बीएफ सेक्सी फुल वीडियो एचडी

छवि स्रोत,सेक्सी इंडिया मूवी

तस्वीर का शीर्षक ,

हिंदी सेक्सी एचडी फिल्म: बीएफ सेक्सी फुल वीडियो एचडी, अगली सुबह जब सो कर उठी तो मौसा जी से चुदवाने का ख्याल ही मेरे दिलोदिमाग पर हावी था.

सेक्सी चुदाई वीडियो जंगल में

यहां सभी मुझे बड़े प्यार से रख रहे थे। सभी मेरी हर इच्छा को पूरी करने की कोशिश करते थे लेकिन अब मैं किसी को कैसे बताता कि मुझे चूत चाहिए!मुझे इनके यहां रहते हुए 4 दिन हो गए थे लेकिन मेरे लन्ड को अभी तक कोई चूत चोदने का जुगाड़ नहीं दिख रहा था. सेक्सी वीडियो चंदनकुछ ही देर में उसके बदन की गर्मी से मेरी आंखों में एक नशा सा छाने लगा था.

क्यों?नमस्कार दोस्तो, मेरा नाम राज है। मेरी उम्र 28 साल है और आज मैं आपके सामने एक कहानी प्रस्तुत कर रहा हूं. सेक्सी हिंदी फिल्म बताएंमैंने उसे कैसे पटाकर चोदा?दोस्तो, मेरा नाम विक्की है और मैं देहरादून का रहने वाला हूँ.

मामी ने कई बार मुझे उनकी चूचियों को ताड़ते हुए देख लिया था लेकिन वो कुछ भी प्रतिक्रिया नहीं कर रही थी.बीएफ सेक्सी फुल वीडियो एचडी: वो स्कीम बनाने लगी कि वो कैसे हवेली के बारे में अपने पति को बताएगी.

मुखिया- देख गीता, तुझे तेरे घर वालों की ख़ुशी चाहिए या नहीं? अब फैसला तेरे हाथ में है.सुमन वहां से उठ कर चली गई और जाते हुए मुखिया को इशारा कर गई कि आगे देखो, वो क्या करती है.

काळे सेक्सी व्हिडिओ - बीएफ सेक्सी फुल वीडियो एचडी

मैं ही तुम्हें नाम बता देता हूं, लेकिन एक रिक्वेस्ट है कि अब हम वही नाम लेकर इन अंगों को पुकारेंगे और हल्की फुल्की गाली-गलौच भी करेंगे, ताकि हर एक लम्हा यादगार और हसीन बन जाए.इस झटके से आदिल चिल्लाया- बहन की लौड़ी, तेरी मां की चूत … मेरे लंड को तोड़ेगी क्या?मैं बोली- मां के लौड़े, तू मेरी गांड को फाड़ सकता है तो मैं तेरे लंड को भी तोड़ सकती हूं.

फिर उसने बॉक्स में रखा केक बाहर निकाला और मेरी चूत पर अपने हाथ फिरा फिरा कर लगाने लगा. बीएफ सेक्सी फुल वीडियो एचडी वो बोली- तुझे मैं अच्छी लगती हूं ना?मैं बोला- नहीं मॉम ऐसी बात नहीं है.

भाबी की चुदाई के बारे में सोचकर ही मैंने मुट्ठ मार ली और शांत होकर सो गया.

बीएफ सेक्सी फुल वीडियो एचडी?

उसके बाद मैंने उसको वहीं फर्श पर झुका लिया और उसकी गांड पर लंड को रगड़ने लगा. उसकी तरफ से कोई प्रतिक्रिया न होने से मेरी हिम्मत भी थोड़ी बढ़ रही थी. वो सीधे मेरे से चिपट गईं और मेरा लौड़ा पकड़ते हुए बोली- प्लीज कुणाल, जो भी करना है जल्दी करो.

अब अगले भाग में गांव की इस चुदाई की दुनिया के नए रंग से आपके लंड चुत गर्म करूंगी, तब तक के अलविदा. फिर सिमरन ने अपने पापा को बताया कि फैमिली बहुत अच्छी है, आप मेरी चिंता न करें … और हां पापा आप लोग संभल कर जाईएगा क्योंकि आज कर्फ्यू है और यही सब न्यूज़ में दिखा रहे हैं कि कोरोना बीमारी की वजह से 3 दिन तक सब बन्द है. 10 मिनट तक मैंने पूरे जोश में मां की गांड मारी और फिर उनकी गांड में ही झड़ गया.

