जंगल का बीएफ सेक्सी

छवि स्रोत,चलती ट्रेन में सेक्सी बीएफ

तस्वीर का शीर्षक ,

सेक्सी व्हिडिओ इंडिया: जंगल का बीएफ सेक्सी, अब वे दोनों हाथों से मेरी चूत और गांड में उंगली अंदर बहार कर रहे थे.

अंग्रेज लोगों की बीएफ

https://thumb-v0.xhcdn.com/a/V37aFundt4mlQmiva8oCPw/009/452/490/526x298.t.webm. वीडियो बीएफ देखना[emailprotected]कुकोल्ड सेक्स हॉट कहानी का अगला भाग:अतृप्त भतीजी और उसकी मौसी सास की चुदाई- 4.

मैं रुक गया, तो भाभी बोलीं- तुम तो डाल दो पूरा अन्दर … मेरी तरफ मत देखना … मुझे कितना भी दर्द हो. बीएफ हिंदी कहानियांअब वो सिर्फ पैंटी में थी।काम रस के कारण उसकी पैंटी गीली हो गयी थी।मैंने उसकी पैंटी के ऊपर से ही उसकी चूत को चाटना शुरू कर दिया.

अब मैंने भाईजान के बॉक्सर के अंदर हाथ डाल लिया और उनके लंड को सहलाने लगी.जंगल का बीएफ सेक्सी: फिर मैडम मुझे किस करती हुई नीचे बैठ गईं और मेरे लंड पर किस करती हुई बोलीं- अब मेरे मुँह में जाने की इसकी बारी है … लेकिन अभी नहीं.

जाने से पहले एक बार फिर से मौका लगाकर आँटी मेरा लौड़ा अपनी चूत में ले गई.पर आज सिर्फ़ किस करने से मुझे ऐसा आनन्द मिल रहा था, जिसकी मैंने कभी कल्पना भी नहीं की थी.

करीना कपूर के सेक्सी बीएफ वीडियो - जंगल का बीएफ सेक्सी

वो बिना बोले मेरा लंड पकड़ने लगी, तो मैंने उसे 69 की पोज में आने को कहा.मैं परिवार की इज्जत को रो रही थी … इसलिए खून का घूंट पीकर सहन करती आ रही हूँ.

उसके बाद भाईजान ने सारी जायदाद को बेच दिया और मुझे लेकर भोपाल आ गये. जंगल का बीएफ सेक्सी देसी गर्म चुत सेक्स स्टोरी में पढ़ें कि मम्मी पापा की चुदाई देख देख कर मेरे बदन में वासना भड़क उठी थी.

मैंने इतने बड़े बड़े चुचे पहली बार देखे थे … तो मुझसे रहा ही नहीं जा रहा था.

जंगल का बीएफ सेक्सी?

सनी ने किस तरह अपने लंड पर कामशक्ति बढ़ाने वाला तेल लगाकर मेरी चुत, गांड और चूचियों की बैंड बजाकर रख दी थी. मैं नीचे गया तो भाभी बोली- अच्छी नींद ली है तुमने! करीब 5 बजे मैं तुम्हारे कमरे में गई थी तो तुम सो रहे थे. मैं बेड पर बैठ गया गीतिका को अपनी टांगों के बीच में पीठ घुमा कर खड़ा करके उसकी मादक पीठ पर हाथ फिराने लगा.

बाहर ले जाकर मैंने कमल से खुल कर बोला- देख कमल, तुझे पैसों की जरूरत है … और मुझे नई नई चुतों की. फुल बॉडी की मसाज करवाने के बाद मेरी चुत में चुनचुनी होने लगी थी, तो मैंने उससे अपनी चुत की झांटें साफ़ करवा लीं और चुत में फिंगर करवा ली. उनके कान के पास, उनकी गर्दन पर और उसके बाद नाइटी के ऊपर से ही उनके बूब्स के बीच में सर घिसकर मजा लेने लगा.

अनु ने मेरी ओर देख कर मुँह बनाया, तो मैंने उसे कुतिया बन जाने का इशारा कर दिया. अंडरवीयर पहनने से मेरा लण्ड मुड़ जाता है और ज्यादा दिखाई नहीं देता लेकिन न पहनने से लण्ड पट की ओर सीधा हो कर अपना साइज ठीक रखता है. अब मैं ऊपर से झटके लगाने लगा और नीचे से संजय नेहा की गांड में झटके लगा रहा था.

