बीएफ मालिश वाला

छवि स्रोत,जंगल वाला बर्फ

तस्वीर का शीर्षक ,

सेक्सी दो: बीएफ मालिश वाला, फिर मैंने उनको नीचे किया और ऊपर से लंड पेल कर चुदाई की स्पीड तेज कर दी.

सनी लियोन बीपी बीएफ

उंगलियाँ अब सिर्फ़ पीठ पर ही नहीं बल्कि शेखर की कमर तक भी पहुँच गयी थी. दीपिका पादु की सेक्सीजैसे ही प्रिया ने ये किया तो सब लोग अचम्भे में आ गए कि ये कैसे हो गया.

मगर मैंने देख लिया था कि उसकी मम्मी जाग रही थीं और अपनी टांगों के बीच अपने हाथ से कुछ रगड़ रही थीं. बीपी ब्लू सेक्सी ओपनलेकिन जैसे ही हम बस से उतरे हल्की बारिश शुरू हो गई थी और मौसम बहुत ही दिलकश हो गया था.

अब तक आपने जाना था कि चलती बस में पल्लवी विराज के सीने से लग कर उससे अपना प्यार जता रही थी.बीएफ मालिश वाला: तुम्हें कोई भी बात करनी हो, सामान मंगाना हो तो मुझे नहीं, तुम यश को बोल देना.

जैसे ही चाची मुझे जगह देने के लिए ऊपर खिसकी तो वह सोए हुए मोंटू से टकरा गई और मोंटू रोने लगा.लेकिन मैंने उसकी एक न सुनी और मैक्सी को उसके बदन से अलग कर दिया।गोरा सफ़ेद उजला बदन देख मैंने किसी तरह खुद को काबू किया और उसे फर्श पर लिटा दिया।उसके बदन पर लाल ब्रा और नीली पैंटी बहुत सुंदर लग रही थी।मैंने उसकी पैंटी उतारी.

सेक्सी फिल्म चुदाई वाली बीएफ - बीएफ मालिश वाला

जब मैंने भाभी की पैंटी निकाली तो मैंने उनकी चुत पर हाथ फेर कर देखा.सबसे नीचे मैं बैठ गया मेरे ऊपर चंचल, जिसकी चुत में मेरा लंड घुस रहा था, उसके ऊपर रुचि और अंत में ऋतु.

तो नीरू बोलती है- क्या करूँ इस खिलौने का … मुझे ये कभी संतुष्ट तो कर नहीं सका. बीएफ मालिश वाला मैंने ताई के मुँह में ही लंड से चोदने की कोशिश की, लेकिन उन्हें सांस भी नहीं आ पा रही थी.

पोर्न भाभी हिन्दी कहानी में पढ़ें कि एक आलीशान अपार्टमेन्ट बिल्डिंग में मुझे जॉब मिला.

बीएफ मालिश वाला?

तभी ऋतु ने कहा- प्रकाश या,र इस तरह से सेक्स में थोड़ा मजा कम आ रहा है, कुछ नया ट्राई करें क्या?मैंने पूछा- क्या नया?उसने कहा- क्यों न थ्रीसम ट्राई करें!मैंने लंड चुत के अन्दर तक पेलते हुए कहा- मैं तो तैयार हूँ लेकिन तीसरी लड़की कहां है?ऋतु चुटकी लेते हुए बोली- अबे यार, मैं तो तीसरे की यानि किसी लड़के की बात कर रही थी. रात को 3 बार चुदाई करने के बाद हम दोनों एक ही रजाई में नंगे एक दूसरे से लिपट कर सो गए. फरियाल के उठे हुए चूचे पतली सी कमर … और गांड एकदम गोल देख कर मुझसे रहा नहीं जा रहा था.

उधर भाभी बोले जा रही थीं- रुक क्यों गया … झटक मारो … आह मेरी चुदाई को बहुत दिन हो गए. पूरे कमरे में भाभी की मादक सिसकारियां गूँज रही थीं- आह यह आ आह … ऊह आआआ उ!मैंने भाभी से मुँह से लंड निकाला तो वो बोलीं- दीपक, प्लीज अब देर न करो … मेरी चूत में अपने मोटे लंड को डाल दो. घर के मालिक पहले माले में रहते थे और उन्हें नीचे का हिस्सा किराये से देना था.

अब वह मेरी चूचियों को बारी-बारी से चूसते हुए अपने एक हाथ से मेरी बुर को सहलाने लगे. बात आगे कैसे बढ़ी?दोस्तो, मैं अनुज आपकी सेवा में पड़ोस में रहने वाली हॉट सेक्सी भाभी की कहानी लेकर हाजिर हूँ. आज तक कभी मैं मेरी चुदाई से संतुष्ट नहीं हो सकी थी और ना ही वो मुझे संतुष्ट कर पाते हैं.

