सेक्सी बीएफ व्हिडीओ हिंदी मे

छवि स्रोत,తెలుగు sex video

तस्वीर का शीर्षक ,

बॉलीवुड का बीएफ: सेक्सी बीएफ व्हिडीओ हिंदी मे, जिससे लंड का आधा भाग शाज़िया की चूत में आराम से चला गया।शाज़िया ने कमर को कुछ इस तरह से उठाया कि मैं बता नहीं सकता और दूसरे झटके से लंड पूरा का पूरा अन्दर चला गया और शाज़िया पूरी तरह से ऊपर उठ कर मेरे गले से लग गई।मैंने शाज़िया से पूछा- क्या हुआ.

मूवी दिखाओ सेक्सी

पर उसने अभी नहीं छोड़ा था।उसने कुछ रुक कर मेरे रस से अपने लौड़े को नहलाया. நீக்ரோ செஸ் விதேஒஸ்मैं अक्सर उनके घर भाभी के पास पढ़ने के लिए जाया करता था और इस बहाने उनको देखकर आँखें भी सेंक लिया करता था.

जिसमें लड़का लड़की बहुत पैशन से एक-दूसरे को किस कर रहे थे।वो देख कर बोली- भैया, ये क्या लगा दिया?तो मैंने कहा- ये तो नॉर्मल पिक्चर्स हैं।इस पर वो बोली- ये नॉर्मल है. தமிழ் பேசும் செக்ஸ் வீடியோकब मेरे लंड को उसकी चूत की गुफा में घुसने का मौका मिलेगा।सपनों में कई बार मैं उसके मम्मों को मसल कर उसकी चूत मार चुका था.

’ कहा और नाश्ता किया और मामी से बोला- मैं बाहर घूम आऊँ?वो बोलीं- हाँ ठीक है.सेक्सी बीएफ व्हिडीओ हिंदी मे: दरवाजा खोलो।वो बोली- ठीक है, एक मिनट रूको।दोस्तो, उसने जैसे ही दरवाजा खोला.

थोरी देर मेरे मुरझाए लंड को चूसने के बाद वो बोली- मैं चलती हूँ फिर मिलेंगे।हमारी अगली चुदाई की कहानी अगले कहानी में सुनाऊँगा.मैं तो समझो जन्नत में था।अब हम दोनों फिर से तैयार थे।अब मैंने उसे सीधा लिटाया और वो बोली- धीरे करना.

সেক্স স্টোরিজ - सेक्सी बीएफ व्हिडीओ हिंदी मे

’ करने लगी।वो भी अपने हाथ को मेरे अंडरवियर के ऊपर से रगड़ने लगी और मेरे लौड़े को जोकि उसके होंठों का स्पर्श मेरे होंठों पर होते ही तन कर खड़ा हो गया था.’‘इसका तो मुझे फ़ायदा ही हुआ… मैंने तुम्हारा इतना बड़ा ये देख लिया… क्या मैं इसे दुबारा देख सकती हूँ?’‘अगर आपकी फैमिली में किसी को पता चल गया तो?’‘तुम उसकी टेंशन मत लो… आज शाम तक कोई नहीं आएगा… घर पर कोई है ही नहीं.

जिसे देख कर दोनों के होश उड़ गए। पुनीत का लौड़ा तो झट से पैन्ट में खड़ा हो गया था।पायल ने बहुत टाइट ब्लैक कलर का शॉर्ट गाउन पहना हुआ था. सेक्सी बीएफ व्हिडीओ हिंदी मे इतने में ही वो एकदम से अकड़ उठी और उसका पानी निकल गया।फिर भी मैं उसे चोदता रहा। कभी उसे किस करता.

इसलिए मैंने पोजीशन बनाई और झट से लण्ड डाल दिया।भाभी के मुँह से ‘आह’ निकली.

सेक्सी बीएफ व्हिडीओ हिंदी मे?

और आखिरकार वो शब्द मेरे कानों में पड़ ही गए जिनके लिए मैं सुबह से प्रार्थना कर रहा था. मैं उनकी इस काबिलियत पर थोड़ा हैरान रह गया और जैसे वो मुझे चोद रही थीं उससे लगता था कि जैसे इस तरह चुदाई करने का उनको अच्छा अनुभव है।मैंने भाभी से पूछ ही लिया. जिसका रिदम ऐसा बन गया था कि उसको लंड को लेते समय मुझे स्वर्ग सा अनुभव होने लगा था।उसने मेरे हाथ पकड़े और उनको चूमता हुआ बोला- आई लव यू अंश…बस इतना कहना था कि मेरी आँखों से आंसुओं झड़ी बहने लगी.

अगर मार्केट में किसी सेक्सी लड़के को देख लिया तो बस उसी के लंड के बारे में सोच सोच कर मुठ मारता था रात को. सब समझ में आ जाता है। बस मुद्दा ये था कि शुरूआत कौन करे।जब सामने इतना जबरदस्त माल हो. उसके बाद पीछे जो मन हो सो कर लेना।उसकी ये बात सुनकर मैं उसके सामने आया और हम एक-दूसरे को कस के जकड़ लिया और एक-दूसरे के होंठ को चूसने लगे।कुछ देर बाद हम दोनों अलग हो गए और एक पल देखने के बाद ही पूजा फ़िर से मुझ पर टूट पड़ी, उसने मुझे बिस्तर में गिरा दिया और मेरे ऊपर चढ़कर मेरा टी-शर्ट उतारने लगी.

और चूसने लगा।अब प्रियंका ने अपनी टी-शर्ट ऊपर से उतार कर फेंक दी। वो ऊपर से नंगी हो गई और प्रियंका मेरा हाथ पकड़ कर. तो देखा कि प्रीत के फ़्लैट का दरवाजा भी खुला हुआ है।मैं अन्दर चला गया. हम दोनों इतने गरम हो गए थे कि आयशा मेरे निप्पलों में दांतों के निशान लगाने लगी थी.