वो मुझे खींचते हुए बेड पर ले गयी और फिर मैंने उसको पीछे धक्का दे दिया. मेरा लंड पूरा उसकी चूत की जड़ में जाकर ठोक रहा था जिससे उसे और ज्यादा मजा आ रहा था. मैं बोला- एक बार मुझसे मरवा कर देखो मम्मी?वो बोली- नहीं, मैं नहीं ले पाऊंगी पीछे.

मैंने अपना हाथ नीचे करके उनके लोअर को नीचे कर दिया और आंखें बन्द करके उनके होंठों की मधुशाला को पीता रहा. घर जाने के बाद रात को सन्नो का पति रणजीत, जिसके बारे में पहले मैंने बताया था.

मैं कुछ करती, इससे पहले ही कासिब ने मेरे मुँह पर अपना हाथ रखा और मुझे उठाकर मेरे कमरे में ले जाने लगा.

मैं पैंटी को मुँह में दबा कर मुठ मारता था, उससे लाख दर्जे सीधे चुत की चुसाई में मजा आ रहा था.

जैसे ही उसने अपनी जीभ मेरी चूत के अन्दर डाली, ‘आआआह …’ मेरी गांड खुद ब खुद उछलने लगी. चल भाग यहां से … और साली रंडी जाकर किसी रंडीखाने में बैठ कर अपनी चूत का भोसड़ा बनवा कर अपनी और अपने परिवार की इज्जत बढ़ा. ज्यादा देर तक वो मेरे लंड को झेल नहीं पाई और उसकी चूत ने पानी छोड़ दिया जिससे वो निढाल हो गयी.

मैं- क्या?दीक्षा- लड़कों की वर्जिनिटी का कैसे पता चलता है?मैं- तुझे अपने वाले का जानना है क्या?दीक्षा- हां … ऐसा ही समझ ले. वो हाथ धोते हुए बोला- बेटा गोदाम तो मशीन का ही है लेकिन अभी बंद है. जैसे ही उसने फ़ोन उठाया, उसकी आवाज़ सुनते ही उसके पापा उसे डांटने लगे.

भाभी- अच्छा वो सब छोड़ो, ये बताओ मैं कैसी दिख रही हूँ?मैं तो बस यही सोच रहा था कि सब सच बोल दूं, पर मैंने बात को घुमा कर बोला- भाभी आप तो आज कहर ढा रही हो, मुझे तो बस भैया के चेहरे की खुशी देखना है, जब वो आपको ऐसे देखेंगे.

बाद में पता चला कि साली लंड का दर्द सहन ही नहीं कर पाई और …सुमन- क्क्क. फिर भी उत्सुकतावश उसने हिम्मत करके कोने से परदा हटाया और अन्दर का नजारा देख कर उसकी आंखें फटी की फटी रह गईं. अगर तुम उसमें पास हो गए, तो हम तुम्हें अपना दामाद स्वीकार कर लेंगे.

मैंने फिर से उसकी गांड पर हाथ फेरा, उसकी पतले कपड़े की कैपरी कुछ भीगी हो गई थी. दीदी ने तुरंत ही अपने होंठों की मधुशाला मेरे नशीले होंठों पर रख दी. मेरे पिताजी अहमदाबाद में रहते हैं और मैं एक साल पहले मुंबई में जॉब करने के लिए आया था.

मेरी आंखें मेरे बिनयान के नीचे दबी थीं मगर मैं बीच में से खाली जगह में से देख पा रहा था.

मेरी नज़र भी ऐसी ही एक भाभी पर टिकी थी, उनको देख कर मैं लाइन मारता रहता था. पिछली बार आपने डॉक्टर सुरेश और मीता की चुदाई शुरू होने की स्थिति पढ़ ली थी.

बीएफ सेक्सी फुल वीडियो एचडी वो बोली- मैं बहुत पागल हो रही हूँ, क्या तुम मुझे किस करोगे?मैं तो न जाने कब से बस यही चाहता था. इसी का लाभ उठाते हुए अपनी छोटी वाली उंगली से उनकी चूची छुई तो भाभी ने कोई जवाब नहीं दिया.

बीएफ सेक्सी फुल वीडियो एचडी बस फिर क्या था रघु खुश होकर वहां से चला गया और सुरेश वापस बाहर आ गया. दो घंटे बाद मैं लंगड़ाती हुई बाथरूम तक जा रही थी, तभी पीछे से सार्थक ने मुझे गोद में उठाया और बाथरूम में ले गया.

