही हूँ.

एक तो मेरा वजन उसके ऊपर था और उसकी काफी दिनों बाद की चुदाई की वजह से टाइट चूत में मेरा मोटा मूसल लंड फंसा हुआ था.

मुझे तो कुछ समझ में नहीं आ रहा था कि ये क्या चल रहा है, कौन सा छप्पर फटा है. मैंने पापा को काफी समझाया कि आप चले जाएं, मुझे यहां बहुत जरूरी काम है. वो मुझसे अपने आपको छुड़ाने की पुरजोर कोशिश कर रही थी पर कामयाब नहीं हो पाई.

फिर राजेश ने रेणु से पूछा- कैसा लगा?उसने कहा- आज तो तुम दोनों ने मुझे मजा ही दे दिया. दोस्तो, दिल्ली ले जाकर मेरे फूफा जी ने मुझे किस तरह से चोदा और मेरी कमसिन सीलपैक चुत का भोसड़ा बना दिया. दीदी की दोनों टांगें हवा में उठी हुई थीं और मैं पूरी ताकत से चुत का भोसड़ा बनाने में लगा हुआ था.

मोनू ने नीचे की तरफ इशारा किया, लेकिन कोमल ने लंड चूसने से साफ मना कर दिया.

श्रुति वैसे तो मुझसे ज्यादा कुछ बोलती नहीं थी पर अब वो थोड़ा स्माइल के साथ मुझे देख रही थी. घर के काम करते वक़्त जब वो रसोई में रहतीं, तब मैं उनकी पिछाड़ी को देखता.

बीएफ देसी एक्स एक रात मैं उन्हें चुदाई करते देख रहा था कि अचानक से मौसी ने मुझे देखा, मेरी आंखें और उनकी आंखों का संपर्क मेल खा गया. कुछ ही देर में मैंने भाभी की नाइटी उतार दी और उन्हें टू पीस में कर दिया.

बीएफ देसी एक्स कुछ देर बाद वो अपनी पैकिंग खत्म करके बाथरूम में चली गई और अपने कपड़े चेंज करके बाहर आ गई. उनकी सहेली मुझे देखकर बोलीं- कैसे हो बेटा … क्या हाल हैं?मैं बोला- बढ़िया हैं आंटी.

जो मैं आपको बताकर कहानी का लुत्फ खराब नहीं करना चाहती।ऐ रीटा! चल न हमारे मिलने की खुशी में कोई डेरिंग टास्क करते है।” जब मैं रसोई में नंगी ही सुबह की चाय बना रही थी तब पीछे से मुझे पकड़े हुए सीमा ने कहा.

सुहागरात वाली बीएफ दिखाओ

मैंने कहा- यार, क्या हम दोनों अपनी दोस्ती को एक लेवल और ऊपर लेकर चलें. मैंने लवी से पूछा- ये क्या है?उसकी साइड में मुड़ा, तो मैं लवी को देखता ही रह गया. रेणु ने आह कह कर मुझे चेताया कि अब उसकी चुत में राजेश का लंड चला गया है.

वो एकदम से हैरान हो गयी और बोलीं कि तूने मेरा फ़ोन क्यों चैक किया?मैंने कुछ नहीं कहा और बस चाची की तरफ देखता रहा. भाभी भी मस्त हुई जा रही थीं और वो अपने दोनों हाथ भैया के सर को अपनी चूत में ऐसे दबाए जा रही थीं मानो वो भैया को अपनी चूत में ही घुसा लेंगी. मैं नहीं झड़ा था तो उसने मेरे लंड का पानी निकाल कर मुँह में ले लिया.

उसने मुझे देखा तो वो थोड़ा घबरा गई, उसने तुरंत कॉल काट दी, जिससे मुझे पूरा पता समझ आ गया कि ये अपने बॉयफ्रेंड से ही बात कर रही थी.