मैं चिल्ला भी नहीं सकती थी … क्योंकि सब यही समझते कि चुदने के बाद नाटक कर रही है. मुझे अपनी चूत चुसवाना, चूचियां दबवाना, निप्पलों को दांतों से कटवाना और कठोरतम चुदाई करवाना बहुत पसंद है.

मेरे मन में ख्याल आने लगे कि अगर इसने अपनी माँ को बताया तो क्या होगा.

अगर मुझसे आपको मज़ा आया तो क्या हम दोनों फिर मिल सकते हैं?आंटी ने कहा- पहले मुझे खुश कर, ये तेरे पास एक ही मौका है.

अब आगे सेक्स विद बॉस इन ऑफिस:अब ऑफिस जाकर काम करने का मन तो कर नहीं रहा था क्योंकि मेरी चूत से हल्का हल्का पानी भी टपक रहा था, पेंटी गीली हो चुकी थी।मैं 1 ब्रा और पेंटी को हमेशा अपने बैग में रखती हूँ. तो सितारा भावुक हो गई तो मैंने उसे गले लगा लिया, उसके मस्तक पर चुम्बन किया, फिर गाल पर किया और उसके होंठों पर अपने होंठ रख दिये. मैं अपनी आंख बंद करके इस पल का मज़ा लेते हुए अपनी चुचियां दबा रही थी और हल्की सी अहह अहह की मादक आवाजें भरने लगी.

अगर आप कहेंगे, तो मैं इसके आगे की ऑफिस गर्ल पोर्न कहानी को भी पोस्ट करूंगा. मैं लड़कियों को चोदने में माहिर खिलाड़ी था, तो वो भी बिस्तर पर खेलने वाली बहुत बड़ी खिलाड़ी लग रही थीं. इसी तरह मैंने उससे धीरे धीरे चुदाई की हल्की फुल्की बात करना शुरू कर दीं.

फिर उसने कोमल की चादर हटा कर उसे पूरी नंगी कर दिया और हम दोनों कोमल पर टूट पड़े.

इसलिए तुझे बुलाया था ताकि तू मेरी कुछ हेल्प कर दे, लेकिन तू तो एक और को साथ ले आई. अगले दिन फिर मैं इसी तरह के कपड़े में गयी, तो उस दिन मैं उनके ही केबिन में ही जा बैठी और शाम तक उधर ही रही. जैसे ही अपनी जीभ उनके गीली चूत पर रखी, तभी भाभी ने एक लंबी आह भरी और मचल गईं.

उन्होंने मुझे अपने पैरों की तरफ कर 69 का आंकड़ा बनाते हुए मेरे मुँह में अपना लंड डाल दिया और चूसने के लिए बोला. जिसे मैंने तुरंत पहन लिया।रूपाली मेरे पास आयी- जाइये, नीतू आपका इन्तजार कर रही है. वो ऊपर ऊपर से मना कर रही थीं … लेकिन मेरे साथ साथ मज़ा भी ले रही थीं.

आंटी ने मुझे खींच कर अपने ऊपर 69 की स्थिति में लिटा लिया और बोलीं- मेरी चुत को चाटो.

एक मिनट किस करके उसे बिस्तर पर लिटा लिया और गर्दन चूमते हुये उसके होंठों पर उंगली फिराने लगा. फिर पांच मिनट के बाद सेक्स की हरकतों से जब लंड फिर फुंफकारने लगा, तो मैंने लंड उसकी बुर में उसे डाल देने का निर्णय किया.

बीएफ मालिश वाला अंदर से भाभी और उनके दोस्त कुणाल की बातों की आवाज आ रही थी।मैंने सोचा शायद नींद नहीं आ रही होगी भाभी को इसलिए इधर आई होंगी. अब मैं सिर्फ अंडरवियर में था और मेरा लंड उभार लिए हुआ था जिसे भाभी देख रही थीं.

बीएफ मालिश वाला उसने मेरे बुरके को ले लिया और पार्किंग में रखी बाइक की डिक्की में रख दिया. जिम से कसी हुई बॉडी, गोरा रंग और लंबा चौड़ा कद किसी भी औरत को पल भर में अपने वश में कर ले … वो ऐसा था.

भाबी- नहीं, रवि मेरे उनका लंड है तो इतना ही मोटा, लेकिन लंबाई इससे बहुत कम है … और महीनों में कुछ ही दिनों के लिए मिलता है.