तुम्हें शादी के टाइम समझाना पड़ेगा।यह सुनते ही मेरा लौड़ा खड़ा हो गया।मैंने कहा- आप तो चाबी दे दो. और मेरे लण्ड के टोपे को मजे से चूसने लगी।उसने लण्ड को फिर से चूस कर गुलाबी बना दिया.

पर 5 मिनट चूसने के बाद ही उसकी गाजर मोटी हो गई थी।उसने मुझे खूब चूमा और साथ ही मेरी चूत में उंगली भी की।अब वो मेरी चूत को चूसने लगा और कहा- कहाँ है साला तेरा दाना.

पायल ने कुछ सोचा फिर चुप हो गई क्योंकि पार्टी में सन्नी भी उससे बहुत चिपक के मज़े ले रहा था। उसको पता था कि अगर उसको मौका मिला तो वो जरूर उसको चोदेगा।ऐसे ही बातें करते हुए वो दोनों घर पहुँच गए और नशे और थकान के कारण दोनों सो गए। उधर रॉनी भी देर रात को घर आ गया था और आते ही सो गया था।दोस्तो, अब जिस गेम के लिए यह कहानी शुरू हुई है.

उनका 8 इंच का लंड पूरी तरह से खड़ा था।फिर ट्रक ड्राइवर ने मुझे पकड़ लिया और मेरे मम्मों को दबाने लगा।वो हेल्पर नीचे बैठ गया और मेरे गोरी टाइट जाँघों को चाटने लगा।मैं कुछ नहीं कर सकी. बहुत टेस्टी चूत थी।काजल की चूत को मैं पूरे दस मिनट तक चाटता रहा।फिर मैं उसे पीछे घुमा कर उसकी गाण्ड चाटने लगा. तो अच्छा होता।मैंने ‘हाँ’ कहा और करीब आधे घंटे बाद उसके घर पहुँच गया।जहाँ वो रहती थी.

पहली बार है।मैंने उसके दूध दबाने शुरू किए, वो सिसकारियाँ लेने लगी ‘आह सीआहह हहहह. हाय क्या मस्त लग रहा था, मेरा मन तो हुआ कि सोनी को छोड़ू ही नहीं।कुछ देर ऐसे ही रहने से अब ठीक लगने लगा. इतना सुनते ही मैं उठा और उसके पीछे जा कर उसे बाँहों में भर लिया और टॉप के ऊपर से उसकी चूचियाँ दबाने लगा।वो बोली- मुझे भी तुम्हें बाँहों में भरना है.

वो तो आपके मिलने के बाद ही जागी। न जाने आपने क्या जादू कर दिया कि सब कुछ भूलकर आपके पास चुदवाने आ गई।मैं बातें करते हुए अपनी उंगली से उनकी गाण्ड टटोल रहा था, मैं अपनी उंगली का अगला हिस्सा गाण्ड में घुमा रहा था.

लेकिन मैं उसे चोदे ही जा रही थी।करीबन 15 मिनट तक मैं ऐसे ही करती रही. बहुत हसीन लगता है ये…और सबसे ज्यादा दीवाना तो मैं हरियाणा वालों का हूँ. मैंने उस बर्तन में अपना पानी निकाल दिया। भाभी की भी सब्जी तैयार होने वाली थी। मैंने भी अपने कपड़े सही किए.

प्लीज़ आप मुझे अपने कमेंट्स ज़रूर दें ताकि मैं अपनी जवानी के और कारनामे भी बता सकूँ।[emailprotected]. तभी तो कुछ पलों के बाद उनकी गति तेज़ होने लगी और एक मर्दाना ताकत का एहसास मुझे होने लगा। करीब 7-8 मिनट होते-होते झटकों में काफी तेज़ी के साथ-साथ जोर भी आने लगा और मेरी सिसकारियों में भी तेजी आ गई, उनके हर झटके पर मैं कुहक सी जाती और ऐसा लगता ही नहीं कि ये इतनी उम्र के मर्द हैं।काफी देर के बाद उनके झटके रुक-रुक के और धीमी हो कर लगने लगे. मैं गया और मैंने सारी खिड़कियाँ बंद कर दीं। मैं आज हम दोनों के बीच किसी तीसरे को नहीं आने देना चाहता था।अब उस कमरे में खिड़कियों से आती चाँद की चांदनी.

’ करने लगी।मैं थोड़ी देर उसके ऊपर यूँ ही लेटा रहा।जब थोड़ा दर्द कम हुआ.

तौलिया कंधे पर डालते हुए उन्होंने अंडरवियर पर हल्का सा खुजला दिया जिससे मेरे होंठ खुल गए. अब तुझे दिखता हूँ अपना पावर।इतना कहकर अर्जुन पायल के पैरों के पास बैठ गया और उसके पैर उठा कर अपने कंधे पर डाल लिए।पायल- उफ़फ्फ़.

सेक्सी बीएफ व्हिडीओ हिंदी मे तो ऐसे ही गोद में लिए मैं सोनी को कमरे में ले आया और उसे बिस्तर पर लिटा दिया।बिस्तर पर लिटाने के बाद मैं सोनी के पूरे जिस्म पर चुम्बन कर रहा था।अधचुदी सोनी अपनी चुदास से तड़फ रही थी और ‘ऊऊऊओ. लेकिन मैं अब भी जोर-जोर से चोदे जा रहा था।लगभग 15 मिनट के जोर-जोर से चोदने के बाद मैं भी उसकी चूत में ही झड़ गया।उसकी चूत लबालब भरी हुई थी।मैं बहुत थक चुका था.

सेक्सी बीएफ व्हिडीओ हिंदी मे जिसमें वो इतनी गरम हो चुकी थी कि कई बार झड़ चुकी थी।चुदाई के बाद हम दोनों निढाल होकर पड़े रहे।उस रात मैंने मनप्रीत की पूरी रात में 3 बार चूत चोदी. मैंने जल्दी से अपने सारे कपड़े उतार दिए।उसने कहा- चल साली घुटनों के बल बैठ.