फिर उसने मुझे रुकने का इशारा किया और मेरा लंड पकड़ कर अपने हाथों से अपनी चूत पर सैट कर दिया. मैंने कहा- ठीक है भाभी आप आराम से लेट जाओ, मैं आपका सर दबा देता हूँ. मैंने कहा- मैं तुम्हारा पति हूँ कोई दुश्मन नहीं हूँ, यदि तुम्हें कुछ हुआ तो मुझे ही झेलना पड़ेगा.

डॉक्टर के प्रमाण पत्र की सहायता से लड़कियों के नाम से आधार कार्ड, पेन कार्ड बना लेंगे. उसकी अम्मी आंखें बंद करके अपने बेटे को अपनी बांहों में समेट कर आहें भर रही थीं ‘आह … आह …’उनकी मादक आवाज निकल रही थी. मैं उनके ऊपर लेट गया और उनके कोमल बदन पर होंठ फिराने लगा, फिर से उनकी एक चूची पर मुँह रख कर चूसने लगा.

फिर ऐसे ही बात करते हुए अब उसे अच्छा लगने लगा था और वो थोड़ा खुल कर भी बात कर रही थी. उसके पापा ने दूसरी शादी कर ली थी, पर जो उसकी नयी मम्मी हैं, वो श्वेता को तो पसंद करती हैं, पर नेहा को पसंद नहीं करती हैं.

लंड का सुपारा चुत में दाखिल होते ही पति ने एक झटके में ही पूरा लंड चुत में पेल दिया. अंधेरे में उसने सीधे मुझसे पूछा कि मेरा पीछा क्यों कर रहे हो?मैंने इधर उधर देख कर उससे कहा- मैं आपको पसंद करता हूँ. हसित ने रीना का पेटीकोट ऊपर करना शुरू किया तो रीना ने अपने एक हाथ से पेटीकोट नीचे कर दिया.

मैंने पूछा- अंकल और बच्चे कहां हैं?वो बोलीं- तुम्हारे अंकल बाहर गए हैं.

अन्दर बस एक हल्की सी लाइट जली हुई थी जिससे ये पता लग रहा था कि रूम में डेकोरेशन की हुई है. उन्होंने उसको पार्लर वाली को पैसे दिए और हम सभी अपने कमरे की तरफ चल दिए. मैंने 15 मिनट धकापेल चुदाई की और अपना रस भाभी की चूत में ही छोड़ दिया.

इसलिए मेरे माता-पिता ने मुझे एक महीने के लिए मौसी के घर भेज दिया क्योंकि उनका घर मेरे कॉलेज के पास था. मैंने उन दोनों को घर के अन्दर लिया और खुद बाहर से ताला लगाकर पीछे से अन्दर आ गया.

पिछले भागदोस्त की बीवी शादी के बाद भी कुंवारी थीमें अब तक आपने पढ़ा था कि मेरे दोस्त विलास की बीवी सरिता मुझसे चुदने के लिए बेचैन हुई जा रही थी और मेरी बांहों में मचल रही थी. कहीं मां ने देख तो नहीं लिया?सोचकर मैंने किसी तरह से जवाब दिया- हां, रात में देर तक पढ़ाई कर रहा था और लेट सोया था. वो भी मेरे सर को अपने मम्मों पर दबा कर दूध चुसवाने का मजा ले रही थीं.

इंडिया बीएफ हिंदी में

उसने कुछ समय तक बात नहीं की और कहा कि आप दोनों को जो भी फैसला ठीक लगे, मेरी उसी में हां है.

उसने बताया भी कि उसका बॉयफ्रेंड भी है, उसके साथ उसने सेक्स भी किया है. वो बोली- तुम्हारे दोस्त ने आज तक कभी इन्हें छुआ ही नहीं, तो क्या होगा. चीटिंग सेक्स हिंदी स्टोरी मेरी बड़ी बहन की एक अनजान आदमी से चुदाई की है.