अब मुझसे उनके धक्के बर्दाश्त नहीं हो रहे थे क्योंकि मजा सिर्फ तभी आता है जब आग दोनों तरफ लगी हो. उधर से वो लेडी बोली- यार तो इसमें पूछने की क्या बात है? उसको लेकर फार्म हाउस पर आ जा.

नेहा के होंठों को सामने से गीत की चूत चोद रहे संजय ने अपने होंठों में ले लिया था.

तभी दीदी आह करते हुए बोलीं- इतनी जल्दी तो तेरे पति को गांड नहीं मारने दूंगी.

मैंने उसको डॉगी स्टाइल में खड़ा किया और पीछे से उसकी चूत पर अपना खड़ा लंड टिका दिया. इसी बीच उसकी ब्रा जमीन पर गिरी, मैंने झट से उसको भी उठाया और सूंघने लगा. नीरा की चूत में जीभ डालते ही उसने सिसकारियाँ लेनी शुरू कर दी- ओह्ह अमन!शर्मीली नीरा जो शर्माती ज्यादा थी, आज नशे में बोल्ड हो रही थी.

मैंने भाभी को फिर घसीटा और अबकी बार उनकी टांगों को अपने कंधों पर रख कर उनके कंधे पकड़ लिए और भाभी को इतना कस कर चोदा कि भाभी बस … बस … करने लगी. रोहन एक नारंगी रंग काले बॉर्डर की साड़ी निकाली, साथ ही मैच करता हुआ ब्लाउज और पेटीकोट भी निकाल लिया. आपकी प्यारी मधुनॉन वेज कहानी का अगला भाग:लंड बदलकर चुत चुदाई का मजा- 2.

मैंने गीतिका से पूछा- गीतिका, सच सच बताना अभी तक एक रात में कितनी बार चुदी हो?गीतिका कहने लगी- राज, मैं सच बता रही हूँ, मेरे हस्बैंड ने कभी भी एक बार से ज्यादा नहीं किया और जब भी वह चुदाई करते थे तो एक दो मिनट से ज्यादा टाइम नहीं लगाते थे और झड़ जाते थे, यह तो पहली बार ही मैं देख रही हूँ कि कोई आदमी इस तरह से भी चोद सकता है, सच में मेरे लिए यह बहुत ही मजेदार एक्सपीरियंस है.

मुझे लंड पेलते ही समझ आ गया था कि सच में उनकी चूत बहुत ज्यादा टाइट थी. परंतु आप सब तो जानते हो कि सेक्स की आग एक ऐसी आग है, जो बुझाए नहीं बुझती, उल्टा और बढ़ती ही चली जाती है. कभी उसका ऊपर वाला होंठ अपने होंठों में ले कर चूसता, तो कभी नीचे वाला.

मैंने पूछा- कल तो आपने मना कर दिया था कि रेज़र नहीं है?तब अनु बोले कि हां इसी लिए तो अभी मार्केट से लाया हूँ. अब आगे होमोसेक्सुअल स्टोरी:कविता लगातार एक ही लय में प्रीति की चूत में धक्के मारे जा रही थी और प्रीति भी उसी लय में कराहती हुई धक्कों का मजा ले रही थी. विजय भी बाथरूम में जाकर अपना मुंह धो कर मेरे पीछे पीछे रसोई में आ चुका था.

नेहा के होंठों को संजय ने अपने होंठों में ले लिया और मैंने नेहा के मम्मे को पकड़ लिया और सहलाने लगा.

मैंने भी उनकी चूची मसल कर कहा- बताओ न भाभी … आपकी नजर में तीसरी कौन है?भाभी हंसकर बोलीं- देवर जी इतने बेचैन न हो. और मुझसे कहने लगी- बेटा राज, कर दो यह जो भी करवाना चाहे?मैंने कहा- ठीक है आंटी मैं कर दूंगा आप चिंता मत करो.

जंगल का बीएफ सेक्सी ”सानिया ने आश्चर्य से मेरी ओर देखा। शायद उसे प्रीति और उसके बॉय फ्रेंड की तारीफ़ अच्छी नहीं लगी थी। नारी सुलभ ईर्ष्या के कारण ऐसा होना लाजमी था।मैंने बोला तो है घर का काम करने के बाद आपको दिखा दूंगी. मैं दीदी की गांड सहलाये जा रहा था और मेरी वासना भी साथ साथ और ज्यादा बढ़ती जा रही थी.

