सेक्सी बीएफ इन

छवि स्रोत,चोदा चोदी ब्लू वीडियो

तस्वीर का शीर्षक ,

सेक्स नंगी वीडियो: सेक्सी बीएफ इन, शायरा के साथ साथ मैंने भी नीचे से धक्के मारने शुरू‌ कर दिए, जिससे शायरा को और भी मज़ा आने लगा.

चौधरी सेक्स वीडियो

इस सब का जिक्र मैं इस सेक्सी वाइफ की कहानी के अगले भाग में लिखूंगा. लड़कियों का फोटो दिखाएंक्योंकि मेरे मां-बाप ने कभी नहीं पूछा था कि शादी के बाद तू जिंदा है या नहीं, इसलिए मेरा दिल उन की तरफ से पूरी तरह टूट चुका था.

मुझे पानी गिरने की आवाज आई, तो मुझे समझ आ गया कि उस टाइम मेरी चाची नहाने के लिए अपने बाथरूम में घुसी थीं. कॉल गर्ल नंबर लिस्ट बिहारजिससे उनको थोड़ी दिक्कत तो हुई लेकिन सुगंधा भाभी मुझसे दूर जा नहीं सकती थीं, तो वो मुझे कुछ नहीं बोलीं.

शादी के बाद आज पहली बार ऐसा हुआ था कि संजू किसिंग के दौरान ही झड़ गई थी.सेक्सी बीएफ इन: अपना लण्ड सीमा की चूत से निकाल कर मैं बाथरूम की जाने लगा तो सीमा ने मुझे पकड़ लिया और मेरा लण्ड चाटकर साफ कर दिया.

आप इस डिल्डो Xxx कहानी के बारे में क्या विचार रखते हैं? क्या किसी पुरूष मित्र को भी मेरे जैसा अनुभव है जिसने कभी किसी लड़की से गांड चुदवाई हो? यदि है तो मुझे जरूर बतायें.फिर मैंने उससे पूछा- क्या तुम हमेशा ऐसे ही चूत को साफ रखती हो?तो वो बोली- जी साहब … क्योंकि साहिल जी को मेरी ऐसी ही चूत पसंद है.

सेक्सी साड़ी में - सेक्सी बीएफ इन

मैं साथ जाने लगा तो बिन्नी बोली- अब आप बाहर ही रहो, मैं आपका नाश्ता तैयार करती हूँ.आज चौथा दिन था, मैं कॉलेज के लिए निकलने ही वाली थी, तभी डॉक्टर ने मुझे फोन करके कहा कि दो-तीन दिन वो अपनी क्लीनिक नहीं जाएंगे.

रास्ते में उसने मुझे बताया कि मुझे आज से पहले सेक्स करने में कभी इतना मज़ा नहीं आया था. सेक्सी बीएफ इन चाची आज इस सुनसान जगह में बेखौफ होकर अजीब अजीब तरह की तेज आवाज में सिसकारियां लेने लगीं- आआह … यस … मररर गईई … ऊम्म … तेरा बहुत बड़ा लंड है … मादरचोद … बच्चेदानी तक ठोकर मार रहा है उम्म्ह… अहह… हय… याह…कोई 5 मिनट की चुदाई के बाद मैंने लंड बाहर निकाल दिया.

अब मैंने उसे घोड़ी बनाया और पीछे से उसकी बुंड और फुद्दी को चाटने लगा.

सेक्सी बीएफ इन?

उनकी इस हरकत से अंकल पागल से हो गए और मज़े में मॉम को गाली देकर उनका जोश बढ़ाने लगे. शायद वो मोबाइल में सेक्स वीडियो देख कर ही अपनी चूत में उंगली अन्दर बाहर कर रही थी. मगर भैया की मर्जी के बिना मैं भी क्या कर सकता था … इसलिए मेरी यही दिनचर्या बन गयी.

विजय बोला- नहीं शालू, तुम मेरी मेहमान हो और मैं तुम्हारी इतनी सेवा करूंगा कि तुम मेरे मेहमानवाजी की कायल हो जाओगी. फिर मैंने बेरहमी से भाभी की चूत का मर्दन किया और पांच मिनट तक भाभी को रपट कर चोदा. मैंने उसकी गांड को पकड़ा और उसकी चूत चाटने लगा।मैंने यास्मीन को बोला- मेरा बेल्ट खोल कर लण्ड तो देख लो.