प्राची ने मुझे रोका और खुद ही जाकर बेडरूम से क्रीम लाकर मेरे पूरे लंड पर लगा दी. फिर एक दिन उन्होंने मुझसे कहा कि तुम रात के पढ़ाई के लिए कितने बजे बैठती हो. इंडियन सेक्सी ब्लू फिल्म वीडियो मेंकुछ मिला कर 15 मिनट में वो दोबारा झड़ चुकी थी और मैं एक बार भी नहीं झड़ा था.

शबाना को ऐसे लग रहा था कि किसी ने उसकी रीढ़ की हड्डी पर हथौड़ा मार दिया है और उसकी जान अब कुछ ही पल में निकलने वाली है, शबाना लगभग बेहोश हो चुकी थी. मैंने भी लंड बाहर निकाल कर भाभी की चूत में डाल दिया और धक्के मारने लगा.

दस मिनट तक मेरे लंड को चूसने के बाद दीदी बोली- आज तो तू पूरा बहनचोद बन जा, आज तुझे अपनी बहन को तुझे जितना चोदना है, चोद ले. रात को जब सोने की बारी आई तो हम जीजा साली लूडो खेलने लगे और लाईट बंद कर दी. कभी शबाना की गांड तो कभी उसकी चूत में घुसकर उसका लौड़ा शबाना के जिस्म का भोग लगा रहा था।वीरू के टट्टों में उबलता हुआ उसका कामरस शबाना चाची की चूत या गांड में खाली होने के लिए व्याकुल था.

इस माँ बेटे की चुदाई हिंदी कहानी में आपको मजा आया?मुझे मेल और कमेंट्स में बताएं. मैं थोड़ा दूर हटा और उसकी पसंद की डार्क चॉकलेट निकाल कर एक टुकड़ा तोड़ कर उसके मुँह में डाल दिया. उससे मेरी एक दो बार बस हैलो हाय हुई … हुई क्या, मैंने ही उससे हाय कहा.

जिया दीदी- मैंने सोचा नहीं था कि 18 साल के होते ही तुम में इतनी हिम्मत आ जाएगी.

अब मुझे बेड पर लिटा कर आंटी मेरे ऊपर आ गईं और लौड़े को चूत पर सैट करके एक ही झटके में सीत्कार के साथ पूरा चूत में निगल लिया. मैं पहुंची तो देखी कि वो लोग एक तरफ गद्दे बिछा कर तैयारी किए हुए थे और एक बड़ी सी टेबल पास में रखी थी.

रात को करीब 11 बजे अंगिका मुग्धा को तैयार कर के ले आयी, उसने लहंगा पहन रखा था बिल्कुल दुल्हन की तरह!मैंने मुग्धा का घूंघट उठाया और उसे प्यार करने लगा. मैं- भाभी यार, आप चिंता मत करो, आपको बहुत मजा आएगा और कुछ भी नहीं होगा. उनका बैकलेस और स्लीवलेस ब्लाउज उनकी सेक्सी फिगर में चार चाँद लगा देता था.

लड़कियों को पसंद आने वाला मेरा मोटा लंड 7 इंच का है जो किसी की भी चुत को फाड़ सकता है. वो बोली- मुझे तो लगा था कि इतना बड़ा नहीं होगा, पर ये तो ज़्यादा ही बड़ा है. मैंने अपना एक हाथ जिया दीदी के हाथ में रखा और दूसरा हाथ जिया दी की सेक्सी कमर पर रख दिया.

बीएफ देसी एक्स उसने एक बार फिर से लंड मुँह में ले लिया और लंड को चिकना करके ऊपर चढ़ गई. फिर रीना ने खुद लंड अपनी चूत में लगाया और हसित ने हल्का सा धक्का दे दिया.