सेक्सी जो

मैं फ्रेश होकर वैसे ही सिर्फ लोअर पहने भाबी के पास चला गया और सफाई कराने में भाबी की हेल्प करवाने लगा. आपकी ही अरुणिमा[emailprotected]कॉलेज गर्ल Xxx कहानी का अगला भाग:मुझे अपनी चुत गांड चुदवाने को लंड चाहिए- 3. पतली सी कमर के ठीक बीच में गहरी सी नाभि और सुराही की तरह घूमती हुई उसके नीचे मोटी सी गांड.

मानस ने भी सोनम की गांड पर हाथ रख दिए और खुद अपना मुँह उसकी जांघों में घुसा कर किसी भूखे कुत्ते की तरफ लप-लप करके उस रईस जवान रंडी मैडम की चुत पीने लगा. इशारों में ही उससे बात हुई और बात बाथरूम में चूत चुदाई तक पहुँच गयी. वो चुत का रस चाटता चला गया और उसने मेरी चुत चाट कर एकदम क्लीन कर दी.

मैंने कहा- अरे वाह भाभी … आजकल तो लड़कियां शादी के पहले ही सारे मजे लूट लेती हैं.

चपरासी की जीभ से चल रही चुत की मालिश की मस्ती में डूबी सोनम की अचानक लम्बी चीख निकल गयी क्योंकि मानस ने अपनी तीन उंगलियां उसकी खुली हुई भोसड़ी में घुसा दी थीं. मैं अपनी जीभ उनके मुँह में और वो अपनी जीभ मेरे मुँह में डालने लगीं. साथ ही साथ गाली भी देने लगा- आह तेरे जैसी रंडी हम जैसे डिलीवरी बॉय के लंड लिए ही होनी ही चाहिए.

मैंने आपकी कहानी पढ़ी तो एक एक करके आपकी सारी कहानियां पढ़ता चला गया और मेरे मन में भी वही सब कामना होने लगी. दोस्त की सेक्सी बहन को अपने जाल में फंसा कर कैसे चोदा? यह बदला था अपने दोस्त से जिसने उसकी बहन को उसके सामने ही चोद दिया था. चलो किसी ब्लूफिल्म में तीन की चुदाई देख कर बताऊंगी कि हम तीनों में खेल कैसे हो सकेगा.

मैंने अपना हाथ उसकी जांघों पर रख दिया और बोला कि आप अकेली हो और अंकल भी आपको टाइम नहीं दे पाते, तो कोई दोस्त बना लो. मैंने उसको उकसाने के लिए अपने मम्मे फुलाते हुए उससे पूछा- तुमको मुझमें क्या पसंद है?ये सुनते और मेरे फूले हुए मम्मे देख कर एकाएक उसने अपना सारा काम छोड़ दिया और मेरी चूचियों को ललचाई नजरों से देख कर बोलने लगा- आप तो पूरी ऊपर से नीचे तक कमाल हो.

दोनों एक दूसरे के होंठों को या फिर यूँ कहें कि एक दूसरे की जीभ को छोड़ना नहीं चाह रहे थे।चूसने और एक दूसरे की लार को एक दूसरे के मुंह में खींच कर पीने का सिलसिला जारी था. कुछ देर में उन्होंने मेरी तरफ ध्यान देना बंद कर दिया और सिर्फ मेरा मुँह चोदने लगे. वो मेरी चूचियों को देखता हुआ साथ वाले कमरे में रुबिका के पास चला गया.

मैं उस कल्पना से बाहर ही नहीं निकल पा रहा हूँ, बस एक बार उस रोमांच को अनुभव करना चाहता हूँ। क्या ये सम्भव है?धारा के सामने ये सब शेखर ने कह तो दिया था लेकिन अब उसका दिल ज़ोर-ज़ोर से धड़कने लगा था.

मैं बात संभालते हुए बोला- क्या नहीं सोचा था?उसने कहा- तुमको नहीं पता?मेरी गांड अब भी फट रही थी, फिर भी मैं सॉफ्ट आवाज़ में बोला- मुझे कैसे पता होगा?वो- ठीक है, तुम कल मेरे घर आना, हम घूमने चलेंगे. गगन ने अपनी बहन प्रियंका की चुत से लंड निकाल कर उसके गांड में पेला, तो इस बार दोनों को दर्द नहीं हुआ. मैं भाभी के आंसू पौंछते वक्त अपना हाथ उनके मम्मों पर टच कर रहा था मगर भाभी ने कुछ भी नहीं बोला.