वो लंड घुस जाने से कुछ तेज कराहना चाहती थी, पर मैं रेखा के होंठों को चूसने लगा. मैंने न्यासा की गांड पर लंड लगाया और ज़ोर देकर धीरे धीरे लंड उसकी गांड में डालने लगा. कम उम्र में ही बॉयफ्रेंड बना लेती है और प्यार के चक्कर में पड़कर अपनी सील तुड़वा लेती हैं.

वो पूछने लगा- बता कहाँ लेगी मेरे रस को? चूत में या मुंह में?मैंने कहा- चूत में अपने रस डाल साले।वह चूत में अपना गर्म वीर्य डालने लगा और चोदता रहा. तब मैं घर पर अकेली ही रहूंगी।अब मेरे मन में हवस पूरी तरह से हावी हो गयी थी.

वो उस टेबल के सहारे खड़ा हो गया और मैं उसके पूरे बदन को चूमने और चाटने लगी … उसके सीने की घुंडियों को भी खूब चाटा.

उन्होंने मुझसे एक रिक्वेस्ट की थी कि उनकी एक सेक्स कहानी को मैं अन्तर्वासना के लिए लिख कर भेजूं.

मेरे बहुत समझने पर वो मानी, तब तक उसकी चुत का दर्द भी थोड़ा कम हो गया था. एक दिन मेरे पति ने मनोज को लंच पर इन्वाइट किया और उससे अपनी फैमिली से इंट्रोड्यूस करवाया. अपना लण्ड सीमा की चूत से निकाल कर मैं बाथरूम की जाने लगा तो सीमा ने मुझे पकड़ लिया और मेरा लण्ड चाटकर साफ कर दिया.

मीना के कहने पर मैंने अपनी स्पीड ट्रेन की तरह तेज कर दी।8-9 घस्से मारने के बाद उसके पैरों में कंपन शुरू हो गई और इसके साथ ही वो झड़ने लगी।5 मिनट और चुदाई करने के बाद मैं भी उसकी चूत में झड़ गया और फिर हम आराम करने लगे. उन्होंने बिस्तर पर अपनी टांगों को और फैला दिया और लगभग अपनी पीठ के बल लेट गयी. उसने अपने कपड़े उतार फेंके और पिंकी को भी बिठा कर उसकी टी-शर्ट उतार दी.

दोस्तो, मैं आपकी सहेली ऋतु वर्मा, आज आपको अपने दूसरे सेक्स एक्सपीरिएन्स के बारे में बताती हूँ।मेरी पहली कहानीचुदने को बेताब मेरी प्यासी जवानीमें आपने पढ़ा के कैसे अपने बॉय फ्रेंड के सेक्स में आसफल रहने पर मुझे मेरे ही बॉयफ्रेंड के दोस्त ने सेक्स की ऑफर की.

जब मैं उसकी टांगों पर मसाज कर रहा था तो उसकी टांगें एकदम से चिकनी हो गई थी और उनको देख कर मेरा लौड़ा बिल्कुल खड़ा हो गया था. सर ने मुझे अपनी बांहों में समेटे हुए टेबल पर लेटा दिया और मेरी कुर्ती को ऊपर से निकालना शुरू कर दिया. मैं भी जोश में आ गया और उसके एक स्तन को उसकी ब्रा के ऊपर से ही अपने मुँह में दबोचकर उस पर अपने दांत गड़ा दिए.

कुछ देर बाद बॉस ने मुझे बुलवाया और मैं जैसे ही कमरे में अन्दर पहुंची, वो उठ कर मेरे पास आकर बोला- रूपा पहचाना नहीं?एकदम से मुझे याद आया कि यह तो मेरे कॉलेज में साथ पढ़ता ही नहीं था बल्कि मेरी चुत की पहली सेवा भी कर चुका था. इस तरह से मेरी बीवी की चुदाई को पांच मिनट भी नहीं हुआ था कि संजू उसी अवस्था में पुनः तीसरी बार झड़ गई. वो शिल्पा की गर्दन को चूमते हुए उसके कातिलाना मम्मों को मसलने लगा था, जिससे शिल्पा मदहोश होने लगी थी.

मैंने उसे भी खोला और वो एक कहानी की किताब थी जिसमें चुदाई की कहानी थी.

मैंने बिन्नी से फिर पूछा- अब कैसा लग रहा है?बिन्नी- अब कुछ ठीक लग रहा है, आपने तो आज जान ही निकाल दी थी. चूत में चिकनाई भी पूरी थी और मेरे लंड ने कामरस निकाल निकाल कर उसके पूरा चिकना कर रखा था.