जानवर के बीएफ सेक्स

मैंने उससे एक दो बार मना किया मगर वो शायद हमारी चैट भी देख चुकी थी. मैं आज आपको मेरी साथ कुछ दिनों पहले घटित हॉट देसी भाभी सेक्स कहानी बता रहा हूँ. भाभी कराहती हुई बोलीं- आंह आराम से करो यार … मैं बहुत दिनों से चुदी नहीं हूँ और तुम्हारा बहुत मोटा भी है.

मैंने पहले चूत के होठों को हल्के से चूमा और चूत को चूसना शुरु किया. मैं- कैसी हो!जमीला- मैं ठीक हूं, तुम बताओ कैसे हो?मैं- मैं भी ठीक हूं … तुमने मुझसे बात करने में कितनी देर लगा दी. सेक्सी पिक्चर करनेफिर मैं उसके ऊपर लेट गया और फिर से एक धक्का मारा और मेरा पूरा लंड दीदी की चूत में चला गया.

एकदम से दीदी के मुंह से निकला- आह्ह … सैम थोड़ा धीरे कर!मैंने दीदी की चूत में अपनी उंगलियां अंदर बाहर करना चालू रखा.

मैंने कहा- शनाया का तो तू तय समझ ले, कल ही उसे चोद लेना, लेकिन क्या शिल्पा मेरे लौड़े पर सवारी करने को मानेगी?वो नशे में झूमता हुआ बोला- वो तू मुझ पर छोड़ दे. कुछ देर में मेरी उत्तेजना अपने चरम पर आती महसूस करने लगी और एक बार फिर से मेरी चूत ने अपना पानी छोड़ दिया.

दीदी- सच बता तूने कितनी लड़कियों के साथ सेक्स किया है?मैं- बस एक के साथ ही. लंड का सुपारा चुत में दाखिल होते ही पति ने एक झटके में ही पूरा लंड चुत में पेल दिया. पहले अंकल ने अपनी एक उंगली डाल दी, फिर दूसरी उंगली डाली और बाद में तीसरी उंगली डाल दी.

अब यदि तुझे बुरा नहीं लगे तो मैं कुछ खुले शब्दों में कुछ कहना चाहता हूँ.

मैंने रास्ते में उससे पूछा- क्या खाओगी?वो बोली- कुछ नहीं, पहले ही इतना खिला दिया … जो कभी नहीं भूलूंगी. हसित ने रीना का पेटीकोट ऊपर करना शुरू किया तो रीना ने अपने एक हाथ से पेटीकोट नीचे कर दिया. अन्दर गुलाबी चादर पर गुलाब के फूल बिखरे पड़े थे, कमरा एक मनमोहक महक से भरा था.

हिंदी सेक्सी मूवी कार्टूनकुछ देर तक दीदी तेजी से अपनी चूत में उंगली चलाती रही और अपनी चूत के दाने को जोर जोर से रगड़ती रही. उसने कपड़े से मेरा लंड को पूरा साफ कर दिया और मेरे बाजू में पीठ के बल लेट गयी.

बीएफ सेक्सी फुल हिंदी वीडियो

फिर मैं उसके मम्मों पर आ गया और टीना की टी-शर्ट के ऊपर से ही उसके मम्मे चूसने लगा. मैं चुम्बन करते करते उसके गले को चूमने लगा तो वो निढाल होकर बेड पर गिर पड़ी. दूसरे ने कहा- मक्खन मलाई से शादी उसकी हुई है और मक्खन मलाई उतार हम रहे हैं.

उसी में एक लड़की भुवनेश्वर से आई थी जिसे मैंने सुबह ऑफिस में देखा था. मैंने फिर भाभी की ब्रा का हुक भी खोलने के लिए पकड़ लिया पर वो बहुत टाइट था. मेरी चुदाई से परेशान सासु जी ने अपने बेटे यानि मेरे पति से अपनी चुदाई करवाई और जैसे मैंने सासु जी को अपनी चुदाई दिखाई, उन्होंने भी मुझे अपनी दिखाई.