जंगल का बीएफ सेक्सी रवि- बता क्या पीयेगी?रिया- वही कल वाला।रवि- क्या? लंड का जूस?हंसते हुए रिया बोली- वो तो मैं पीऊंगी ही, मगर उसके अलावा एक बीयर ही पिला दो. कुछ देर मुझे अपनी गर्म गर्म जीभ चुसाने के बाद शायरा अपनी जीभ के साथ साथ मेरी जीभ को भी अपने मुँह में ले गयी और उसे जोरों से चूसने लगी.

साथ ही वह अपनी जांघों को रोहन की साइड में रगड़ रही थी और अपने एक हाथ से अपने एक मम्मे को मसलने लगी.

सेक्सी नाबालिक लड़कियों की

आपकी शिकायतों और सुझावों का मैं बेसब्री से इन्तजार करूँगा।[emailprotected]. सेशन क्लोज करने से पहले कुछ देर तक मैंने मेघा के साथ और भी फ्लर्ट किया. उसकी कामुक सिसकारियां और आहें मेरी वासना को और ज्यादा भड़का रही थीं.

कुछ ही देर बाद बियर के गिलास रखे गए और हम तीनों के गिलासों में बियर डाली गई और दो गिलासों में कोल्डड्रिंक डाली गई. मेरा तो खड़े होते ही पेशाब रुक गया, पर अब तो मैं उसकी दासी बन गयी थी क्योंकि उसने मुझे इतना सैट कर दिया था. पर कब तक छिपाती!उसने मेरे दोनों हाथों को पकड़ कर हटा दिया और चूत देखने लगा.

बड़ी औरत की समझदारी इसी में है कि वह इस बात का ध्यान रखें कि उसकी लड़कियों को वक्त पर सही लण्ड मिल जाए, उनकी चूत की प्यास सही तरीके से बुझ जाए ताकि वह कहीं बाहर खराब ना हो.

बाहर आकर गेट पर जाकर देखा, तो मेरी सांसें धक्क से रह गईं … पैरों के नीचे से धरती सरक गई. हैलो फ्रेंड्स, मैं यतीन्द्र एक बार फिर आपको सलोनी भाभी की चुदाई की कहानी के तीसरे भाग को लेकर हाजिर हूँ. मगर मैं गर्मा गया और मैंने बर्तन रखने की कोशिश की तो मौसी गिरने लगीं.

बस बीच बीच में वो मुझे रोकने के लिए कभी कभी आंखें खोलती … पर मेरे प्यार की सेंक से वो वापस प्यार के उसी समंदर में डूब जाती. इस पर मेरा दिमाग बिगड़ गया, मैंने चिल्लाते हुए कहा- मादरचोदी, धंधे पर आकर भी भाव खाती है … चल जल्दी कपड़े खोल कर पास आजा, नहीं तो गांड में झाड़ू घुसा कर भगा दूंगा. एक दिन उन्होंने मुझे उनके बूब्स को घूरते हुए देख लिया और वो मुझसे पूछने लगीं- क्या देख रहे हो?मैंने कुछ जवाब नहीं दिया.

अब पूजा चिल्लाने लगी थी- आह बस करो … अब मुझसे सहा नहीं जाता, प्लीज़ मुझे चोद दो. मैंने भी बिना शरमाये हाथ बढ़ा कर उनका लंड थाम लिया और सहलाने लगी।कुछ देर बाद उन्होंने मेरे दोनों हाथ ऊपर करते हुए मेरे अंडरआर्म में अपना मुँह लगाया और जीभ से चाटने लगे।बाद में उन्होंने कहा- मुझे तुम्हारे गोरे और चिकने अंडरआर्म बहुत पसंद आये.

काफी देर से लंड तना हुआ ही था और इस बीच मैं अपनी आंटी की गांड को सहला कर भी आ गया था. आँटी अपनी बात बीच में काटकर मुझसे बोली- राज! उस वक्त और बाकी उम्र मुझे लगाता रहा था कि लण्ड का साइज इतना ही होता होगा, परंतु पैंट में उभरा तुम्हारा लण्ड देखकर तो लगता है यह तो आधा किलो वजनी खीरे के करीब है।खैर, भाभी ने वह खीरा मुझे दिया और कहा- रानी, इसे पहले तुम मेरी चूत में डालो, फिर ऊपर चढ़ो. अब आगे की इंडियन हॉट सेक्स कहानी:आगे कमल अपना लंड चुसवा रहा था, तो इधर पीछे से मैंने अनु की गांड पर थूक लगा दिया था.