आह … उस जवान लड़की का नंगा बदन तो एक संगमरमर की मूर्ति जैसा था।वह अपने ससुर के खड़े लंड को देखकर निचले होंठ को अपने दांत से दबा रही थी।उसकी नग्न चूत को देखकर मेरे लन्ड की नसों में खून का प्रवाह तेज होने लगा।ससुर ने धोती खोलते ही कामुक स्वरों में कहा- मेरा लन्ड चूस सुहानी! चूस-चूस के काले लंड को और काला कर दे।सुहानी तो जैसे लंड की भूखी थी.

मेहंदी ओं की डिजाइन

मेरी उंगली घुस गयी और उसकी मस्त मुलायम चूची मुझे उंगली में महसूस हुई. मैं- क्या कहा आपने?दीक्षा- हाँ यार देखती तो मैं भी हूँ, पर मैं फिंगर नहीं करती यार … बस कोल्ड वाटर पी लेती हूँ. मैंने कॉल उठाया और बोला- जानू, आज अपनी चुत को समझा लो, उसे बहुत मज़ा आने वाला है.

फिर उसने अपने हाथों से मेरी फ्रेंची को नीचे खींचा और मेरा लंड उछल कर बाहर आ गया. इसके बाद उसने मेरे कड़े हुए निपल्स पर उंगली से सहलाते हुए कहा- ये है चूचुक. ये विचार आते ही मेरा हाथ अनचाहे ही मेरी पैंटी में घुस गया और चूत की दरार में मेरी उंगलियां चलने लगीं.

शुरूआत के 1-2 साल तो हम दोनों बस ओरल सेक्स करके ही संतुष्ट हो जाते थे क्योंकि मैं नई नई जवान हुई थी.

दो-चार मिनट के बाद ही मामी की चूत झरने की तरह बह गयी और उनकी चूत का सारा पानी मेरे मुंह में जाने लगा. मामी सेक्स की कहानी में पढ़ें कि बड़ी मामी की चूत चुदाई के बाद मैं दूसरे मामा के घर गया, वहां छोटी मामी को पटाने की कोशिश करने लगा. भाभी की चूत अंदर से बहुत ज्यादा गर्म थी। मुझे भाभी की चूत में उंगलियां अंदर बाहर करने में बहुत ज्यादा मजा आ रहा था। पूजा भाभी अभी भी अपने आप को छुड़ाने का असफल प्रयास कर रही थी.

एक दिन मैंने सर से कहा- आप मेरी मम्मी से बहाना मारो कि शिल्पा को बगल वाली दूसरी कम्पनी में लगवाने ले जा रहा हूँ, जो इस कंपनी से ज्यादा पेमेंट दे रही है और काम भी अच्छा है. उधर सीमा मामी पूरा नजारा देख रही थी और दूर खड़ी होकर छुपी हुई मुस्करा रही थी. बड़ी मुश्किल से मैंने मामी को चुदाई के लिए उकसाया था लेकिन उनके बच्चों ने सारी मेहनत और उम्मीदों पर पानी फेर दिया.

उफ्फ भगवान … दीदी की चूत का आकार साफ साफ दिख रहा था और उनकी चुत गीली भी दिख रही थी. वो खुद भी मेरे साथ इस दौर की चुदाई की मस्ती को भरपूर जीना चाहती थी.

रिचा और आयुषी बाहर मामी के साथ थीं। फिर मामी वहीं पर चक्कर काटने लगी. आंटी का हाथ अब मेरे ओअर पर आ गया था और वो मेरे लंड को जोर जोर से सहला रही थी. इतना सब होने के बाद मैं बंगाली भाभी के परिवार को अब करीब से जानने लगा था.

दिव्या बहुत खुश हो गई थी- वाह लौंडे, तेरा वीर्य तो समंदर है, पूरी भीग गई मैं!उसने अपनी चूचियों पा बह कर आ रहे वीर्य को उंगली से ले लिया और मुँह में रख लिया.

दो-तीन मिनट तक तो वो कहती रही कि छोड़ दे … छोड़ दे … मुझे, लेकिन फिर उसने विरोध करना बंद कर दिया. आह्ह … तू तो पूरा खिलाड़ी हो गया है रे!मामी के मुंह से अपनी तारीफ सुनकर मुझे भी और मजा आ रहा था. तब धीरज बोला- क्या आप लंड की मालिश करती हो आंटी!अम्मी बोलीं- हां मैं करती हूँ, लेकिन उसका पांच सौ रूपए एक्स्ट्रा चार्ज लगता है.