हज़ीरा के मुँह से यह सब सुनकर सीमा खुशी से उछलकर फूली न समाई और उसी समय वो न जाने कैसे गिर गई. तब विशाल और प्रकाश, रवि की तरफ पैर करकर लेट गए, उनके लंड पास पास आ गए. फिर एक हाथ से उसने मेरा लंड पकड़ा और हिलाने लगा; मेरा एक अंडकोश मुँह में लेकर चूसने लगा.

आपका प्‍यारा मासूम इंदौरी[emailprotected]लेखक की पिछली कहानी थी:अस्पताल में पहले सेक्स का सुहाना सफर. मैंने भी धीमे धीमे से अपना पूरा लंड उसकी चूत में पेल दिया और जोर देकर उसे जड़ तक उसकी बच्चेदानी तक छुला दिया.

अचानक उन्होंने मुझे धक्का दे दिया और मुझे वो उसी पुरानी बात को लेकर कहने लगीं.

मेरे बदन चूमने से जिया दीदी की सांसें तेज होती जा रही थीं और वो मदहोश हो रही थीं. भाई बहन की चूत चुदाई सेक्सी वीडियोउधर जिया दीदी का बदन भी एकदम लाल पड़ गया था और उनकी चुत भी गीली दिख रही थी. बिहारी सेक्सी साडी वालीकभी कभी सर का लंड भी अकड़ जाता था लेकिन कैसे भी करके वो छुपा लेते थे. दोस्तो, मेरा नाम सौरभ है और मैं 20 साल का काले रंग का लड़का हूँ, पर मुझे लड़कियों की तरह रहना बहुत पसंद है.

फिर मैंने भाभी से कहा- मैं सोऊंगा कहां?भाभी ने कहा- तुम प्रिया के बेडरूम में सो जाओ और मैं अपने रूम में!तो मैंने भाभी से कहा- मुझे रात से अकेले डर लगता है.

मैं जब भी मेरे पीहर जोधपुर जाती थी तो माता पिता के घर जाने से पहले उनके घर पर जाती थे और 1-2 दिन वहीं रुकती, उसके बाद माता-पिता के पास जाती!मामाजी का स्नेह मेरे लिए अपनी खुद की बेटी से भी ज्यादा था. मैंने पूछा तो उसने अपनी आपबीती बताई कि उसकी शादी के तीन महीने बाद ही उसका मर्द उसे छोड़ कर चला गया था. वो मेरा बड़ा लंड देख कर घबरा गई और बोली- तुम तो मुझे मार ही दोगे … ये तो इतना बड़ा है.

फिर वो ब्रा के ऊपर से मम्मों दबाते हुए किस करने लगा और ब्रा के अन्दर से मम्मों निकालने की कोशिश की. मैं उनकी चुदाई को तब तक देखता रहा जब तक वो दोनों थक कर अलग नहीं हो गए और सो नहीं गए. उनकी गर्म सांसें मुझे महसूस हो रही थी।तभी मेरा फोन बजा, मैंने देखा शालू का फोन था.

मराठी में बीएफ दिखाओ

वो अपने पूरे उफान पर थी ‘आह उह आह और तेज और तेज …’मैं भी उसकी गांड एक हाथ से और दूसरे से तेज तेज चूचियां दबा रहा था. मैं उसकी दोनों टांगों के बीच में आया और उसकी चूत पर अपने लौड़े का टोपा रख दिया. दस मिनट बाद मैंने रघु से पूछा- अब मैं जाऊं?रघु ने कहा- चली जाना भाभी, पर जाने से पहले एक एक बार हमारा लंड चूस लो.

जब भाभी ने कहा- जानू एक बार फिर से जोर जोर से चुदाई करो न!मैं भी अपना लंड टाइट करते हुए हिलाने लगा.

आज तुम्हारा बर्थ-डे था … इसलिए सोचा कि तुम्हें आज मजा दे देती हूँ ताकि तुम्हारी जिंदगी खुशी पूर्वक आगे बढ़े.