सेक्सी बीएफ इन वो बोलीं- मुझे आपसे सेक्स करना है … इसीलिए मुझे आपका कुछ टाइम चाहिए. मौनी बोली- कितनी सेट कर रखी हैं?मैं बोला- क्या?वो बोली- लड़की, और क्या?मैंने कहा- एक भी नहीं.

सेक्सी बीएफ इन हैलो फ्रेंड्स, मैं महेश अपनी सेक्स कहानी के अंतिम भाग में आपसे मुखातिब हूँ. वो कहने लगे कि टीचर क्या लाना है, उनका एक दोस्त ही है जो योगा सिखाता है.

उनसे बार बार अपनी बात को कहना और उनसे सवाल आदि हल करने के लिए उठना.

ब्लू सेक्सी पिक्चर चाहिए

मेरी दो बेटियां हैं, दोनों बाहर के एक बोर्डिंग स्कूल में पढ़ाई कर रही हैं. कुछ ही देर में ज़ारा- जा … न … मैं … आ … रही हूं!कहते कहते झड़ गयी और नीचे होने लगी. हमारे चेहरे छिपे हुए थे इसलिए सफर के दौरान आने जाने वाले लोगों का हम पर शक नहीं हो रहा था.

उसके मामा की लड़की को मेरी दीदी भी जानती थी।बहुत बार रोहित ने अपनी मामा की लड़की से मेरी बात भी करवायी थी. फिर उसने कहा- तुम भी हैंडसम बन गए हो, कोई मिल गई क्या?मैंने भी कहा- नहीं मिली तो नहीं … पर लग रहा है जल्दी मिल जाएगी. ये सब होने के बाद भी मैं उनसे कुछ नहीं बोल पाया।हम लोग एक मध्यमवर्गीय परिवार से थे.

मेरे चूसने से उन पर लगे थूक के कारण वो काले अंगूर की तरह चमक रहे थे.

लेकिन मैंने बहुत ही प्यार से कहा- तुम अच्छी लग रही हो मुझे!और सब सांस में कह डाला कि क्यों मैंने रुकने का फैसला किया।चाय उबल के गिर गई और उसने मुझे ऐसे देखा की बस जैसे सन्न रह गई हो. बाहर जोरदार बारिश हो रही थी जिस कारण उसकी आवाज पड़ोसियों के घर तक नहीं पहुंची. क्या सॉफ्ट और बड़े बड़े मम्मे थे उसके … मजा आ गया था मुझे तो!फिर मुझे उसने अलग किया और कहा- अब मम्मी आती ही होगी, तुम अब जाओ.

सुनील ने बनावटी गुस्सा दिखाते हुए कहा- दीपा, अगर भाईसाहब बनाना है तो मैं चला. तू देख जरा … ये क्या हालत कर रखी है!उसने स्नेहा की नाईटी की तरफ इशारा करके कहा- अगर चिराग तुझे इस तरह देख लेता … तो तुझे अच्छा लगता?स्नेहा- कम ऑन मॉम … कुछ नहीं होता. वो- अब क्या है?मैं- कुछ नहीं, मैं तो बस ये पूछ रहा था कि रात को कब तक आऊं?वो- क्यों?मैं- अरे खाना खाने और क्यों?वो- अच्छा अब रोजाना की आदत ही बना ली!मैं- इसमें आदत क्या करेगी.

मैंने 5 मिनट तक मामी का मुँह चोदा, फिर उनको डॉगी स्टाइल में झुकाकर कहा- मामी अपने चूतड़ को फैलाओ. भाभी- अरे हां महारानी परख ले, परख ले, कहां की बात कहां लेकर चली गई.

मैंने उनको पीछे से पकड़ लिया और बोला- अब बता भी दीजिए मुझसे क्या शर्माना!सास बोलीं- छोड़ो मुझे … आप ये क्या कर रहे हैं. और मुझे भी काफी दिनों से नये लण्ड की तलाश थी जो आखिर विजय पर आकर खत्म होने वाली थी।मैं भी विजय का लौड़ा लेने के लिए उतावली हो रही थी और चाहती थी कि विजय खुद पहले करके मेरी चूत में अपना किला फतह कर ले।रात होते ही विजय ने खाना ऑर्डर कर दिया और फिर बोला- मुझे बहुत गर्मी लग रही है. मेरी धमकी से वो डर गया और बोला- सर मम्मी को मत बोलना, वो बहुत मारेंगी.

मैं कहा- क्या लाऊं आपके लिए?रेखा- क्या ला सकते हो?मैंने- अपना दिल और लंड.