दोस्तो, ये थी मेरी सच्ची कहानी जिसमें मैंने पहली बार गर्लफ्रेंड की चुदाई की थी. फिर मैं एक घंटा और वहां पर रुका और इस दौरान मैंने एक बार बाथरूम में फिर से उसकी चुदाई की.

वो अपनी गुड़िया के साथ खेल रही थी और मेरे इंतज़ार में तैयार होकर बैठी थी. अब सोनू जी मुझ पर एक अहसान करोगे?मैंने कहा- मैंने सब सुन लिया है, चिंता न करो. उनको मैंने पीछे से पकड़ने की कोशिश की लेकिन इस बार वो मेरी पकड़ से निकल गयी.

गंदी बात सीजन वन

मेरी सास ये सुनते ही और ज्यादा खुश गईं कि ये तो पहले से ही घरेलू माल की चुदाई करने वाला दामाद है.

एक बार फिर से मैंने आंटी के होंठों को चूसते हुए दूसरा धक्का मारा और अबकी बार मेरा पूरा का पूरा लंड आंटी की चूत में उतर गया. बहन के मुँह ये सुनकर मुझे भी जोश आ गया और मैं ज़ोर ज़ोर से धक्के लगाने लगा. फिर धीरज ने मेरी अम्मी की लैगी भी उतार दी और अम्मी ने धीरज की पैंट और अंडरवियर दोनों उतार दीं.

मैं- पर क्यों दीदी?दीक्षा- यार आगे की मैं सिर्फ अपने बीएफ को ही दूंगी. एक दिन जब मौक़ा मिला तो … क्या हुआ?दोस्तो, इस सेक्स कहानी में आप एक प्रेम रस में सेक्स का समावेश होते हुए पढ़ रहे थे. सेक्सी चुदाई वाली पिक्चर हिंदी मेंमेरी मदमस्त कर देने वाली सेक्स कहानी को लेकर मुझे अपने मेल लिखना न भूलना कि इस सेक्स कहानी में आपको कितना मजा आया!आपकी पिंकी सेन[emailprotected]कहानी का अगला भाग:गांव की चुत चुदाई की दुनिया- 12.

चाची की उम्र तीस साल के करीब थी लेकिन वो देखने में पच्चीस से ज्यादा की नहीं लगती थी. रोल प्ले सेक्स स्टोरी में पढ़ें कि जब मेरी कोई गर्लफ्रेंड नहीं बनी तो मैंने अपनी ममेरी बहन पर ही कोशिश करने की सोची.

आपा बोली- ये क्या है?सोनिया- कुछ नहीं अम्मी।आपा ने फिर एक झटके में उसकी पजामी उतार दी. शाम को तय समय पर सुशी फिर से मौका देख कर घर से निकली और पीछे के रास्ते से मेरे मकान में आ गई. फिर आगे कहानी में क्या हुआ और मैंने सर से किस तरह और कहां पर चूत मरवाई वो मैं अगले भाग में बताऊंगी.

जा … जाकर तू अपनी भी ऐसी तैसी करवाले … मगर वो नहीं माना ना, तो तेरी खैर नहीं. इतने कसाव में मॉम के भरे-भरे मोटे बूब्स किसी पोर्न स्टार से कम नहीं लग रहे थे. शायद उसका दर्द अब कम हो गया था। अब उसे दर्द कम और मजा ज्यादा आने लगा था।करीब 20 मिनट तक जोरदार चुदाई चली.

तभी विक्रम ने मुझे बुलाया और कहा- चल लोंग ड्राइव पर चलते हैं।मैंने ओके कहा।फिर हम वहाँ से निकल गये। विक्रम ने अपनी मर्सडीज़ एसयूवी निकाली.

मैंने अपनी जीभ से उसकी देसी चुत के दाने पर गोल गोल घुमाना शुरू किया. एक दिन मैंने पूछा- जानू क्या आपके पति आपसे प्यार करते हैं … और पूरा मज़ा देते हैं?वो बोलीं- वो मुझे प्यार तो करते हैं, लेकिन उनमें ज्यादा दम नहीं है.