वो खुद ही अपनी चूत में लन्ड रख कर उसे अंदर डालने के लिये मेरी कमर को अपनी तरफ खींचने की कोशिश करने लगी.

दवाई लेकर मैं वहाँ से बाहर निकली तो वो बूढ़ा भी मेरे साथ ही बाहर आ गया और मुझसे बात करने लगा. बस ये नंबर मेरे मोबाइल में था … किसका है … क्यों है … मैं खुद नहीं जानती हूँ, बस बात करना चाहती थी. जब मुझसे बर्दाश्त न हुआ तो मैंने उनके हाथ पर हाथ रख दिया और उनके हाथ को अपने लंड पर दबाने लगा.

उसने थोड़ा उठ कर मुझे चूमा और मेरी योनि पर हाथ फ़ेरती हुई बोली- अभी तो तुमने मजा लिया ही कहां है. ये सुनकर वे दोनों मुझसे थोड़ी दूर होकर सामने सोफ़े पर जा कर बैठ गईं और मुझे पास आने का इशारा करने लगीं.

फिर एक रात जब मैं रश्मि की आगोश में था, तभी मेरी जानेमन का फोन आ गया. अब मैं अपने लंड को हाथ में लेकर सहलाने और मुट्ठ मारने के लिए मजबूर हो गया था कि जो कि मैं कभी नहीं किया करता था. तो उसने सिसकारी भरी और सांसें तेज़ हुई उसकी।मैंने धीरे धीरे उसको चोदना चालू शुरू किया और थोड़ी देर तक आराम आराम से उसकी आँखों में देख कर ही चोदा।उसका चेहरा मेरे सामने था.

लड़कियों का ओपन सेक्सी वीडियो

तो उस अस्पताल में नर्स तो थी पर आपरेशन करने के लिए वही डाक्टर था जो सर्जन स्पेसलिस्ट था.

मैं कुछ नहीं बोली।तभी खाना आ गया और हमने खाना खाया और वापस वही खिड़की के पास आ गए।अचानक से मयंक ने मुझे पीछे से पकड़ लिया और बोला- इतनी खूबसूरत जगह में इतनी खूबसूरत लड़की के साथ सैर करवाई. ऐसी ही बात निकली, तो मैंने पूछ लिया कि तुम ऐसे ही अकेली बोर नहीं होती हैं. वो मेरी गर्दन पर किस करने लगा और अपना लौड़ा मेरी गांड में फंसाने लगा.

इतने में सनी मेरे सामने आ गया और मेरे सर को पकड़ कर मेरे होंठों को चूसने लगा. घंटे भर खोजने के बाद जब मैं थक गया तो मैंने फिर से पोर्न साइट का रुख करना ही बेहतर समझा. देसी हिंदी फिल्म बीएफउसके पापा आनन्द बालानी स्टेट बैंक में थे और माँ रेखा सेन्ट्रल स्कूल में टीचर थी.

तो दोस्तो, आपको मेरी यह हिंदी कामवासना स्टोरी कैसी लगी, मुझे ज़रूर बताना!मेरी मेल आइडी है[emailprotected]. भाभी को मैंने डॉगी स्टाइल में आने को कहा, तो भाभी एक पल की भी देर न करते हुए झट से कुतिया बन गईं.

मगर मेरे मन में एक उम्मीद जरूर थी कि भाभी हमारी दुकान पर दोबारा वापस जरूर आयेगी. इन तीन दिनों में विजय ने मेरी गांड मार मार कर मेरी गांड के छेद को पूरा खोल दिया. उसमें मैंने आप सब पाठकों द्वारा पूछे जाने वाले ज़्यादातर प्रश्नों के उत्तर दिए हैं.

मैं खुश भी बहुत थी क्योंकि बहुत दिनों बाद आज मैं पब्लिक सेक्स का मजा लेने वाली थी. जैसे पंछी पिंजरे से बाहर आने को फड़फड़ाता है … वैसे ही ब्रा में कैद शायरा के दोनों उभार भी ब्लाउज और ब्रा की कैद से निकल कर अपनी आज़ादी का पूरा मज़ा लेना चाहते थे. उसकी आंखों पर चश्मा, मुँह पिचका हुआ, लगभग 5 फुट 5 इंच का होगा जो उस लेडी के साथ चलता हुआ भी अजीब लग रहा था.