और एक हाथ उसकी सलवार के ऊपर से ही चूत को रगड़ने लगा।रीता ने मेरा हाथ पकड़ कर अपनी सलवार के अन्दर कर दिया और मेरी पैन्ट की ज़िप खोल कर मेरा 7 इंच का लंड बाहर निकाल कर ऊपर-नीचे करने लगी।उसकी चूत से रस नदी की तरह बह रहा था। मैंने उसके क्लाइटॉरिस को रगड़ा.

सेक्सी हिंदी चुदाई सेक्सी वीडियो

तो मैं नहीं दबाऊँगा।रिया- अगर तू चाहे तो मेरा दर्द कुछ कम कर सकता है।मैं- वो कैसे. और गर्ल्स भी वाशरूम की ओर निकल गईं। मैं वापस आया तो मैंने देखा कि प्रियंका बैचमेट. जिसकी मुख्य वजह अपने यहाँ की बंदिशें और हमारे संस्कार हैं।मगर हम-ख्याल लड़कियाँ आपस में आसानी से सेक्स के टॉपिक भी अब खुल कर कर लेती हैं और अपने अनुभवों को भी आपस में साझा करती हैं।आप लोग जानकर शायद हैरान होंगे कि मैंने पहली कोई भी सेक्सी एक्टिविटी जो की है.

तो इसी वीडियो को दिखाकर उनको ब्लैकमेल करके थ्री-सम कर लिया।सुरभि- क्या सच में. ’ कर रही थीं, वे पूरे प्यार से चूस रही थीं।थोड़ी देर बाद मैम मुझसे अपने दूध पीने को बोलीं। मैम के चूचे मुझे बहुत पसन्द थे, मैं सोच रहा था कि आज मैम का रस पूरा पीकर ही रहूँगा।मैंने पहले दोनों मम्मों को खूब ज़ोर से दबाया. ’ जैसी मस्त आवाजें सुनने को मिल रही थीं,अब वो लण्ड लेने के लिए तड़प रही थी।अंततः मैंने उसकी चूत में अपना 6 इंची लौड़ा पेलना शुरू किया। धीरे-धीरे चुदाई जोर पकड़ने लगी। हमारे नंगे बदन एक-दूसरे में समा जाना चाहते थे.

जिसके कारण में समझ गया था कि वो अपनी सेक्स लाइफ में ज़्यादा खुश नहीं है.

’ झटके देने लगा और ऊपर से अर्जुन उसकी गाण्ड का बैंड बजा रहा था।एनी- आह्ह. तो मैंने गीत का हाथ पकड़ कर उसके मुँह में डाल दिया।संजय ने केक उठाया और गीत के मम्मों और गालों पर लगा दिया। इसी तरह सिमरन ने गीत की गर्दन और गालों और मुँह में केक लगा दिया।मैंने भी उसे बधाई देते हुए केक गीत के गाल, मम्मों और चूत पर केक लगा दिया।अब गीत के पूरे शरीर पर केक ही केक लग चुका था।गीत बोली- सालों कुत्तों. उसने मेरा सिर अपनी छाती में दबा लिया।धीरे-धीरे मैंने उसकी साड़ी उतार दी और पेटीकोट का नाड़ा खोल दिया। अब वो मेरे सामने सिर्फ ब्रा और पैन्टी में थी।मैं उसकी गर्दन पर चुम्बन करने लगा.

ये मेंगो डाली में भी चूसूँगी।मैंने अपना लण्ड उसके मुँह की तरफ कर दिया और चूत चूसने लगा. इसका बाप तेरे यहाँ आता था और तूने नीतू से कहा था कि एक दिन तेरे बेटी को इस कोठे पर बिठा लूंगी. उसने एक मुस्कान दी और मेरे लौड़े को हाथों से सहलाने लगी। मैंने उसकी गर्दन पकड़ी तो उसने समझ लिया मैं क्या चाहता हूँ.

लेकिन मुझे ये नहीं मालूम था कि वो भी मुझसे चुदना चाहती है।अब आया मूल्यांकन का टाइम. पर मुझे बैठे देख उसने पूरा कुरता उतार दिया।दोस्तो, मैं अभी कैसे बताऊँ कि मेरी क्या हालत थी.

वरना मुझे लगा था कि फोन किए बिना आप आओगे नहीं।मैंने कहा- ऐसा कुछ नहीं है. उस पर से गीले बाल और पूरा बदन गीला था।प्रीत की कोमल और प्यारी सी कमर जो कि मेरी कमजोरी थी. एक लम्बा समूच किया और केक काटने लगे।ऐसा लग रहा था जैसे हमें सारे जहाँ की खुशियाँ मिल गई हों।मैं बहुत खुश था… ऐसा जन्मदिन सबके नसीब में थोड़े ही होता है और न ही हर किसी को ऐसा हम-सफ़र मिलता है।मेरी तो नजर आज उसकी खूबसूरती से हट ही नहीं रही थी।हमने केक के एक टुकड़े को अपने होंठों में दोनों तरफ से लिया और खाने लगे.

मैं लखनऊ का रहने वाला हूँ और दिखने में बस ठीक-ठाक हूँ। कद 5 फीट 8 इंच और लंड भी ठीक-ठाक है।मेरी उम्र 19 साल और मम्मी की उम्र 38 साल है.

और साथ में नहाए।नहाते-नहाते उसने मेरा लंड चूसना शुरू कर दिया और मेरा लंड चुदाई क लिए दुबारा खड़ा हो गया।अब मैंने उसे उठा कर सोफे पर ले गया और उसे घोड़ी बनने को कहा। मैंने काफ़ी सारा तेल अपने लंड पर लगाया और उसकी गाण्ड मारी।इस बार मैंने सारा माल उसके मुँह में ही डाला और दोनों एक साथ ही नंगे ही कमरे में ही सो गए।अगली सुबह जो उठा. मेरा जोश बढ़ गया और मैं तेजी से प्रियंका की चुदाई करने लगा।प्रियंका- आह. लेकिन मैं डरता था कि वो कहीं भड़क ना जाए।बहुत हिम्मत करके मैंने उसे एक दिन लेटर दिया। वो लेटर देख के मुझपर भड़क गई और अपने पापा को बताने की धमकी देने लगी। मुझे गुस्सा आ गया और मैं घर आ गया।दूसरे दिन वो स्कूल चली गई, मैं रास्ते में उसकी इंतजार कर रहा था.