पर जब उनको मौका मिले, चाहे वो मेरे घर में हो या बाहर कहीं भी, तब वो भी मेरे जिस्म के अंगों को सहला देते थे।हमें कोई अच्छा मौका नहीं मिल रहा था।ऐसे ही हम लगभग 2 महीने तक एक दूसरे का मज़ा लेते रहे। मेरे घर पे हर बार कोई न कोई रहता ही थी। उनके घर पे भी उनकी फॅमिली थी. तभी राहुल ने धीमे से शिल्पा की गांड पर एक चपत लगा दी और अन्दर चलने का इशारा कर दिया. मैंने कहा- वो कैसे होगा … मैं आपको कैसे भरोसा दिला सकता हूँ?वो बोली- मुझे थोड़ा टाइम दो … मैं बता दूंगी.

वैसे मैंने लाइफ मैं कई बार सेक्स किया है, लेकिन यह मेरा सबसे अलग यादगार अनुभव रहा है, जो आज मैं आपको बताने जा रहा हूँ. थोड़ी देर बाद उसने कहा- ज़ोर-ज़ोर से करो … बहुत मज़ा आ रहा है … आहह … आहह … उम्म्ह … ह्म्म्म्म … आआह्ह ह्हहह्ह … फाड़ दो आअज … मेरी चूत को … उफ्फ्फ़ … ह्म्म्म जोर से … तेज्ज … मज़ा आ रहा है.

और थोड़ी देर में अपने पेन ड्राइव से ऑफिस में जाकर प्रिंट लिया और सबको एक एक टेस्ट पेपर दे दिया।1 घंटे का टेस्ट था. मैंने भी काफी समय तक मुंबई में रिसर्च एनालिस्ट का काम किया और अब यह काम मैं शौकिया तौर पर करता हूं. रामू- भाभी आप कुछ परेशान लग रही हैं … कुछ बात है क्या?आरिषा- नहीं, कुछ बात नहीं है … तुमको ऐसा क्यों लग रहा है?रामू- वो भाभी मैं देख रहा हूँ कि भैया भी आपसे सही से बात नहीं कर रहे हैं और आपका चेहरा उदास रहता है.

ससुर जी ने बहु को चोदा

मैंने भी बुखार की दवाई ले ली और वही विजय के बेड पर सो गई।जब शाम को 5:00 बजे नींद खुली तो मेरा बुखार उतर चुका था.

कमरे मैं जाते ही पहले बाथरूम जाकर अपनी झांटें साफ़ की और रगड़ कर मुठ मारी. रसीला सा लंड देखकर मैंने भी देर न की और उसके लंड को मुंह में भरकर चूसने लगी. मैं तो सोच रहा था कि शायरा के ब्रा पैंटी पर दो सौ अढ़ाई सौ रुपए खर्च करके उसके साथ काफी हंसी मजाक कर लूंगा मगर ये तो बाजी ही उल्टी पड़ गयी थी.

मैं वो दिन याद करने लगा, जब मैं हर दिन चाची के हाथ से खाना खाता था. उसका भले ही दूसरा लंड हो … मगर मेरे लिए तो फ़र्स्ट टाइम और फर्स्ट चुत का मसला था … तो बस पूछिए ही मत कि मुझे कितना मजा आया होगा. ब्लू फिल्म सेक्सी चलने वालीतभी संजू ने अपना थूक अपने हाथ में लिया और चूत में पूरा थूक लगा दिया जिससे चिकनाहट और बढ़ गई.

एक सुनार के यहां जाकर मैंने सुधा के लिए उसकी पसंद के करीब 2 लाख के गहने खरीदे. इससे पता चल रहा था कि पायल अपनी अन्तर्वासना के सागर में डुबकियां लगा रही थी.

मैं खाना खाकर 11:30 बजे बाईपास पर बताए गए बस स्टैंड पर प्रतीक्षा करने लगा. हम दोनों एक बार स्खलित हो चुके थे इसलिए अबकी बार कोई भी जंग को समाप्त नहीं करना चाहता था. वहां जाकर पकौड़े बनाने की तैयारियां करने लगी।नेहा ने भी मुझसे कहा- मैं भी तुम्हारी मदद करती हूं.

मैंने देखा कि उसने अपना पेटीकोट उतार दिया और वो पूरी की पूरी नंगी होकर नहाने लगी. मैं उस मैडम के पास गया और अखबार में निकली जगह के बारे में पूछताछ की. इस काम के लिए मुझे बहुत ध्यान रखना पड़ा क्योंकि जगह कम थी और शोरगुल न हो इसका पूरा ख्याल रखना जरूरी था.