भाभी- तुमने सही किया संजय … जिस दिन तुमने मुझे गर्लफ्रेंड बनने के लिए ऑफर किया था, तो मैं डर गयी थी.

तो देख रही थी कि किसका नंबर है?मैं- हम्म अच्छा … तो देख लिया!वो- अभी कहां!मैं- तो देखो कैसे देखना है?वो- तो दिखाओ. घर आकर हम दोनों ने अब साथ में ही चाय पी, जो कि शायरा ने मुझे पिलाई.

वो झट से उठी और मेरे लंड को पैंट में से आजाद करके अपने मुलायम हाथों से सहलाने में लग गई. मैंने बोला- अरे तुम्हारे पति को पता लगेगा तो!वो बोली- कैसे लगेगा … मैं उसके साथ कल ही सब कर लूंगी, तो उसे कैसे पता लगेगा. मैडम ने मुझसे पूछा- आप कहां हैं?मैंने बताया- मैं स्टेशन से बाहर आ रहा हूं.

चाय का कप साइड में टेबल पर रख कर उसने मुझे मेरे होंठों पर किस करके मुझे जगाया. मुझसे जितना हुआ जा रहा था मैं उनसे और ज्यादा चिपकना चाहती थी जैसे मैं उन्हें अपने अंदर ही समा लेना चाहती थी. मैंने आँटी से कहा- आँटी, अँधेरे में मुझे आपका सेक्सी शरीर दिखाई नहीं दे रहा है, लाइट जला लें?आँटी कहने लगी- जलाओ, मैंने भी तुम्हारे लण्ड को देखना है.

जंगल का बीएफ सेक्सी मगर बिना लंड चुत के ये सब कितनी देर तक मजा देता!अब मुझे रश्मि की चूत को चोदना ही था. निशी खुले विचारों वाली लड़की थी, पर थी बहुत समझदार … और मुझे हमेशा सही सलाह देती थी.

सेक्सी पिक्चर हिंदी वीडियो दिखाएं

सुमित- अरे नहीं यार, ऐसा जुल्म मत करो … नहीं तो तेरा ये यार अपना लंड अपनी गांड के अन्दर ले लेगा. भाभी मेरी जीभ को अपने रसीले होंठों में लेकर आईसक्रीम की तरह चूसने लगीं. भाभी के एक पाँव को मैंने अपने पांव पर चढ़ा लिया और बीच में रुक रुक कर लण्ड को अंदर चलाता रहा और डालकर सो गया.

किस करता हुआ मैं उसके पेट पर चूमने लगा, उसकी नाभि में जीभ डाल कर घुमाने लगा. जब सबके बाद वो शाही सर के पास पहुंची, तो शाही सर ने उसे अपने बदन से चिपका लिया और बोले- मैं तुम्हें एक ऑफर देता हूँ. बीएफ सेक्सी चुदाई चुदाई चुदाई चुदाईमैंने बड़ी चाची से पूछा- आपने ये सब कहां से सीखा?वे बोलीं- मेरी एक सहेली है, उसने ही ये सब बताया है.

होटल पहुंचने के बाद ज़ीनिया ने कहा- आइए चलिए, थोड़ी देर कमरे में बैठते हैं.

फिर मैं बोली- जीजू आप अपनी आदत से बाज नहीं आओगे ना … दीदी गयी नहीं और आप शुरू हो गए. मैंने बात शुरू करने के इरादे से पूछा- भाभी और बताओ कि कपिल आपका क्या क्या ध्यान नहीं रखता.

एक रात को मैं इंटरनेट पर अपनी अतृप्त वासना को शांत करने के तरीके खोज रहा था. अनु ने कमल से बोला- अब कुछ करेंगे नहीं … मैं बस थोड़ी देर फूफाजी के संग सोना चाहती हूँ. मेरी बीवी और साली का कमरा अलग-अलग था, पर अन्दर से एक-दूसरे के कमरे में जाने के लिए एक दरवाजा भी लगा था और रोशनदान का तो आप जानते ही हैं.

पायल ने कहा- ये मेरी बैचमेट है, मेरी सबसे अच्छी सहेली और राजदार है.