मैं उसकी प्यारी मीठी आवाज में खो सा गया और सिर्फ अंडरवियर में आकर पैरों के बीच के उभार पर गमछी लपेटने लगा और फिर लेट गया।वह मेरे पेट पर तेल लगा बड़े आराम से अपने हाथों को छाती से ढोरी तक ससारती जा रही थी. सिमरन ने कहा कि आपने मेरी पूरी फैमिली की बातें सुनी!मैंने कहा- हां मगर तुमने झूठ क्यों बोला कि तुम किसी फैमिली में हो. उनके घर में पक्की ईंटों का बाथरूम नहीं बना था बल्कि तिरपाल का बाथरूम बना हुआ था.

मेरी देसी हिंदी कहानी लड़की का सेक्स की पर आप अपनी प्रतिक्रिया के ज़रिये अपना प्यार देना न भूलें. मैंने बोला-नहीं चाचा, आपसे छोटा ही है!चाचा अपने अंडरवियर के उभार को सहलाते हुए बोले- बीवी को साथ ले आते तो सुबह सुबह इस तरह खड़ा नहीं हो रहा होता ये. सुमन- आप चुप रहो मुखिया जी, हां तो कालू तुम क्या कह रहे थे?कालू- मैडम जी, ये तहखाना बहुत समय से बंद पड़ा है.

बीएफ सेक्सी फुल वीडियो एचडी आपको मेरी इस ब्रदर एंड सिस्टर सेक्स स्टोरी को लेकर क्या कहना है, प्लीज़ मुझे मेल करना न भूलें. देसी चूत चुदाई स्टोरी में पढ़ें कि भारत में मेरी एक गर्लफ्रेंड बन गई थी.

मराठी सेक्सी पिक्चर बताओ

देसी आंटी के मुंह से निकला- आआ … आराम से!फिर मैं उतने ही लंड को आगे पीछे करने लगा. चचा का लंड लुंगी में उठा हुआ था और वो कोई बात सुनने के मूड में नहीं था. लेकिन फिलहाल जो अभी हालात चल रहे हैं, उसको लेकर एक सत्य घटना घट गई.

मैं जानता था कि आयशा जैसी लड़की के लिए मैं सही आदमी नहीं हूं क्योंकि उसकी कुछ जरूरतें ऐसी थीं जो मैं पूरी नहीं कर सकता था. मौका पाते ही दोनों चोरी छुपे किसी कोने को पकड़ लेते थे और शुरू हो जाते थे. राजस्थानी सेक्सी पिक्चर फोटोआज पहली बार मीता की चुत से रस बाहर निकला था, जो बस ऐसे निकलता चला गया, जैसे बरसों से रुका हुआ हो.

5 मिनट तक जोर से पेलते हुए मैं उनकी योनि में झड़ गया और मैंने अपना मुंह उनके बूब्स पर टिका दिया.

लंड के मेरी पैंट के अंदर ही झटके लगने लगे और शायद कपिला ने भी ये हरकत देख ली थी. मैं डर गई।मैंने जल्दी से अपना मुंह खोल दिया। उसने अपना लण्ड मेरी तरफ किया और एक लम्बी धार सीधे मेरे मुंह में आकर गिरने लगी। मैंने आंखें बन्द नहीं की थीं। मैं आदिल का मूत पीने लगी.

मैं अपना अगला अनुभव आपके सामने जरूर प्रस्तुत करूंगा कि कैसे मैंने निकिता को अपनी चुदाई का मजा दिया. फिर मैंने उससे उसके ब्वॉयफ्रेंड के बारे में पूछा, तो बोली- मैंने अभी तक किसी को हां नहीं बोली. ये शायद अशोक की दी हुई गोली का ही असर था कि हम दोनों इतने राउंड के बाद भी नीला को इतना चोद पाए और ठोक पाए.

मैं बस आपके मनोरंजन के लिए सेक्स कहानी लिखता हूँ ताकि आप सेक्स का मजा लेकर अपना लंड हिलाएं और लड़कियां भाभियां आंटियां अपनी चूत में उंगली करें और शांत हो जाएं.

चूंकि प्रशांत के साथ मैं ज्यादा समय बिताता था तो वो भी मुझसे बहुत जुड़ा हुआ था और मेरे बगैर कई बार रोने लगता था. कब कब कैसे कैसे मैंने उसको पेला और मजा किया, वो सब मैं फिर कभी लिखूंगा. मैंने बात आगे बढ़ाई और पूछा- चचा किस चीज़ का गोडाउन है? केवल मशीनें ही दिख रही हैं यहां.