इसका सबसे अच्छा तरीका ये है कि जब वो ‘बस-बस’ कहने लगे और वो आपको कसकर पकड़ ले. पर ऊपर वाले ने मेरी सुन ली।मेरे घर में मैं और पापा ही रहते हैं। एक दिन काम से पापा शहर के बाहर गए.

पर इससे मुझे इतना तेज दर्द हुआ कि सहा नहीं जा रहा था।मैं दीपक को अपने आपसे दूर करने की कोशिश कर रही थी. पायल- हाँ यार मेरा भी कुछ ऐसा ही है और सुनाओ कहाँ पढ़ती हो?कोमल तो पहले से ऐसी बातों के लिए तैयार थी। उसने अपनी चिकनी चुपड़ी बातों में पायल को फँसा लिया और जो तीर वो मारना चाहती थी. आप इतने गुस्से में क्यूँ हो?तब मैंने कहा- तूने रात को दरवाज़ा क्यूँ लॉक किया था.

पूरी सेक्सी नंगी

तो वो और बेचैन हो गई। मैंने उसकी पैंटी भी उतार दी और अब 3 फिंगर उसकी चूत में पेल कर अन्दर-बाहर करना शुरू कर दीं।थोड़ी देर बाद ही उसने अपनी दोनों टाँगों के बीच मेरे हाथ को जोर से दबाया तो मैं समझ गया कि इसका काम हो गया है।अब आगे.

मैं इन चीजों से दूर रहता हूँ।तो बुआ मुस्कुरा दीं और हम लोग इधर-उधर की बातें करने लगे।इस बीच में मैं बुआ को गाण्ड और बोबों पर छूता जा रहा था। मेरे हर बार छूने पर बुआ मुस्कुरा देती थीं।थोड़ी देर बाद बुआ अपने काम करने चली गईं।रात को बुआ फिर मेरे साथ सोईं. जिससे मैं अपने शब्दों में बयान नहीं कर सकता।मैंने उसे खूब मज़ा दिया. बहुत मार पड़ी थी यार। मैं बचपन से ही बड़ा मनचला रहा हूँ।चलो ये सब बाद में.

जब तुम्हारे जैसा इन्सान मेरे साथ हो।मैं थोड़ा सोच में पड़ गया कि ये क्या कहना चाहती हैं।मैंने पूछा- आपका क्या मतलब है. ’ मॉम चिल्लाईं।दस सेकंड में ही लौड़े ने चूत में अपनी जगह बना ली और मॉम चिल्लाने लगीं-तेज. बियाफ बिडीयोअब मैंने शर्ट को गले तक ऊपर उठाया और जिससे उसकी भीगी हुई गुलाबी ब्रा सामने आ गई और उनमें से तने हुए निप्पलों को मैंने चुटकी से मसल दिया, जिसके परिणाम में उसने मेरा लंड पैंट के ऊपर से ही पकड़ लिया.

तो चूत के बालों को साफ़ करके चूत को तुम्हारे लिए तैयार करके रखी थी।इतना सुनते ही मैं उसके पूरे शरीर को चूमने लगा।शाज़िया चुदने के लिए पूरी तरह तैयार हो चुकी थी. फिर 10-15 शॉट के बाद बोला- अब मेरा निकलने वाला है।तो मैंने कहा- अन्दर मत छोड़ना प्लीज़।तो बोला- ठीक है।और उसने मेरी चूत के ऊपर अपना पानी निकाल दिया।अब उसका फ्रेण्ड बोला- अब मेरी बारी है।मैंने कहा- थोड़ा तो रुक जा.

मेरी हिम्मत नहीं हो रही थी कि उसके सामने खड़ा रह सकूँ, मैं अंदर चला गया और वो फ्रेश होकर यहाँ वहाँ काम में लग गया।मैं भी 12-1 बजे तक उसके सामने नहीं आया. वरना शायद कभी भी आपके पति आपके नहीं हो पाएंगे और आपके बीच की दूरियां कभी भी ख़त्म नहीं हो पाएंगी. पर वो हमेशा अपने सेक्स से कभी खुश नहीं होते थे।साथ में उनको रात को शराब पीने की भी बुरी लत थी.

जिससे मेरा पूरा लण्ड उनकी भट्टी जैसी गर्म चूत में घुसता चला गया।दोनों के मुँह से एक मीठी सीत्कार निकली और बस मजे के दरिया में गोटा लग गया।दो मिनट बाद बुआ ने लण्ड को अन्दर ही रखा. जैसे कल रात कुछ भी ना हुआ हो या वो उस बात को छेड़ना नहीं चाहती थीं।मैंने चाय पीते-पीते अपने मोबाइल पर अन्तर्वासना की साईट खोल दी और उस पेज को खोल दिया. वो भी मुझे पसन्द करता है।जब मैंने उस लड़के से इस विषय में बात की तो उसने हाँ कर दी। अब हम दोनों रोज बात करने लगे.

मैंने उसके चूतड़ों के नीचे तकिया लगाया और लण्ड को सैट करके धक्का दिया.

तो ये सब होना फितरती अमल था।उस रात हम दोनों चुपचाप सोने के लिए लेट गए और आपस में कोई बात नहीं की।अगली रात हमने अपना वो ही हिडन फोल्डर ओपन किया. तुमको भी हम लोगों के आने तक यहीं रहना होगा।‘मैम मैं दिनभर तो रहूंगा.