दूसरी तरफ राहुल ने अपनी पैंट की जेब से एक कंडोम का पैकेट निकालकर उधर डेस्क पर रख दिया.

मैं उसके होंठों को चूसने लगा और वो मेरे सिर को पकड़ कर मेरे होंठों को दोगुनी तेजी से चूसने लगी. मेरी गीली चूत में उंगली देकर जीजा बोले- साली बंध्या, तू तो बहुत चुदक्कड़ है.

तो मैंने क्या किया?नमस्कार दोस्तो,आपकी मुस्कान आपके लिए अपनी जिस्म की आग की कहानी का अगला भाग लेकर फिर से पेश है।अब तक आपने मेरी कहानी पढ़ा कि मेरे पति का बॉस मेरे पति की अनुपस्थिति में मेरे घर रहने आ गया था. इसलिए मैंने उसकी 10-15 जोर जोर से धक्के मारे और लंड के एडजस्ट होने के बाद रुक गया. पहले मैंने अपनी एक उंगली सरनी की फुद्दी में डाली और धीरे धीरे अन्दर-बाहर करने लगा.

भाभी ने मेरे लंड के उभार को देखते हुए कहा- क्या हुआ राहुल … आओ अन्दर, ऐसे क्या देख रहे हो. पंजाबी गर्ल सेक्स स्टोरी के पिछले भागबॉयफ्रेंड के बॉस ने मुझे नंगी कर दियामें आपने पढ़ा किअब आगे की पंजाबी गर्ल सेक्स स्टोरी:मेरा मन अब योगेश के लंड को चूसने का हो रहा था इसलिए मैंने योगेश से उसके लंड को चूसने की इच्छा जाहिर की।योगेश के निर्देशानुसार मैंने ऊपर से ही अपनी चूत उसके मुंह पर रखकर अपना मुंह उसके लंड पर टिका दिया. मैंने उसकी चूचियों को छोड़ा और पेट से चूमते-चूमते नीचे की ओर जाने लगा तो वो एकदम पागल सी होने लगी.

सेक्सी बीएफ इन उसके भीगे बदन को देखकर मेरा लंड फुफकार मारने लगा।फिर वो बोली- जा बेटा … मैं नहाकर आती हूँ।फिर मैं आकर वहीं पर पास में ही छुप गया. वो भी यही चाहती थी कि मिलने से पहले हम दोनों एक दूसरे को ठीक से समझ लें.

सेक्सी भोजपुरिया

वो नीचे आकर सीधे मेरी चिकनी कामरस से भीगी चुत को सीधे खाने का प्रयास करने लगा. मुझे मनीष के लंड से चुदते हुए अब बहुत मजा आ रहा था और मैं उसके लंड से चुदते हुए मदहोश होती जा रही थी. कुछ देर बाद मैंने शावर बंद किया और कैंची से झांटों को काटने लगी।झांटें काटने बाद मैंने क्रीम लगायी और फिर अपनी चूत मसलने लगी.

खून गान्ड से जांघों पर जाने लगा।लड़खड़ाते हुए कदमों से मैं बाथरूम में गई। वहां मैंने पेशाब किया अपनी चूत और गान्ड में उंगली डाल कर पानी से साफ किया।बाहर आई तो देखा कि सूरज नंगा सो गया था. इसलिए कुछ गलतियाँ हों तो माफ करियेगा।मैंने स्नातक की पढ़ाई पिछले वर्ष ही पूरी की है. औरत और घोड़े की चुदाईमैं उसके जिस्म के हर एक अंग को चाटना चाह रहा था और उसके बाद चुदाई करने वाला था.

क्या वो सब सही था? क्या मुझे आगे भी इस तरह की क्रिया में हिस्सा लेना चाहिए?मुझे आप लोगों के सुझावों का इंतजार रहेगा.

उसके सिहरने का कारण था कि अनिल की उंगली उसकी चूत के अन्दर पहुंच चुकी थी. हालांकि कुछ भी हो सकता था तो मैंने भाभी से दोस्ती करने से शुरुआत करने का तय कर लिया था.

थोड़ी देर बाद जब उन्होंने सर ऊपर उठा कर मेरे हाथ को आजाद किया तो उनकी निगाहें मेरे चेहरे पर थी और होंठों पर एक हल्की सी मुस्कान तैर रही थी. मैंने अपना सामान शिफ्ट किया और उस रात मुझे बड़ी ही मुश्किल से नींद आई. कुछ देर बाद रामू ने देखा कि आरिषा भाभी अब नॉर्मल हो रही हैं, तो उसने धीरे धीरे झटके मारने शुरू कर दिए.