पिछले भागमेरा प्रथम समलैंगिक सेक्स- 3में अब तक आपने पढ़ा था कि कविता ने मुझे अपने जाल में फांस कर मेरे साथ लेस्बियन सेक्स करना शुरू कर दिया था. उनकी एक औलाद होने के बाद भी चूचियों की कसावट पर कोई असर नहीं पड़ा था. मैं चाहता था कि कोई महिला मेरे साथ कामुक गंदी बातें करे ताकि मैं पूर्ण रूप से उत्तेजित होकर भाभी के बारे में सोचकर लंड हिला सकूं.

w.com सेक्सी वीडियो बीएफएक बार जब मैं उस दोस्त के घर गया तो …हाय फ्रेंड्स, अन्तर्वासना पर मैंने बहुत सी कहानियां पढ़ी हैं. उसकी सफेद ब्रा और पैंटी उसकी नाइटी में से हल्की हल्की दिखाई पड़ रही थी.

पंजाबी चोरी की सेक्सी

वो मेरे दूध दबा कर बोला- आह … क्या बात है!फिर वो मेरे क्लीवेज को चूम कर पीछे हट कर खड़ा हो गया. पहले मेरी चूत की प्यास बुझाओ!फिर उन्होंने अपना लंड मेरी गांड में से निकाल कर सीधे मेरी चूत में घुसा दिया और जोर जोर से धक्के देने लगे. इतने में जीजू ने कसकर दूसरा धक्का लगा दिया जिससे उनका पूरा लिंग अन्दर चला गया.

मेरे मुंह में दर्द होने लगा था तो मैंने उनके लंड को मेरे मुंह से बाहर निकाल दिया. धीरे धीरे अन्दर बाहर होने की जगह तेज़ी से चुदाई की रफ्तार बढ़ा दी गई. खाना खाते वक्त मेरे अब्बू, दोनों चाचा से कहीं जाने की बात कर रहे थे.

उनके कहने पर मैं अपनी चड्डी पहनने लगी मगर उन्होंने कहा- ऐसे ही चलो … क्या परेशानी है?मैंने सबसे पहले पीछे तरफ की सभी लाइट बंद कर दी और आगे आगे चल पड़ी. डाक्टर बोला- कि उस दर्द को बाद में देख लेंगे।फिर डाक्टर ने मेरे स्तन छोड़ दिये और मुझे स्ट्रेचर पर लेटने के लिए कहा. एकता कुछ ज्यादा ही आवाज निकाल रही थी तो अन्नू बोली- क्या बात है यार, ऐसा लग रहा है जैसे पहली बार चुदवा रही है.

मैं- अम्म् हां … वैसे आपके घर में और कोई नहीं है?वो- नहीं, बस सास ससुर थे मगर वो शादी से पहले ही चल बसे थे. मेरी योनि पहले से ही बहुत गीली हो चुकी थी और उस चुम्बन के साथ लगा कि मैं तेज पिचकारी मार कर झड़ जाऊंगी.

अनीता अपने कमरे में चली गयी और मैं बेड पर वापिस इस तरह सो रहा था, जैसे अभी नींद में हूँ.

मैं मर जाऊँगी अगर आपने मुझे बिना कपड़ों के देखा तो!” साली जी फिर से घबराते हुए बोली. रिकॉर्डिंग बीएफ सेक्सीमुझे पता था कि अभी एक दो बार नर्स सासू माँ का ड्रिप बदलने और दवाई देने के लिए आएगी. बीएफ बीपी सेक्सी व्हिडिओदीदी गुस्सा होकर बोली- दवाई नहीं लोगी तो दाने कैसे ठीक होंगे?मैंने कहा- दीदी अपने आप ठीक हो जायेंगे।दवाई का नाम सुनकर जीजू बोले- क्या हो गया? किस चीज की दवाई लेने जा रही हो. उसकी चुत से पानी का झरना फूट पड़ा, जो मेरे गले को तर करने में लगा हुआ था.

मैंने भी उनके बदन से उनकी टीशर्ट और लोअर को उतारकर उन्हें नंगा कर दिया.

आदमी ने मुझसे पूछा- इसका किराया कितना है?मैंने कहा- 10000 रुपये महीना. अब हम तीनों के शरीर पर केवल लंड चुत को ढंकने वाले अंडरगारमेंट्स ही रह गए थे. उन्होंने बोला- कोई बात नहीं … गर्मी का मौसम है … फिर से नहा लेते हैं.