और तू पीछे से उसे पकड़ के रखना।मैं बोला- ठीक है।वो साड़ी कमर पर लपेट रही थी और मैं वहीं खड़ा. देखने में दोनों ही अच्छे थे लेकिन पीछे वाला ज्यादा ही आकर्षित कर रहा था, मुझे उसकी खाकी शर्ट के ऊपर वाले खुले बटन में से बाहर आ रहे छाती के बाल ज्यादा आकर्षित कर रहे थे।आगे वाले बंदे से सटा होने के कारण उसकी जिप का उभार नहीं देख पा रहा था जिसको देखने के लिए मेरी नजरें पूरी कोशिश कर रहीं थीं।बाइक रोक कर आगे वाले ने पूछा- क्यों बे. उनके निप्पल भूरे रंग के थे जो छाती के भीगे बालों में मस्त लग रहे थे.

लेकिन किचन की लाइट से मुझसे सब साफ़-साफ़ दिख रहा था।सपन ने बोला- आजा किसी का डर नहीं है मेरी जान. वहाँ भी मैंने नहाते-नहाते उन्हें एक बार और चोदा।हम दोनों साथ में नहाने गए तो उनका भीगा बदन देख कर मेरा फिर से टाइट हो गया. दोनों ऐसे ही जगह बदल-बदल के मेरी खूब चुदाई करते रहे और आखिर में मेरी चूत में ही झड़ गए।मैं थोड़ी देर वहीं नंगी पड़ी रही।फिर मैंने दम साधी और खड़े होकर अपने कपड़े उठाने लगी.

सेक्सी बीएफ व्हिडीओ हिंदी मे तो मुझे काफ़ी मज़ा आता था।यह कहानी आप अन्तर्वासना डॉट कॉम पर पढ़ रहे हैं !उसने काफ़ी ट्राई किया कि मैं भी उसका लंड अपने मुँह में लेकर चूसूँ… मगर मैंने ज़ुबान तो कई बार उसके लंड पर फेरी. इतने प्यारे लौड़े को में चूसे बिना कैसे रह सकती हूँ।इतना कहकर कोमल ने अपनी जीभ सुपारे पर घुमानी शुरू कर दी.

बॉम्बे का सेक्सी व्हिडिओ

मैंने उसके हाथ को रोक दिया और उंगली अन्दर डालने लगा। एक इंच उंगली डालते ही उसने गाँड उठा दी और बोलने लगी- अर्ज़ुन अब बर्दाश्त नहीं हो रहा है. और मैं जींस में फंसे उसके मोटे मोटे कूल्हों को देखता रह गया।टांगें फैला कर जब चलता था तो क्या मर्द लगता था वो. अर्जुन तो बस कोमल की टाँगें कंधे पर डाल कर लौड़ा स्पीड से पेले जा रहा था और कोमल सिसकारियाँ ले रही थी.

जिससे कि मेरे लण्ड का टोपा उसकी चूत में फंस गया और जूही के मुँह से बहुत जोरदार चीख बाहर आ गई।मैंने तुरंत उसके मुँह को अपने मुँह से बंद कर दिया और चुम्बन करने लगा।जब उसका दर्द कुछ कम हो गया. उसके मम्मों को हाथों से मसलने लगा।एनी भी अब समझ गई थी कि बातों से कुछ पता नहीं लगेगा. सेक्सी वीडियो प्लेयर चाहिएनहीं तो शायद आज सैलाब आ जाएगा और इस सैलाब को रोकने वाला ही जब दूर है तो.

मुझे गुदगुदी होती और इस गेम में बड़ा मज़ा आता था।मैं बड़े शौक से यह गेम खेला करती थी, इस बात से बेख़बर कि उसकी कामवासना को मैं अंजाने में पूरा कर रही हूँ।कभी वो मेरे ऊपर लेटकर मुझे अपने दोनों हाथों में पकड़ कर बुरी तरह भींचता था।जब वो मेरे छोटे-छोटे मम्मों को जोर-जोर से दबाता था.

फ़िर थोड़ी देर बाद वो भी अपनी गाण्ड उठा-उठा कर चुदवाने लगी।उसकी चूत इतनी गीली थी कि धक्कों से ‘फ़क. यह कहानी नहीं हकीकत है। अपना असली नाम इस कहानी में नहीं लिखूंगा। इस कहानी को लिखते वक्त ही मैं इतना गर्म हो गया था कि मैंने पूरी टाइपिंग केवल अंडरवियर में रहकर की।मैं मीत.

जिसमें से उसके चूचों का साइज़ मस्त दिख रहा था।फिर मैंने लण्ड पर हाथ फेरते हुए कहा- आज मुझे चाय नहीं. वो सीधे रसोई में गई।मैं वहाँ पहुचा तो देखा वो चाय बनाने लगी थी।मैंने उससे पीछे से पकड़ लिया. सोनीपत के गन्नौर का छोटा सा ही गांव था जिसमें एक इंटों की बनी हुई लाल सड़क गांव के अंदर ले जा रही थी.

ये खड़ा हो जाएगा।वैसे भी अबकी बार पायल के नाम से तेरी चुदाई करूँगा। इसको खड़ा करने के लिए उस कच्ची कली का तो नाम ही काफ़ी है.

मेरा लण्ड ‘गप्प’ से अन्दर लेकर गपागप चूसने लगी।उधर प्रियंका ने मेरे पीछे आकर धीरे-धीरे मेरी गर्दन के पास चूमते हुए. अपनी तीन उंगलियों से मैंने मेघा की चूत को फैलाया और बीच वाली उंगली से चूत के दाने को सहलाने लगा।मेघा पागल सी हो गई और मेरे लण्ड कस-कस कर दबाने लगी।जैसे ही मेघा ने मेरी ज़िप खोलनी चाही. सो बस अपनी गाण्ड हिलाते हुए मजे लेने लगी।कुछ ही देर में वो इतनी तेज़ी और जोरों से धक्के मारने लगे कि मुझे लगा कि अब तो मैं गई ‘आह्ह्ह्ह ऊउईइ ओह्ह्ह्ह’ करती हुई मैं बिस्तर पर गिरने लगी।मेरी योनि की नसें सिकुड़ने लगी थीं मेरे हाथों और टाँगों की मांसपेशियां अकड़ने लगी थीं.