पेशाब के साथ उसका सफेद माल भी बाहर आ रहा था।मैंने भी पेशाब कर के लंड को धो लिया।प्राची और मैंने नीचे कुछ नहीं पहन रखा था, हम दोनों ने वैसे ही खाना खाया।हम लोग आराम से खाना खाते हुए बात कर रहे थे. देवर जी मुझसे कहने लगे- भाभी अब तो मैं आपको बहुत प्यार करूंगा … बल्कि मैं रोहित को भी बुला लेता हूं.

7 फीट है। मेरा शरीर बिल्कुल फिट है। उसकी वजह ये है कि मैं प्रतिदिन एक्सरसाइज़ करता हूं। मेरे लण्ड का साइज़ करीब 7 इन्च लम्बा और करीब 2. उसने गगन को धक्का देती हुई उसे लेटने को मजबूर कर दिया और लपक कर गगन के खड़े लंड पर बैठ गई. क्या पहली बार सेक्स कर रहे हो?” दीदी की आवाज़ में कितनी मासूमियत थी.

केक कैसे बनाते हैं बताइए

इसी बात से मुझे लगता था कि भाभी मुझसे अपनी चुदाई करवाना चाहती थीं, हालांकि ये बात सिर्फ मैं सोचता था.

अब इन दोनों भाई बहन अभय और ममता में चुदाई की कहानी ने किस तरह से रंग लिया, वो सब मैं आपको अगले भाग में लिखूंगी. मैंने तभी उनका हाथ अपने लंड पर रख दिया तो वो भी पैंट के ऊपर से लंड दबाने लगीं. मैं बाथरूम के अन्दर आ गयी और उसका परदा मैंने थोड़ा खुला रखा, जिससे शहज़ाद मुझे नंगी नहाते हुए देख ले … और हुआ भी वैसे ही.

थोड़ी देर बाद मैं काफी गर्म हो गई और अब खुद ही चुदने के लिए बेताब हो उठी. जैसे ही मैं एकदम से तड़पने लगी तो मैं बोल उठी- मुझे चोदा जोर से!उसने एकाएक एक ही बार में अपना पूरा लंड मेरी चूत में घुसा दिया. बीएफ सेक्सी चुदाई नंगी”आप कुछ भी कीजिये, मुझे बच्चा चाहिए, मैं अपनी सास के ताने सुन सुन कर तंग आ चुकी हूँ.

प्रिया पूरी नंगी थी और अपनी कमर हिलाती हुई बोल रही थी- आह कुत्तों मेरी चुत देखो … चोदो मुझे … उस रंडी सुम्मी के दिन ढल गए और प्रियंका अभी तुमको मिलेगी नहीं. नेहा- आपने कुछ लिया या नहीं?मैं- जी आप तो थे नहीं तो कैसे लेता? अब आप आ गई हैं तो ले लूंगा.

प्रभा का स्वर एकदम से बदल गया और वो बोली- ठीक है चलो, लेकिन मेरी एक शर्त है. जब बुढ़िया सेक्स का भूत खत्म हुआ तो मैंने देखा खिड़की पर लकी खड़ा है. शेखर काफ़ी देर तक धारा की चूचियों को ब्लाउज़ के ऊपर से ही मसलता रहा.

अब आगे इंडियन देसी सेक्स गर्ल की कहानी:शालू- एक दिन घर के सभी लोग किसी शादी में चले गए थे. मेरी बात पर भाभी हंसने लगीं और बोलीं- आपको कौन सा दूध पीना है?मैंने उनकी आंखों में आंखें डालते हुए कहा- वही, जो बड़े होने के बाद पिया जाता है. चूँकि भाभी की हाइट थोड़ी कम थी, जिसके कारण उसका हर अंग छोटा था … उसकी छोटी चूत थी, चुत का छेद एकदम से सिकुड़ा हुआ था.

जब होश आया तो अंकल मेरे बाल खींचते हुए धक्के लगा रहे थे और बस अपनी मस्ती में मेरी गांड चोदे जा रहे थे.

थोड़ी देर घुसाने की कोशिश के बाद जब लंड अन्दर नहीं गया, तो मेरे कान के पास आकर बोले- तुम बहुत प्यारे हो मुझे माफ़ कर दो. उस चुदाई के बाद मेरी तो जैसे ज़िन्दगी ही बदल गयी थी, अब तो लगभग हर दिन मैं मामी की चूत चोदता और चूत का पक्का खिलाड़ी बन गया।उसके बाद मैंने मामी की बहन को भी चोदा वो मैं आपको अपनी अगली कहानी में बताऊंगा।दोस्तो, आपको मेरी मामी Xxx कहानी कैसी लगी?मुझे मेल करके जरूर बताएं। मुझे आपकी प्रतिक्रिया का इंतज़ार रहेगा।[emailprotected].