अनिल बोला- जानू मेरा निकलने वाला है, तुम हट जाओ वर्ना अन्दर हो जाएगा.

मैं खुद के झड़ने से पहले शायरा को अब एक बार फिर से ठंडा करना चाहता था. न्यूड इंडियन वाइफ सेक्स कहानी में पढ़ें कि मेरी बीवी को मेरे दोस्त ने कैसे नंगी किया. आपको क्या काम है?अशोक- मेरे बिजनेस राइवल ने किसी को कह कर मेरी फाइल को उधर दबवाया हुआ है, जिससे मुझे बहुत नुकसान हो रहा है.

सबसे अच्छी सेक्सफिर मैं चूत में लन्ड अन्दर बाहर करते करते उसके बूब्स को भी दबाने लगा. जब कुछ देर इसी तरह से बीत गयी तो वो मेरी चूत के पास पहुंच गई और चूत को खोल कर देखने लगी.

एक्स एक्स राजस्थानी सेक्सी वीडियो

उसकी उम्र 20-22 साल की रही होगी और लंड भी कोई खास लंबा मोटा नहीं था. अब योगेश ने अपना सुपारा मेरी गांड के छेद पर रखा और मुझे कमर से पकड़ कर उसने धीरे से अपने लंड को मेरी गांड में दबाना शुरू किया।उसका चिकना सुपारा मेरे चिकने गांड छेद को फैलाते हुए धीरे धीरे अंदर घुसने लगा।मुझे दर्द जरूर होने लगा लेकिन आज दर्द बहुत कम था।जब योगेश का लंड लगभग दो इंच अंदर घुस गया तब उसने हल्के हल्के धक्के मारने शुरू किए. मैंने अपना लंड उसकी फुद्दी के मुहाने पर सैट किया … और एक बार उसको देखा.

वे एक एक करके खाना अपने मुँह में लेते और फिर किस करते हुए मुझे खिला देते. वैसे भी मैंने जहां कमरा‌ लिया हुआ था … वहां से कॉलेज ज्यादा दूर नहीं था. इस पर रिचा ने आंख दबाते हुए अपने एक स्तन को हिलाया और कहा- क्या हुआ?मैं रिचा से बोला- प्यास लगी है.

मगर अब उसने मेरा लंड अपने गले गले तक ले जाकर खूब चूसा और मेरे लंड का पानी निकाल दिया. मैंने कहा- ओके, मुझे क्या करना होगा?वो बोला- पहले तो आप ये घर के सूट और सलवार को उतार कर योगा लायक कोई अच्छी ड्रेस पहन कर आ जाइये ताकि अभ्यास करते समय कोई परेशानी न हो. आपको देसी लड़की सेक्स स्टोरी को पढ़ कर कैसा लगा, आप कमेंट और मेल करके बताएं.

सुबह से हमने खुल कर चुदाई नहीं की थी तो हम लोगों को अब खुली चुदाई का मजा चाहिए था।घर आते ही सौरभ सोनाली पे टूट पड़ा, वो जानवरों की तरह सोनाली को किस करने लगा। वो उसके चूचों को उखाड़ देगा, ऐसा दबा रहा था और मसल रहा था।सोनाली भी पूरी जंगली बिल्ली की तरह उसे नोच रही थी।सौरभ ने तुरंत उसे नंगी कर दिया और अपना लौड़ा उसके मुँह में पेल दिया। उस समय मुझे लगा कि रंडी की चुदाई होने वाली है. मुझे भी भाबी की चूत में अपना लंड डालने के लिए तड़प मच रही थी, पर हम ऐसा नहीं कर सकते थे.

मैंने चादर और तकिये पर लगे खून के बारे में बताया तो दादी ने लापरवाही से हाथ हिलाते हुए कहा कि अभी धुल जायेंगे.

फिर उसको बता दिया कि उसकी ये वीडियो रिकॉर्ड हो चुकी है और आइंदा कभी वो मेरे या मेरी फ्रेंड्स के पास भी फटका तो ये वीडियो वायरल कर दी जायेगी. लड़की का बोबाशायरा ने अभी‌ तक‌ मेरे लंड पर इतना ध्यान नहीं दिया था … पर उसके अब ऐसे देखने से लग रहा था कि उसे मेरा लंड काफी पसन्द आया था. शेरावाली की मूर्तिमकान मालकिन- तुम्हारे जाने के बाद आज एक औरत घर आई थी तुम्हारा ये पर्स देने … वो बता रही थी कि बस में तुम्हें किसी लड़की ने चांटा मारा था. जब मैं अस्पताल में भर्ती था तो उधर एक रोचक घटना में घटित हो गयी थी.