जब दोनों काफी करीब आ गए, तो मैंने सीमा से रात में मिलने की बात कही. सोनाली ने मेरा मुरझाया हुआ लंड पूरा अपने मुँह में लेकर चूसकर साफ कर दिया. एक्स एक्स एक्स सेक्सी वीडियो hindiसीमा ने तुरंत ही पहचान लिया और मेरी बात काट कर वो बीच में बोल पड़ी।वैसे भी सीमा एक असाधारण प्रतिभा वाली लड़की थी, दिमाग से तेज़, गोरी भी इतनी कि कोई मेकअप की ज़रूरत ही न पड़े।जब उसने बीच में मेरी बात काटी तो वो थोड़ी देर उसको देखता ही रह गया।बाकी सारे मर्दो की तरह ही उसकी भी नज़र सीमा की पहनी हुई काली ब्रा पर पड़ी।बोलो, क्या मदद कर सकता हूँ?” उसने ब्रा को ताकते हुए ही पूछा.

अंकल भी धीरे धीरे मेरी चुत की फांकों के अन्दर पूरी जीभ डालने लगे और बड़ी मस्ती से मेरी कमसिन चुत चाटने लगे. बस कभी कभी हसित मुझसे कहता रहता कि वो अपने मकसद में जल्दी ही कामयाब हो जाएगा. मैं अंकल के लंड को मुँह में आगे पीछे कर रही थी, मुझे तो बहुत बहुत मजा आ रहा था.

मैंने अपना एक हाथ जिया दीदी के हाथ में रखा और दूसरा हाथ जिया दी की सेक्सी कमर पर रख दिया. भाभी के मुँह से मादक आवाज निकलने लगी- हम्मम हम्मम उम्म उम्म्म!उनकी गर्म आवाज भईया को और उकसा रही थी.

मैं आपको सोनाली की चूत की चुदाई की कहानी का आखिरी भाग सुना रहा हूँ.

जैसे ही मेरी गांड में का दर्द कम हुआ, मैं भी आह आह आस् आह उफ्फ्फ करकेगांड चुदवाने लगी. उससे पता चला कि वो कल रात में ही आया था और उस लड़की के साथ ही रुका था. अब मैं धीरे धीरे दीदी के बूब्स के निप्पलों को हल्के हल्के काटने लगा.

सेक्सी पिक्चर वीडियो चलाओ सरिता भी यही चाहती थी, उसने अपनी कमर हल्के से ऊपर उठा दी और मैंने गाउन ऊपर लेकर सरिता के सर से निकाल कर साइड में रख दिया. कुछ समय ऐसे ही करने के बाद मैं उठ गया और उसे वापिस लेटा कर उसकी जींस के बटन खोलने लगा.

मैंने देखा कि शिल्पा ने आज जींस और सफेद रंग का टॉप पहना हुआ था और खुले बाल थे जो अभी गीले ही थे. फिर मैंने दुकानदार से लड़की के लिए कुछ अच्छे कपड़े दिखाने के लिए कहा. वो शर्मा कर बोली- ऊओ थैंक्स जान!फिर मैंने कहा- वैसे मैडम आपको पार्टी में नहीं जाना क्या … हम लेट हो रहे हैं.

रश्मिका मंदाना का बीएफ वीडियो

मैं उसके सामने ही लंड पर पैंटी डाल दी, लेकिन उसमें मेरा लंड आराम से नहीं बैठ पा रहा था. सेक्स कहानी के अगले भाग में आपको एक कमरे में दो चूतों की दो लौड़ों से चुदाई लिखूँगा. अब आगे फ्रेंड वाइफ चीट स्टोरी:विलास को बाथरूम से बाहर आया देख कर सरिता बोली- देवर जी, जाइए आप भी जल्दी से फ्रेश होकर आइए.