मेरी चुत की मालिश करते हुए वो बोला- मालकिन, अगर आप बुरा ना मानो तो मेरे पास आपकी इस ज्वालामुखी की मालिश करने का एक और तरीका है. मगर संजय नहीं रुका और उसकी गांड में झटका लगाते हुए बोला- ये हमारी गांडू रांड है. मैंने आंटी से पूछा- कैसी हरकतें?आंटी ने बताया- एक रोज, रात को करीब 11:00 बजे के आसपास इसके कमरे से कुछ अजीब अजीब सी आवाजें आ रही थीं.

हिंदी सेक्सी वीडियो मां बेटा की

मैंने जल्दी से बरमूदे को ठीक करने की कोशिश की, लेकिन लौड़ा कहां मानने वाला था. इसलिए भाभी लेटे लेटे ही अपनी गांड उछाल रही थीं और जोर जोर से कामुक सिसकारियां ले रही थीं. आंटी कहने लगी- राज, तुम चलो ऊपर, गीतिका थोड़ी देर में तुम्हारा दूध लेकर आ जाएगी.

अब मुझे भी उसका इंटेरेस्ट बनाए रखना था, पर इसके लिए मुझे आराम से काम लेना होगा और धीरे धीरे स्टेप बाइ स्टेप आगे बढ़ना होगा.

डाक्टर ने कहा- अब तो समय अधिक हो गया है, तुम लेट आयी थी, अब कल आना।यह सुनकर मैं उदास हो गयी.

अब मेरे जिस्म पर पेटीकोट और ब्लाउज ही बचे थे, लेकिन निशि अपने तन से ब्रा पैंटी को छोड़कर सब कुछ उतार चुकी थी. दोस्तो कैसे हो आप सब! एक बार फिर से मैं आप सबकी खिदमत में हाजिर हूँ. वीडियो चोदी बीएफमैंने कहा- उस कमरे का इस्तेमाल तुम्हारी सवारी करने के लिए भी कर लूंगा.

इससे मेरी शॉर्ट नाइटी और ऊपर की ओर हो गयी … जिससे मेरी गांड पर थॉमस के हाथ जम गए. फिर तो सब एक एक करके उतर गए।मैं पेशाब करके जैसे ही पीछे मुड़ा तो देखा कि अंधेरे में कोई बैठा पेशाब कर रहा है. एक बार दोबारा से कमरा हमारी जांघों की थप थप और बेड खिच खिच की आवाजों से भर गया.

सरोज की मम्मी ने पूछा- सरोज सोने का कैसे अरेंजमेंट किया है?भाभी कहने लगी- मम्मी, मैं तो अपने बेडरूम में ही सोऊंगी. मैंने भावना की पेंटी एक तरफ सरका दी और पहले एक उंगली से नीचे से ऊपर तक सहलाया, फिर उसे जी भरके निहारा और आंखों को ठंडक पहुंचाई.

मैं- अम्म् हां … वैसे आपके घर में और कोई नहीं है?वो- नहीं, बस सास ससुर थे मगर वो शादी से पहले ही चल बसे थे.

रानी ने दोनों चूचे थाम लिए और निप्पलों को अंगूठे और तर्जनी में दबा लिया. उफ्फ्फ मत करो न …’ ऐसी कामुक आवाजें उसके मुंह से आने लगीं और उसने अपनी जांघें मेरी गर्दन में लपेट कर लॉक कर दीं और अपनी कमर उठा उठा कर चूत को मेरे मुंह पर रगड़ने लगीं. नंगी आंटी की गोरी, केले के तने जैसी टांगें, मोटी गुदाज़ जांघें और उनके बीच में बहुत ही सुंदर चूत मुझे दिखाई दी.

बीएफ चुदाई बड़े लंड से फिर उसने पैंटी को पूरी नीचे कर दिया और उसकी रसीली सी चूत मेरी आंखों के सामने नंगी हो गयी. रश्मि- ओह तो यह बात है … ठीक है तो फिर एक काम कर, तू अपना लंड अपनी गांड में डाल ले, मैं भी देखना चाहती हूं कि तुम कैसे अपना लंड अपनी गांड में डालते हो.