हो भी क्यों न … चाहे कितनी भी महिलाओं को चोद लिया हो एक नए जिस्म के लिए लार टपकना तो स्वाभाविक है. तूने शायद कभी ध्यान दिया हो, मेरी मम्मी को भी घर में ब्रा पैंटी से एलर्जी है. इसको मैं अपने साथ रखूंगा तो इसको जानकारी भी हो जाएगी और अगर ये आगे डॉक्टरी लाइन में कुछ करना चाहेगी, तो इसे आसानी होगी.

मैंने पहले कभी कोई सेक्स कहानी नहीं लिखी है, इसलिए मुझसे कोई ग़लती हो जाए तो माफ़ कर देना. समय निकलता जा रहा था लेकिन समझ में नहीं आ रहा था कि शुरू कैसे करूं क्योंकि वो भाभी मेरे तरफ देखती भी नहीं थी. मैं चाहती तो उसके लंड के साथ खेल कर उसे फिर से खड़ा कर देती लेकिन मैंने भी उसे थोड़ा समय दे दिया.

बीएफ मालिश वाला अपनी बात खत्म करके वो फिर से मेरे होंठ चूसते हुए नीचे की तरफ आने लगीं और मेरे गले को चूमते काटते हुए मेरे निप्पल पर जीभ घुमाने लगीं. ज्योति ने हंसते हुए कहा- हां तू जब चेंजिंग रूम में आई थी, तो चिराग मेरी चूत की क्लिट मसल ही रहा था.

शक्तिमान विडियो

मैंने अगले ही पल उनकी पैंटी की इलास्टिक में अपनी उंगलियां फंसा दीं और पैंटी को उनकी टांगों से निकाल दिया. तभी उन्होंने अपना एक हाथ मेरी शर्ट में घुसाया और मेरे बूब्स को दबाने लगे. फिर मैंने एक पॉइंट पकड़ा और कहा- भाभी बाकी सब्जियां तो इतनी कम … और खीरे इतने ज्यादा क्यों? आप तो अकेली ही हो!भाभी धीमे से बोलीं- हां अकेली हूँ … तभी तो!भाभी का जवाब सुनकर एक बार तो झटका सा लगा.

भाभी से रहा नहीं जा रहा था तो उन्होंने मेरा सर पकड़ कर अपनी चूत पर दबा दिया. मैंने उसे चूमते हुए कहा- मुझे सब मालूम है कि तुम दोनों को एक साथ कैसे चोदना है. कार्टून बीएफमैंने नेहा के दोनों हाथ फैला कर उन्हें कस लिया और अपने कड़क लन्ड को उसकी चूत पर रख कर कमर हिलाने लगा ताकि उसकी चूत पर लन्ड की रगड़ हो और वो मचले.

मैंने पूछा- क्यों?उसने कहा- मैंने अभी तक उनके बाद आपसे ही फ्रेंडशिप की है.

ऊपर से उसके नैन नक्श इतने कटीले थे कि अगर वो मुस्कुराकर किसी को देख ले तो वो वैसे ही मर जाये।मुझे पता चला कि वो कुछ बिज़नेस करती है इसलिए दिन के टाइम में नहीं आ सकती है।उसने रात को 8 बजे का टाइम माँगा. अब आग तो मेरी चुत में भी लगी हुई थी तो मैंने कहा- ठीक है, पर बस तू एक बार ही करेगा, उसके बाद नहीं … और ना ही तू इस बात को किसी को बताएगा.

मैंने कहा- फिर तुम्हारी ये शारदा का क्या होगा?वो बोली- ये भी अभी काम खत्म करके चली जाएगी. मम्मी ने उलाहना देते हुए कहा- ठीक ही हुआ … अब किसी पुराने सूट में ही जाना. पाटन आते ही मैंने फरियाल को कॉल किया- मैं पाटन आ गया हूँ, तुम अपने घर की जीपीएस लोकेशन भेज दो.

हालांकि मेरे लंड का साइज ज्यादा बड़ा नहीं है, लेकिन ये कम भी नहीं है.

मैंने पहले थोड़ी ना नुकुर की, फिर अंत में हां कह दी और पूछा कि मुझे एड्रेस भेज दो, मैं वहां आता हूँ. मुझे जोश चढ़ गया और मैंने अचानक से खड़े होकर आंटी को पीछे से पकड़ लिया. अब तो उसको खुद को ऐसे लग रहा था जैसे किसी ने उसके शरीर से सब कुछ खींच कर बाहर निकाल लिया है.