गुजराती जंगली सेक्सी वीडियोक्योंकि दीवान के बराबर में अलमारी थी।उस रात टीवी पर कोई प्रोग्राम आ रहा था. और शहरों की अपेक्षा मुंबई के लौंडे दस गुण ज्यादा ले कर पैदा होते हैं। मैंने एक बार में ही उनका सूट.

फिल्म पिक्चर वीडियो सेक्सी

हमारे घर से कुछ ही दूर पर मेरे मामाजी का घर था। उनके घर में मामा-मामी और उनके एक लड़का जो दसवीं में है. तो मैं उसकी चिकनी टांगों को बस देखता ही रह गया। मुझे अपनी टांगों को घूरता हुए देख कर वो हल्के से मुस्कुरा दी और इठलाते हुए वहाँ से चली गई।मेरे लण्ड महाराज का ये देख कर बहुत बुरा हाल होने लगा था। मैं झट से बाथरूम में घुसा और उसके नाम की मुठ मारी।मुझे ऐसा लगा. मैं समझ गया, मैंने उसको लिटा कर मोर्चा संभाल लिया।उधर नीचे लंड को धीरे-धीरे आगे-पीछे करता रहा.

ये वो भी महसूस कर रही थी। अचानक वो मुझसे अलग हुई और अपने टॉप को अपने बदन से अलग कर दिया और ब्रा को पीछे से खोल दिया. एक ही बार में पूरा लण्ड अन्दर चला गया।अब फिर से सोनी की जोरदार चुदाई शुरू हो गई, सोनी जोर-जोर से सिसकारियाँ लेने लगी- ओह्ह. मैं तुम्हारा रस अपनी चूत में ही लेना चाहती हूँ।फिर 15-20 झटकों के बाद मैं और जूही साथ साथ झड़ गए।उस रात मैंने उसकी 3 बार चूत मारी और फिर हम लोग 2 बजे बिना कपड़े पहने नंगे ही सो गए।सुबह जूही ने मुझको 11 बजे जगाया और कहा- आप जा कर फ्रेश हो जाएं.

उस वक्त सोनी स्कूल ड्रेस में ही थी और एकदम भरी-पूरी जवान लड़की लग रही थी।हम लोग ने थोड़ी देर बात की और फिर रात हो गई, सबने साथ में खाना खाया। उस समय कोई साढ़े आठ बज रहे होंगे।फिर सब सोने चले गए. उसने गाउन के नीचे सिर्फ़ कच्छी पहनी हुई थी, उसकी चूचियाँ साफ साफ दिख रही थीं।मैं बार-बार उसकी चूचियों को देख रहा था. वो- हाँ अन्दर से बहुत बड़े हैं 32 के हैं तुम जब चूसोगे तो 36 के कर देना।‘कब चुसवाओगी?’‘हाँ जानू.

या फिर टाइमिंग्स बदल दिए हैं?और शमिका हँसने लगी।मैंने कहा- नहीं ऐसी कोई बात नहीं. जबकि मेरी गर्ल फ्रेंड आयशा से कम खुली थी)सुरभि ने हर बार की तरह दरवाजा खट-खटाया.

तभी उन्होंने सामने रखे दोनों तकियों को मेरी योनि के नीचे रख दिया और मैं पूरी तरह से बिस्तर पर लेट गई, मेरे साथ-साथ मेरे ऊपर अपने लिंग को मेरी योनि में दबाते हुए वो भी मुझ पर गिर गए थे।मेरी साँसें तेज़ हो गई थीं.

मैं उन्हें देखकर खुश हुआ।दीदी ने हरे रंग की साड़ी और उसी से मेल खाता ब्लाउज पहन रखा था।मैं दोपहर में लंच टाइम का इन्तजार करने लगा। दोपहर हुई. ब्लू सेक्सी देहाती चुदाई’ निकल गई।मैंने अब और जोर से धक्का लगाया तो लंड एकदम चूत को चीरता हुआ अन्दर घुस गया. एक्स एक्स एक्स सेक्सी वीडियो गांव कातुम जैसे घटिया आदमी के फ्लैट में मुझे रहना पड़ रहा है।सन्नी- अबे साले. जिससे उसकी गाण्ड पूरी उघड़ी हुई दिख रही थी। उस समय उसने काली जीन्स पहनी हुई थी।यह देखते ही मेरा लण्ड खड़ा हो गया और मैं उसके नजदीक चला गया। मैं अपना मुँह उसकी गाण्ड से 2 इंच दूरी पर रख कर सूँघने लगा, मुझे बहुत मज़ा आ रहा था।फिर मैंने अपना मोबाइल निकाला और उसकी गाण्ड की पिक ले ली.

नहीं तो सासू माँ जाग जाएँगी।तो मैं बस उनको इसी स्थिति में चोदने के लिए तैयार हो गया। भाभी खाना बना रही थीं.

ऐसे रास्ते में गाड़ी क्यों खड़ी कर रखी आपने?हवलदार- अरे बावली पूंछ. यहीं सब कुछ करोगे क्या?मैंने कहा- हाँ जी, एक राउंड तो यहीं होगा।सोनी बोली- यार ठण्ड भी लग रही है और किसी ने देख लिया तो?मैंने उसको पकड़ा और उसके पीछे से चिपक गया और उसे कसके जकड़ लिया। उसकी कमर में दोनों हाथों को बांध लिया और फिर चारों तरफ उसको घुमा कर बोला- देखो कोई दिख रहा है यहाँ पर. ’ मैंने कहा।वो बोली- मुझे तो डर है कि तुम दोनों एक साथ लण्ड डालोगे.