इससे छोटी चाची की चुत मेरे मुँह के सामने आ गई थी और मैं चुत चाटने लगा. अनु ने अपने लंड को मेरी गांड के छेद पर लगाया और दबाव देते हुए अन्दर डालने लगे. उधर अनीता बिस्तर के नीचे जाकर पैरों के बीच घुटने के बल बैठ गई और मेरी गोलियों को चाटते हुए अपने मुँह में भरने लगी.

सेक्सी चुदाई चुदाई दिखाओ

फोन उठाते ही बोले- मेरे बराबर वाले फ्लैट में वो जो लड़की रहती है, उसके घर आ जाओ. मैंने थोड़ा शर्माते हुए पूछा- तो मुझे क्या करना चाहिए?निशी बोली- देख ले, तेरी मर्ज़ी है, चाहे तो ब्रेकअप कर ले या सेक्स ही कर ले. नंगी आंटी सेक्स स्टोरी में पढ़ें कि कैसे भाभी की मम्मी ने मुझे अपनी सेक्स कहानी सुनाने के बाद मेरा लंड पकड़ लिया.

मैंने पूछा- अंदर लोगी?गीतिका ने लौड़े को अपनी मुट्ठी में दबाते हुए कहा- सारी रात अंदर लूँगी, खजाना हाथ लगा है. मैंने पूछा- और दिवेश से!तो बोली- हम्म … वो मेरे पति हैं, मेरे बेटे के पिता है … और ये ज़िन्दगी तो मुझे उनके साथ ही निभानी ही है.

बूढ़ा कभी तो मेरे ऊपर लेट कर मुझे चोदता और कभी खड़े होकर ज़ोर ज़ोर से मेरी फुद्दी में अपना लंड धकेलता.

[emailprotected]हिंदी चुदाई कहानेया का अगला भाग:तन्हा चूत की प्यास लंड से बुझी- 2. नंगी आंटी की गोरी, केले के तने जैसी टांगें, मोटी गुदाज़ जांघें और उनके बीच में बहुत ही सुंदर चूत मुझे दिखाई दी. गीत बोली- अब बताओ, अब कैसे करना है?मैंने संजय और नेहा की तरफ़ सवालिया देखते हुए कहा- इन दोनों से पूछ लो.

उन्होंने कहा- बस इतना ही सामान है? क्या ज्यादा कपड़े लेकर क्यों नहीं आए?मैंने कहा- आपने कोई दिन तो बताए नहीं थे, इसीलिए मैं एक-दो दिन की सोच कर आ गया. वो नीचे ज़मीन पर बैठकर मुझसे बात करती थीं और मैं कुर्सी पर बैठ कर उनके बूब्स देखने की कोशिश करता था. भाभी उसी के बहाने अपनी बात कह रही थी।मैंने कहा- जैसा आपको ठीक लगे, अब तो मैं आपकी व्यवस्था का हिस्सा हूँ.

कभी रश्मि मेरे ऊपर … तो मैं कभी रश्मि के ऊपर, पोजिशन बदल बदल कर हम लोग चुदाई का आनन्द ले रहे थे.

जंगल का बीएफ सेक्सी: अपने आपको शांत करने के लिए मैं वहां से उठ कर स्नानघर में चला गया और अपना मुँह धोकर बाहर आया. भाभी बोलीं- बस मेरी जान मेरे लिए इतना ही बहुत है, मुझे और इससे ज्यादा कुछ नहीं चाहिए.

मेरी गांड में अलग ही खुजली मिटटी सी लग रही थी और लंड के अन्दर बाहर होने का अहसास मुझे मजा दे रहा था. मेरी चीख़ निकल गयी!पर उस कमरे से आवाज़ बाहर नहीं जा सकती थी इसलिए कोई फायदा नहीं था. फिर मैंने लंड को एकदम से एकता की ओर किया तो अगली पिचकारी एकता के मुंह पर लगी.

मेरी नजरें उसकी पैंट में से दिखती चूत पर थीं जो उसकी मोटी सुडौल जांघों के बीच से पकौड़ा सी बनी दिखाई दे रही थी.

नेहा ने आते ही विश किया और कहा- सर, अगर आप नीचे जाकर लंच करना चाहे तो जा सकते हैं. थोड़ी देर की सिकाई करने के बाद मैं उन्हें साथ में ही लेकर रूम में ले आया. वे बिल्कुल किसी क्रिकेट खिलाड़ी की तरह दिखते हैं और मुझसे बहुत हँसी मज़ाक करते रहते हैं.