सेक्सी वीडियो बीपी वीडियो गुजरातीतब विशाल बोला- साले हमारे हाथ भी तो खोल!वह विशाल की तरफ जैसे ही मुड़ा, मैंने उसको रोक दिया. मैंने और समीर ने उसकी पैंटी कई बार देखी है … और पैंटी भी कौन सी, थोंग पैंटी.

वीडियो चोदने वाला वीडियो

फिर मैंने भाभी की ब्रा पैंटी भी निकाल दी और भाभी की चूत में उंगली डालने लगा. उम्मीद करती हूँ कि ये कहानी भी आप लोगों को पसंद आएगी।तो दोस्तो, चलते हैं आज की देसी हॉट गर्ल सेक्स कहानी में!यह कहानी सुनें. मैंने उसकी तरफ देखा तो वो बोली- अकेले बैठी बोर हो रही थी, आपसे बात करूंगी तो बोरियत नहीं होगी.

हाँ यह जरूर तय था कि नीतू और इसने मिलकर कोई कलाकारी सोची है।रूपाली ने हर्ष को मेरे पास से उठाया और अपनी गोद में ले लिया और मौसा जी से सोने का आग्रह किया।रूपाली ने मुझसे भी कहा कि मैं भी जा कर बगल वाले कमरे में सो जाऊं. उसने मेरी टांगों को फैला दिया और उनके बीच में बैठ कर मेरी चूत चाटने लगा. यह सब सुन कर मेरे अन्दर नया जोश भर गया और मैंने दुगने जोश से फ़लक की चुदाई और शरीर की धुनाई शुरू कर दी.

अब आगे चुदाई स्टोरी:विराज- कल का क्या प्रोग्राम है?समीर- मेरे हिसाब से कल हम यहां से चैक आऊट कर लेते हैं, पंचगनी से सीधे अपने घर निकल चलते हैं. मैंने उसको खाना और रहने की जगह दी और उसको अपने घर में काम के लिए रख लिया. फिर वो मेरे सीने से लग कर लेट गई और अपनी गर्म सांसें मेरी छाती पर छोड़ने लगी.

पर अब ज़्यादा दिक्कत ये है कि अब जब तक तुम्हारा लंड खड़ा नहीं होगा, तब तक फिर से तुम मुझसे मेरी जिंदगी से जुड़े सवाल करोगे. मैंने राज को नीचे लेटा दिया और उसका लंड पकड़कर अपने चूत में डाल लिया और उसके उपर झुककर उसे किस करने लगी.

उससे रहा नहीं जा रहा था तो मैंने भी लंड को सैट किया और एक धक्का दे मारा.

जब शर्मा जी की वाइफ हमसे पूछने आईं कि यदि आप लोग रात रुकें, तो आप लोगों के लिए बिस्तर लगवा दूँ. बीएफ सेक्स वीडियो ओपनग्लिसरीन की वजह से लंड तो बड़े आराम से गांड में चला गया था लेकिन अभी दर्द बहुत ज्यादा हो रहा था. रानी मुखर्जी की बीएफफिर वो वासना से बोली- यार, तुम मुझे पहले क्यों नहीं मिले, मैं कब से इस तरह के लंड से सेक्स करना चाह रही थी. उनकी मोटी मोटी गांड को देख ऐसा मन किया कि साली को अभी जाकर नंगी कर दूँ और अपना 7 इंच का लंड उनकी चूत में पेल दूँ.

चाची भाग कर मोंटू के पास गई और उसपर हाथ रखकर थोड़ी देर उसके पास बैठ गई.

चादर के अंदर जो जवान और वासना के प्यासे शरीर आपस में एक दूसरे के अंदर जाने को उतावले थे. हम दोनों नौका से से उस नदी के बीच बने रेतीले टापू पर आ गए, जहां आगे की तरफ कुछ लोग थे लेकिन और अन्दर जाने पर सन्नाटा था. यह सुन कर मैं कुछ देर चुप रहा, फिर उसे बताया- देखो शीना, तुम्हारे पापा तुम्हारी माँ को खुश नहीं रखते.

निखिल के लंड का साइज़ देख कर वो खुश हो गयी और आज वो समझी कि वासना की आग दोनों ओर बराबर लगी है. पिछले भागपरिवार में बेनाम से मधुर रिश्तेमें आप लोगों ने पढ़ा कि मैं, मेरा भाई शिवम, विवेक और लूसी एक दूसरे के साथ हुए सेक्स के बारे में जान चुके थे. वह बिस्तर पर बिना कपड़ों के पसरी थी; अपनी मस्त चूचियों को अपने ही हाथों मसल रही थी.