मैं उसे किस करने लगा, आज उसकी चूत में मेरा मोटा लण्ड जड़ तक घुस गया था. हम लोगों को रहने के लिए एक सरकारी कालोनी में मकान मिला हुआ था। कुछ समय के बाद पिताजी का स्थानान्तरण दूसरे शहर में हो गया।उस शहर में हम किसी को नहीं जानते थे। जब वहाँ पहली बार जाना हुआ तो पापा के अधीनस्थ बाबू. तुम अपना लंड पेलकर मिटा दो।मैंने लंड को उसकी चूत में पेलकर झटके लगाने शुरू कर दिए और उसने भी अपनी गाण्ड उठा-उठाकर मेरा पूरा साथ अपनी सिसकारियों के साथ दिया।‘आआआगह.

सेक्सी पिक्चर हिंदी वीडियो चलने वाली

उसने ज़रा भी झिझक नहीं दिखाई।अब उसकी चूत कसी हुई लग रही थी मुझे नशा होने लगा और मैं तब सातवें आसमान पर था।राकेश की कंडोम वाली बात को ध्यान रख कर मैंने अपना रस उसकी चूत से बाहर ही निकालने का इरादा किया। उसकी चीखें तेज़ होने लगीं- आ. अब वो ब्रा और पैन्टी में मेरे सामने खड़ी थी और मैं पूरा नंगा था।वो बोली- बाबू क्या देख रहे हो?मैं बोला- जान. तो मैं बस सोनी की चुदाई करने में लगा हुआ था।हम दोनों ही पसीने से भीग गए थे.

अन्तर्वासना को शुरू हुए लगभग पन्द्रह साल हो रहे हैं!हजारों कहानियाँ अन्तर्वासना पर प्रकाशित हो चुकी हैं.

वो अब सीधे होकर लेट गई। उसके बड़े-बड़े मम्मे और पावरोटी जैसी चूत मेरे सामने खुली पड़ी थी।मैं ज्यादा सा तेल लेकर उसके मम्मों को मसलने लगा.

मेरे दोस्त की शादी है।घर से परमीशन मिलने के बाद खाना आदि खाकर मैंने 11 बजे आंटी को मैसेज किया- आई एम रेडी. बस सोनी की चुदाई करने में लगा हुआ था। अब मैंने उसके दोनों हाथों से उसके चूतड़ों को पकड़ लिए और जोर-जोर से चुदाई करने लगा।हम दोनों की आवाजें कमरे में गूंज रही थीं। दसेक मिनट इस पोज़ में चुदाई की तो सोनी बोली- यश मेरा फिर से आने वाला है।।मैंने भी अपनी स्पीड फुल कर दी। सोनी की जो धकापेल चुदाई हो रही थी. हिंदी सेक्सी एचडी वीडियो न्यू?’‘अबे बुद्धू अपनी चोदने की गति बढ़ा देना। कभी अपना लण्ड पूरा बाहर निकाल कर अन्दर डालना.

वो उछल गई।फिर लौड़ा चूत में जड़ तक पेल कर मैं सोनी की गाण्ड पकड़ कर उसको ऊपर-नीचे करने लगा, सोनी भी उछल-उछल कर चुद रही थी और बार-बार होंठों पर चुम्मियां करती रही।दोस्तो, एक बात बता दूँ. आप के लिए और एक नई कहानी लेकर हाजिर हूँ। मेरी सभी गर्म भाभियों आंटियों और लड़कियों को मेरा प्यार भरा चुम्बन। औरतें जरूर अपनी चूत में कई बार उंगलियाँ करेंगी. अब तो मैंने भी अपने आपको उनके अनुसार बदल लिया है। अब मैं महीने में 2 बार ऐसा उनके साथ ज़रूर करती हूँ और कोशिश करती हूँ कि इस दौरान ज़्यादा से ज़्यादा ब्रूटल बनूँ और हर बार कुछ नया और अलग करूँ। ऐसा करने से मुझे इंटर्नली बहुत तकलीफ़ होती है क्योंकि मैं उनसे बहुत प्यार करती हूँ.

शायद आपको अच्छी लगे।मेरी बहन और मैंने कैसे एक-दूसरे के साथ सेक्स करना शुरू किया. तो उससे मेरी बातें बहुत अधिक होने लगी थीं। वो मुझसे मिलने के लिए बातें कर रही थी। उससे अब कंट्रोल नहीं हो रहा था और वैसे मुझे भी सेक्स करने की चुल्ल सवार हो चुकी थी।मैं भी जोश में था.

वो बस एनी को देखे जा रहा था।एनी ने एक हाथ से अपने दूध सहलाते हुए सन्नी को आँख से इशारा किया कि उसके पीछे ऊपर आए.

लेकिन बात जब समलैंगिकता की आती है तो उनके दिमाग में बस एक ही शब्द आता है ‘गंडवा…’दुआ करता रहता हू्ँ कि काश… वो मेरे जैसे लड़कों की भावना को भी अपने दिल में जगह दे पाते. इस घटना के विषय में आप सभी से गुजारिश है कि अपने विचार मुझे ईमेल जरूर कीजिएगा।[emailprotected]घटनाक्रम जारी है।कहानी का अगला भाग : खिलता बदन मचलती जवानी और मेरी बेकरारी-3. और सुबह 4 बजे उनके होंठ चूम कर आने लगा तो उनकी एक पड़ोसन ने मुझे निकलते देख लिया।आगे बताऊंगा कि कैसे मैंने उस पड़ोसन को चोदा और भाभी की गाण्ड मारी।कृपया मेल करके अपने दोस्त का हौसला बढ़ाते रहिए.

भूत मारने का सेक्सी वीडियो इसलिए मैंने आशू को बेडरूम में जाने को कहा।इधर दोषी का लंड मैंने हाथ में लेकर मुठियाना शुरू कर दिया था।‘क्यों बे साले. उसके सामने मैं कैसे ये सब कर पाऊँगी भाई?पुनीत- अरे अब उसको कहाँ बीच में ले आई.