दर्द और जलन की वजह से मेरा हाल बुरा हो चुका था, आंख से आंसू आ गए थे.

मगर मैंने उसके बाल खींचे और बोली- अगर तेरा पानी जल्दी निकल गया तो और ज्यादा सजा मिलेगी. आज मैं आपको अपने जीवन की दास्तान बताने जा रहा हूँ, आशा है आपको पसंद आएगी और जो लोग अपने जीवन में कुछ नया करना चाहते हैं उन्हें कुछ जानकारी प्राप्त हो सकेगी. उस रात में चार बार उसकी चुदाई करने के बाद मैं सो गया और वो भी पता नहीं कब मेरा लंड चूसती हुई कब सो गयी, पता ही नहीं चला.

मुझे विश्वास है कि हर बार की तरह आपको वो मस्त सेक्स कहानी भी खूब पसन्द आएगी. मेरी चूचियों को हल्की दबाने के बाद उसने मेरी जांघों पर हाथ फिराया और फिर मेरी चूत को भी छूने लगा. तो पता चला कि उसने अपनी पैंटी एक पैर की खोल करके मेरी तरफ वाले पैर में की हुई थी.

मोटी आंटी को चोदा

फिर वो बोले- तुम्हें भी इस बारे में सोचना चाहिए।तो मैं बोली- किस बारे में?वो बोले- सेक्स के बारे में!इस पर मैं बोली- लेकिन किसके साथ?तो वो बोले- देख लो … तुम्हारे आसपास कोई न कोई तो होगा जो तुमसे बात करता हो!मैं समझ गयी कि बुड्ढा अपनी बात कर रहा है. फिर जैसे ही उन्होंने अपनी टांगों को फैलाया, मैंने देखा की मॉम की चुत एकदम क्लीन थी. मामी इतनी खूबसूरत हैं कि रोज ही मेरा मन उनको चोदने को करता था मगर अफ़सोस था कि मैं मामी को नहीं पा रहा था.

मतलब जिस लड़की को दूर से नंगी देख कर मेरा लंड खड़ा हो जाता था, आज उसे अपने साथ बिस्तर पर यूं ब्रा में देख कर मेरी गांड न जाने क्यों फट रही थी.

और फिर मैंने अचानक से एक जोर का झटका दिया पूरा लंड दनदनाते हुए यास्मीन की फुदी में चला गया.

चुदाई की आग की कहानी में पढ़ें कि एक नई जवान हुई लड़की की सेक्स की प्यास किस हद तक जा सकती है. जब मेरा उतरा हुआ चेहरा देखा तो उसने फिर खुद ही मेरा लंड पकड़ लिया और मुंह में लेकर चूसने लगी. रानी मुखर्जी की सेक्सी पिक्चरफिर मैंने उसकी बहन से अपना लंड चुसवाया और उसकी गुलाबी चूत को भी चूसा.

बाद में उस यात्री की यही दिक्कत, मेरी इस बस की यात्रा को बेहतरीन बनाने वाली घटना बन गई थी. आप लोगों के सामने में अपनी नई सेक्स कहानी लेकर दोबारा आऊंगा, जब मेरी मॉम और एक जिम के मालिक के बीच चुदाई हुई. अगले दिन मैंने उनका कमरा ख़ाली कर दिया और मैं अपने जान पहचान के एक दोस्त के यहां तब तक के लिए रुक गया, जब तक कि मुझे कोई दूसरा रूम नहीं मिल जाता.

वो मेरे मम्मे दबाने लगा और मेरी चूत में उंगली डालने लगा और माँ बेटा सेक्स शुरू हो गया. उधर वो मादक लौंडिया मुझे एक लाइव ब्लू-फिल्म का मजा दे रही थी और मैं बड़ी तेजी से अपने लौड़े को ठंडा करने का कार्य कर रहा था.

ज़ब वो गिड़गिड़ा रहा था, उसकी गोलियों को मैंने हाथ से मसल दिया और लंड समेत गोलियों को ज़ोर से दबोच कर पूरे कमरे में गोल गोल घुमाया.

उसको साफ साफ कह डाला कि एक रात मैं जी भर कर तुम्हारी चुदाई करना चाहता हूं. माँ बेटी की चुदाई कहानी में पढ़ें कि मेरे अपाहिज दोस्त की जवान बेटी को दौरे पड़ते थे. वहां पर दो लड़के मेरी मदद करने लगे क्योंकि हम गांव वालों को खाना बांट रहे थे.