करवा चौथ में क्या-क्या सामान चाहिए

ऐसा अक्सर होता था शेखर के साथ … अपनी बीवी की भरपूर चुदाई के बाद भी वो अक्सर थोड़ी देर के लिए ही सही लेकिन सो जाता था।आज भी वैसा ही कुछ हुआ … आज तो शेखर को वो रोमांच मिला था जिसकी बस कल्पना ही करता रहता था वो!खैर थोड़ी देर बाद शेखर को होश आया तो उसे महसूस हुआ जैसे उसकी आँखों की पट्टी खुली हुई है और वो एक ख़ूबसूरत से कमरे में मद्धम सी लाल रोशनी में एक बिस्तर पर लेटा हुआ है. मीरा ने भी उसको उकसाने के लिए एक झीनी सी नाइटी पहनी थी जो उसकी जांघों से खुली थी. तो मैंने उसे पूछा- ऐसा करना तुमने कहाँ से सीखा?वो बोली- आप भी पूरे बुद्धू हो अंकल! आपकी और मम्मी की वीडियो में देखा था.

मैंने उसकी तरफ सवालिया नजरों से देखा तो वो बोली- सर आप लेटे रहो … मैं सफाई कर रही हूं.

तभी ‘उठो न …’ की आवाज ने मुझे नींद से लाकर वास्तविकता में पटक दिया.

शीना बोली- मम्मी के फ़ोन पर सिक्योरिटी कोड लगा होता है जो मुझे नहीं पता है, न मैं उनसे पूछ सकती हूं. मैंने उन्हें घोड़ी बनाया और बोला- गांड में डालूं क्या?वो तुरंत सीधी हो गईं और बोल पड़ीं- ना बाबा ना … तुम बड़े जालिम हो … उसमें नहीं पेलना … बड़ा दर्द करता है. इंग्लिश हॉट सेक्सी बीएफउस चपरासी का काला मूसल लौड़ा देख कर उसकी चुत ने अपना आपा खो दिया था.

मैं- अब क्या खाक मेरा ध्यान पढ़ाई में लगेगा?और यह कहते हुए निराश हो कर मैं बाहर जाने लगा. उसकी गर्म बातें सुनकर मेरे लंड में सनसनी भर गई और मैंने और भी तेज़ी से लंड गांड में अन्दर-बाहर करना शुरू कर दिया. मैं सोच रहा था कि अभी की अभी यहीं पर पकड़ कर भाभी को रगड़ दूं, बोबे दबा दूँ साली के … और गांड पर चमाट मार मार कर पूरी लाल लाल कर दूँ.

छी … वहाँ नहीं करना।”क्यों?”गंदा लगेगा मुझे … वहाँ से कोई करता है क्या?”कुछ गंदा नहीं लगता. अदिति लड़के की ओर मुँह करके अपनी चूत पर उंगली आगे पीछे करने लगी और बोली- इसका पोपट करें क्या?तन्वी हंसते हुए- रहने दे … साले को मुठ मारने की जगह भी नहीं मिलने वाली.

निखिल- मेरी जान अब मैं आ गया हूं, तुम किसी भी बात की चिंता मत करना.

उनकी चुत बहुत छोटी और कसी हुई थी, जिसमें मेरा विशालकाय लौड़ा घुस ही नहीं पा रहा था. जैसे ही मेरी गांड लंड लेने लायक हो जाएगी, मैं अपने भाई से ही अपनी गांड मरा लूंगी. अन्दर घने जंगल में पहुंच कर गाड़ी खड़ी कर दी और जंगल में अन्दर की तरफ चल दिया.

हरियाणा के हिंदी बीएफ अब डॉक्टर रोहित के लंड की लालसा में मेरी चुत मचलने लगी थी जिसे मैं अगली बार की सेक्स कहानी में विस्तार से लिखूंगी. प्रभा मुझसे दोस्ती की बात तो अलग, किसी भी तरह की बात भी नहीं करना चाह रही थी.

भाभी ने साड़ी पहन रखी थी और एक छोटा सा ब्लाउज, जिसमें वो बहुत सेक्सी लग रही थीं. एक दिन मैंने अचानक प्रभा के पास जाकर उससे कहा- क्या आप मुझसे दोस्ती करोगी?उसने तुरंत नहीं बोलते हुए कहा- नहीं, मैं लड़कों के साथ दोस्ती नहीं करती और करना भी नहीं चाहती हूं. मैंने चुदाई और तेज करते हुए कहा- फिर अब क्यों रहम की भीख मांग रही हो?उसने कहा- यार पहले तो तुम्हारा लंड बड़ा और मोटा है, दूसरा तुम्हारी स्टेमिना बहुत ज्यादा है.