शिल्पा से मुलाकात की शुरुआत ही ऐसी हुई थी कि उसके चुचे पकड़ने को मिल गए थे. बीच बीच में वो मेरी नमकीन चुत पर हाथ फेर देते, उससे मेरी आग और भड़क रही थी.

मैं आज आपको मेरी साथ कुछ दिनों पहले घटित हॉट देसी भाभी सेक्स कहानी बता रहा हूँ.

लेकिन शायद आपको नहीं पता कि पिछले छह महीने से मैं आपको नहाते हुए देखती हूँ और आपके लंड को भी. मैं भी जोश में था और उनके होंठों को चूसना और चूचियों को दबाना और पीना चाहता था पर इस हालत में ये सब करना मुश्किल है इसलिए मैं भी आंखें बंद कर बस चुसाई के मज़े लेने लगा. मैंने सरिता से कहा- तुम चिंता मत करो मैं हूँ ना!मैंने उसे प्लास्टिक के स्टूल पर बिठाया और गीजर चालू कर दिया.

उसकी बात सुन कर मैंने कहा- मैं …अभी मैं कुछ और बोलता, इससे पहले कुच्ची ही बोल पड़ा- चल बे भोसड़ी के … तेरा भी जुगाड़ है. वो भी गांड उछाल उछाल कर मेरा साथ दे रही थीवो मेरे लंड की बहुत तारीफ कर रही थी. मैं जब भी कॉल करती, वो ‘अभी थोड़ा बिजी हूँ, शाम को करता हूँ बात!’ऐसा बोल कर फ़ोन रख देता.

पहले तुम मेरी आग बुझाओ।अब सनी ने भी पेलमपेल कर दी।दिमाग में जल्दी थी तो जल्दी ही काम निबट गया।सनी रोज़ी को लेकर वाशरूम में घुस गया।तभी रॉकी का फोन आ गया की डेविड 15 मिनट में रेजोर्ट पहुँच जाएगा।सनी और रोज़ी फटाफट नहाए.

बीएफ देसी एक्स: नीचे की मंजिल पर हमारा परिवार रहता है और ऊपर की मंजिल के दो कमरे मम्मी ने किराये पर दे रखे है. भाभी बोलीं- तुम इतने स्मार्ट हो … और तुम्हारी कोई गर्लफ्रेंड नहीं है, ऐसा तो हो ही नहीं सकता, क्या तुम्हें कोई नहीं मिली?मैंने मजाक करते हुए भाभी से कहा- जिस दिन आप जैसी कोई खूबसूरत लड़की मिलेगी, तो उसे गर्लफ्रेंड बना लूंगा.

दीदी की तड़प देखकर और उनकी कामुक आवाजें सुनकर मेरा जोश एकदम से बढ़ गया. इतना सुनते ही नियाज डर गया और पूछने लगा- भाई क्या हुआ? तू ऐसा क्यों बोल रहा है?मैंने उसे गाली देते हुए कहा- साले … तू कल अपनी अम्मी के साथ क्या कर रहा था?इतना सुनने कर बाद वो मुझसे रिक्वेस्ट करने लगा- प्लीज़ अंसार, किसी को नहीं बताना प्लीज़. जवानी में उनके चले जाने से सासू माँ काफी आहत हुई थी मगर उन्होंने खुद को किसी तरह सम्भाल लिया क्योंकि ससुरजी का बिजनेस चल रहा था तो पैसे की परेशानी नहीं हुई.

हम दोनों चूमाचाटी कर रहे थे और साथ में मैं अपना लंड चूत में अन्दर बाहर कर रहा था.

दीदी- तो क्या पढ़ रहा था अभी तक?मैं- इकोनॉमिक्स की किताब पढ़ रहा था. लंड चूत से बाहर निकला ही था कि लंड ने पिचकारी छोड़ दी और मेरी जांघों पर वीर्य गिर गया. मैंने अपना एक हाथ प्यार से भाभी की गुलाबी चूत पर रख कर उसे सहला दिया.