प्रियंका चोपड़ा की सेक्सी वीडियो एचडी उन दोनों ने भी मोनोकिनी पहनने में ज्यादा रुचि नहीं दिखाई और फिर सब सामान को समेट कर एक तरफ रख दिया. फिर भी उसने छिनाल लुक देते हुए मेरी तरफ़ से नज़रें फेर लीं और अपनी चूत की आग को शांत करने में जुटी रही।पंकज- अह्ह्ह … साली तुम बड़ी मस्त माल हो सुमन … उहह्ह् … आज तुम्हारी चूत इस तरह फाडूंगा कि तुम अपने पति के लंड को हमेशा के लिए भूल जाओगी.

शिल्पा बिना कुछ बोले घोड़ी बन गई क्योंकि इस समय वो मेरी बीवी कम राहुल की गलफ्रेंड ज्यादा थी और उसे चुदने में मजा भी आ रहा था. उसकी चूत को मसलते हुए ऐसा मन कर रहा था कि आज इसे इतनी चोदूंगा कि इसकी चूत को खोलकर रख दूंगा. उसका हाथ मेरी गर्दन पर आया और उसने मुझे अपने सीने में ब्रा के ऊपर से दबाना शुरू कर दिया.

ब्लू पिक्चर हिंदी में सेक्स

उसने काले रंग की जींस और लाल रंग की टी-शर्ट के ऊपर, काले रंग का ही कोट पहना था. नमस्ते साथियो, मैं महेश आपको शायरा के साथ अपनी प्रेम गाथा को इस सेक्स कहानी के माध्यम से सुना रहा था. उस वक्त घर पर आरव के अलावा उसकी बहन होती थी, जिसकी उम्र 20 साल की रही होगी.

फिर धीरे धीरे मैंने लंड हिलाना शुरू कर दिया, वो भी लंड को झेलने लगी. अपने जीवन में पहली बार मैंने किसी दूसरे मर्द का लंड अपने हाथ में पकड़ा था और वो भी अपनी बीवी की चूत में डालने के लिए.

अब वह अन्दर बाहर अन्दर बाहर शुरू हुआ … धच्च फच्च धच्च फच्च … लंड चलने लगा.

सब्जी वगैरह खरीदने के बाद मेरा दोस्त मुझे लेकर उसकी दुकान पर ले गया. शायद मेरा पानी निकलने वाला था तो मैं अपने आप को रोक नहीं पाई। और मेरा पानी निकलने लगा मेरा शरीर अकड़ने लगा. तो दोस्तो, मैं एक 24 साल का नौजवान हूं और दिखने में काफी हैंडसम भी हूं.

उसे शायद अपनी बुर पर बाल रखना पसंद नहीं था, इसलिए इलाका एकदम साफ था. अंजू ने कहा- मेरी भी चूत में पानी आ रहा है। पर ये होगा कैसे?एक तरीका बन सकता है. मेरे लबों के स्पर्श से वो एकदम से सिसकी- आह आह ह हहह हह …मुझे उसकी चूत का पानी नमकीन लगा.

मैं अहमदाबाद में रहता हूं, लेकिन पिछले दो साल से मुंबई में जॉब कर रहा हूं.

सेक्सी बीएफ इन: मैंने सोचा कि लगता है अब ना घर में चैन मिलेगा और ना ही ऑफिस में ही मिलेगा. दो मिनट बाद अनीता ने उसे खींच कर हटा दिया और मुझे बांहों में जकड़ लिया.

इधर मनोज ने अपना सारा माल निकाल कर दीपा चूत भर दी तो उधर सुनील ने अपना सारा माल पेपर टिश्यू पर निकाल दिया. धकाधक ठोकरें और सीमा के चूतड़ों के जवाबी उछाल ने मुझे मंजिल पर पहुंचा दिया. फिर अपनी किताब लेकर अहाते में आकर लेट जाता और उनकी पैंटी और ब्रा को खूब चाटता और अपने लंड पर रगड़ता रहता.

मैं उसके एक चूचे को प्रेस कर रहा था और दूसरे को मुँह में लेकर चूसने में लग गया.

मुझे उम्मीद है कि आपने मेरी इस देवर भाबी Xxx कहानी का मजा लिया होगा. उसने अपनी जांघें भींच लीं लेकिन फिर भी उसकी छोटी सी कमसिन चूत मुझे दिख रही थी. मैं बार बार लंड उसकी फुद्दी में डालने की कोशिश करता, लेकिन वो हर बार फिसल कर बाहर आ जाता.