पीजी सट्टा मटका

उन्होंने मुझे वहीं सोफे पर झुका दिया और बोले- भाभी गांड पर लगाने के लिए कुछ क्रीम दो. ” के बाद उन्होंने बताया कि मनोज तेरे जीजा को शादी से पहले से डाइबिटीज़ है और उनकी किडनी भी खराब हो चुकी है. अब तमन्ना की आंखें खुली और उनींदी सी बोली- क्या कर रहे हो?मैं- मुझे सेक्स करना है!तमन्ना- रात में कर लेना; मुझे नींद आ रही है.

उस बीच भाभी ने मेरे होंठों पर अपने होंठों को जमा दिया और वो मुझे ज़ोर ज़ोर से किस करने लगीं. मैंने उसकी सलवार और पैंटी एक साथ नीचे कर दी और उसे दीवार के सहारे खड़ा कर दिया.

वह हंसने लगी और बोलने लगी- क्या मजाक कर रहे हो यार … मैं कोई खूबसूरत नहीं हूं.

साले अमित ने ना जाने कौन सी पॉवर मिला दी थी कि मैं कोमल को चोद चोद कर थक गया था पर कोमल तो और गर्म हुई जा रही थी. अब डॉक्टर रोहित के लंड की लालसा में मेरी चुत मचलने लगी थी जिसे मैं अगली बार की सेक्स कहानी में विस्तार से लिखूंगी. आपका प्रकाश[emailprotected]X गर्लफ्रेंड सेक्स स्टोरी का अगला भाग:दो गर्लफ्रेंडज़ के साथ उनकी सहेली भी चुदी- 2.

सोनू मुझसे छुड़ाने की कोशिश कर रही थी लेकिन मैं उसकी चूत को धमाधम पेलने में लगा हुआ था. मेरी इस बात से वो एकदम से खुश सी हुई … लेकिन फिर शांत होते हुए बोली- ठीक है अम्मी, आप जाओ. अब तो उसको खुद को ऐसे लग रहा था जैसे किसी ने उसके शरीर से सब कुछ खींच कर बाहर निकाल लिया है.

हॉट फॅमिली सेक्स कहानी में पढ़ें कि मौसाजी के आने बाद भी मौसी ने अपनी जेठानी के साथ मेरी चुदाई का सेटिंग कर दी.

बीएफ मालिश वाला: लॉकडाउन के समय बीवी मायके गयी हुई थी और मैं घर पर पड़े पड़े बोर होता रहता था।मैं और मेरी बीवी हम दोनों ही यहाँ पर फ्लैट में रहते हैं. मेरे लंड को भाभी पैंट के ऊपर से पकड़ने की कोशिश कर रही थीं- अपना लौड़ा निकाल भोसड़ी के मादरचोद … इससे क्या अपनी बहन को चोदेगा … बाहर निकाल इसे!मैंने एक थप्पड़ खींच कर भाभी के बोबों पर मारा- मादरचोद रंडी … इतनी जल्दी क्या है लौड़ा लेने की.

उस सुनसान ऑफिस में सोनम जैसी चुदक्कड़ औरत उन सांसों को झट से पहचान गई थी. उसकी गांड में लंड ने पिचकारी छोड़ दी और गांड से वीर्य बाहर निकलने लगा. क्योंकि वे मेरे कपड़ों के ऊपर से ही दबा रहे थे इससे मेरे कपड़ों पर सिलवटें पड़ सकती थी तो मैंने उनको रोक दिया.

अब उसने अपना हाथ आगे करते हुए मेरा पल्लू गिरा दिया और अपने दोनों हाथों को मेरे दोनों मम्मों पर रख कर मेरे दूध सहलाने लगा.

इतने में ‘घपप्प उऊऊ हहहह …’ की आवाज के साथ मेरा लौड़ा भाभी के मुँह में घुस गया था. इसलिए वो जानती थी कि जब दो दो लंड चुत और गांड में एक साथ घुसते हैं, तो जन्नत का मज़ा आता है. ओह्ह … चोद दो … अब सहन नहीं हो रहा है … आह्ह प्लीज मुझे चोद दो जेठ जी!उन्होंने मेरी टांगें फैलाईं और जाँघों पर चांटे मारने लगे। चांटे मार मार कर उन्होंने मेरी गोरी जांघों को लाल कर दिया और चूत को चूमने चाटने लगे।अब वो मेरी चूत को जैसे खाने को हो रहे थे.