फिर रविवार को मैं 10:45 बजे सुबह मैम के घर गया। मैम रसोई में कुछ काम रही थीं। मैम के घर कुछ और स्टुडेन्ट्स आई हुई थी. तो तुमको और मज़ा आएगा और मुझको भी अच्छा लगेगा।दोस्तो, ऐसा लग रहा था कि मैं वापस अपनी पुरानी 20-21 साल वाली उम्र में पहुँच गया हूँ।मैं जानता हूँ कि अभी तक वो सब कुछ आपको नहीं मिला. पार्टी खत्म हुई सभी अपने घर जाने लगे।तब वर्षा ने मुझसे मेरे बारे में पूछा कि कहाँ रहते हो.

सेक्सी वीडियो बाथरूम का

अब उसकी सेक्सी आवाज़ सुन कर मुझे भी जोश आने लगा और मैंने भी अपनी स्पीड बढ़ा दी और तेज-तेज धक्के मारने लगा।अब वो भी पूरी मस्ती के साथ चुद रही थी. वो सच में बहुत गोरी थी। अब मैंने उसकी चूत में भी हाथ मारना शुरू कर दिया। ये सभी बात रेकॉर्ड हो रही थीं।मैंने उसके लोवर को सरकाया. हम दोनों साथ ही पढ़ते थे।प्यार करने वालों का दिन यानि कि वैलेनटाइन डे आया.

तो मैंने उनसे बोला- भाभी मैं झड़ने वाला हूँ।तो वो बोलीं- अन्दर मत झड़ना. ’ उसने मुझे डरा हुआ देखा तो बोली और उसने मेरा हाथ पकड़ कर अपने पास बैठा लिया।‘आप यहाँ कैसे?’‘यार आज घर पर कोई नहीं था तो पापा ने मुझे बोला था कि मैं सुबह-सुबह ऊपर जा कर देख आऊँ।’ उसने जवाब दिया।‘वो तो ठीक है.

तो मैं ये कर सकती हूँ।मम्मी ने उन्हें विश्वास दिलाया कि मैं बेटे से बात करूँगी और यह बात किसी को पता नहीं चलेगी।वैसे मैं बता दूँ कि मैं और मम्मी आपस में काफी खुले हुए हैं और मेरी मम्मी का तलाक हो चुका है.

तो महंगा लगता है। मेरा सारा ध्यान तो घर के माल पर ही था।मौसी ने उससे कहा- आज रात को यहीं रुक जाओ. एक औरत बात कर रही थी।उसने पूछा- क्या आप प्रेम बोल रहे हो?मैंने ‘हाँ’ कहा. मस्त होकर डिल्डो का इस्तेमाल करके शांत होने के बाद मैं बाहर निकली और जल्दी से बाथरूम और अंकल का बेडरूम लॉक किया। चाबी उनकी दराज में डाली और अपने कमरे में आकर बिस्तर पर लेट गई।मेरे मन में वह मंज़र हलचल मचाए हुए था, सेक्स की मेरी ख्वाहिश मुझे बेचैन करने लगी थी।मैं शाज़ी अंकल के बारे में सोचने लगी, इतना हैण्डसॅम मर्द.

जबकि वो मेरी गिरफ्त से निकलने के लिए मुसलसल कोशिश कर रहा था।कुछ देर बाद वो पुरसुकून होता गया क्योंकि मेरे हाथ की हरकत उसके लण्ड के जूस को उबाल दे रही थी और वो अपनी मंज़िल के क़रीब हो रहा था।जब मैंने देखा कि अब वो पुरसुकून हो गया है. तो मैंने बताया कि मैं मुठ नहीं मारता हूँ।ऐसे ही मैं रोज उसे चड्डी में देख कर तड़प कर रह जाता था।एक बार मैंने दिव्या से एक पोज में उसका टॉप भी खुलवा लिया. अब मैं वैसे ही जोर से दबाने और बारी-बारी से उसके निप्पलों को चूसने भी लगा.

तब तक तुम दोनों मूड बनाओ।सन्नी के जाने के बाद एनी ने अर्जुन से ‘हाय हैलो’ किया और उसके पास जाकर उससे हाथ मिलाने लगी.

सेक्सी बीएफ व्हिडीओ हिंदी मे: पर इस मजे के बीच में उसकी सहेलियां कहाँ से आईं ये आपको अगले हिस्से में लिखूँगा। मुझे अपने ईमेल जरूर कीजिएगा।कहानी जारी है।[emailprotected][emailprotected]. उस पर भी ड्रग्स का नशा चढ़ने लगा था। वो सन्नी से चिपक कर नाच रही थी और सन्नी भी उसके जिस्म को छू कर मज़ा ले रहा था।पुनीत तो अय्याश था ही.

वो हँसी और उसने अपना हाथ मेरे कंधे पर रखते हुए वो मेरे और करीब आ गई।मैं समझ गया कि वो काफ़ी ओपन माइंड की है और शायद मुझे पसन्द कर रही है।हम वहाँ कपल की तरह डान्स करने लगे। फिर हमने इधर-उधर की बातें की और उसने अपना नाम बताया. मुझे तो तुमसे सेक्स का पूरा मजा मिलता ही है। फिर अगर तुम्हें ऐसी प्यास है. दूसरे दिन मैंने 10 बजे उसे मेरे घर बुला लिया।वो नीली जीन्स और काला टॉप पहन क आई.

फिर तो हम दोनों रोज़ बात करते थे। क़रीब एक हफ़्ते के बाद उसने पूछा- एयरपोर्ट पर अन्दर क्या देख रहे थे?तो मैंने भी जवाब दिया- वो हैं ही इतने सुन्दर.

फिर तुम्हारी सिम कैसे हो गई?यह कहानी आप अन्तर्वासना डॉट कॉम पर पढ़ रहे हैं !यह सुनकर मुझे लगा कि लड़की चुदने वाली है. और साथ में ही मेरे से व्हाट्सप्प में भी लगी थी।सुरभि सोच में पड़ी थी कि आखिर ये किसके साथ चैट में लगी हुई है. वो ये बात कहते हुए मेरा हाथ दबा कर हँस पड़ी।मैंने उसको बोला- क्या तुम अभी कर सकती हो?मैंने सोचा कि वो मज़ाक कर रही है.