सेक्सी फोटो कपललंड देखते ही उनका चेहरा एकदम लाल हो गया और वह शर्मा गई और अपने रूम में भाग गई। अब मैं नहाने के लिए बाथरूम में गया और नहाकर अपने रूम में पहुंचा. मेरा भी फिर मन करने लगा था कि एक बार नीरज मिल जाये तो मैं उसके लंड से अपनी चूत की चटनी एक बार तो बनवा ही लूं.

सेक्सी फिल्म देखने की वीडियो

कोई 20 मिनट तक साए ने बड़े प्यार से सुमन को चोदा, फिर उसकी नसें फूलने लगीं, तो वो स्पीड से लंड को अन्दर बाहर करने लगा और अब सुमन की चुत का फव्वारा भी फटने वाला था. मुखिया- तुम अभी तक गए नहीं, यहीं खड़े हो!बिरजू- मालिक हम गरीबों पर थोड़ा रहम करो. उसने मुझे समझाया कि ये बियर है, दारू नहीं है, इसमें बहुत कम नशा होता है.

मैंने बोला- अगर तेरी गोली ने कमाल न किया तो!वो बोला- तो फिर तू जो मांगे वो. मैंने टांगें घुटनों में से मोड़कर ऊपर उठा लीं और अवनी को अपनी टांगों के उठाव के बीच में कर लिया ताकि कोई एकदम से अंदर आ भी जाये तो कुछ पता न चले. अम्मी के नंगी चूचियां देखकर अब्बू ने देखा, तो वो समझ गए कि अम्मी दूध चुसवाना चाह रही हैं.

चार दिन बाद मेरी सासु मां ने मुझे कॉल किया, क्योंकि मेरी होने वाली वाइफ और ससुर बाहर चले गए थे. मगर आप मुझे मेल करके जरूर लिखें कि आपको इस छोटी चूत की कहानी में कितना मजा आ रहा है. इस शृंखला की पहली तीन कहानियां पढ़कर आपके लंड और चूतों ने आपको खूब परेशान किया होगा.

वो बाथरूम में गया और दस मिनट में फ्रेश होकर नंगा ही लन्ड हिलाते हुए निकाला. बातों ही बातों में एलिसा आंटी ने बताया कि इस समय उसे पैसों की बड़ी तंगी चल रही है.

मैंने जब उन्हें देखा, तो वो पहले से काफी ज्यादा खूबसूरत हो गई थीं, उनका बदन भर गया था.

अब भाभी के मुंह से सिसकारियां निकलने लगीं और वो सोनिया की चूचियों को दबाने लगी. जबरदस्त सेक्सी वीडियो जबर्दस्तचुदाई का खेल चलते हुए रात के बारह बज गए थे मगर हम दोनों में से कोई भी पीछे हटने को तैयार नहीं था. सेक्सी सेक्सी कांडफिर आपा ने मुझे इशारा किया तो मैंने अपनी निक्कर उतार दी और टीशर्ट को भी उतारकर फिर से पूरा का पूरा नंगा हो गया. ऐसा लग रहा था कि न जाने कितने दिनों से उसने अपने पति का लौड़ा अपने मुंह में नहीं लिया था.

मेरी बहन की गांड इतनी अधिक टाइट थी कि मेरे लंड और उसकी गांड दोनों में दर्द होने लगा.

मैंने मॉम से कहा कि सामने वाली बिल्डिंग में जाकर खड़े हो जाते हैं ताकि बारिश से बच सकें. एक दिन खाना खाते हुए मजाक में मैंने कह दिया कि दीदी इतनी सेवा तो शायद मेरी बीवी भी नहीं करेगी. उसकी जांघें मेरे चूतड़ों से टकरा कर थप थप की मस्त आवाज कर रही थी जिससे मेरी गांड में चुदने की प्यास और ज्यादा बढ़ रही थी.

मैं तेज तेज धक्के लगाने लगा।लगभग 10 मिनट बाद पुनः सीधा लेटाकर चोदने लगा।मैंने धक्कों की रफ्तार और बढ़ा दी और लगभग 10 मिनट के बाद उनका शरीर अकड़ने लगा और तेज़ी से अपने चूतड़ों को उछालने लगी।और वे स्खलित हो गई।अब मुझे झेलना भारी पड़ रहा था। क्योंकि स्खलन के बाद चूत बहुत संवेदी हो जाती है. तब सिमरन ने कहा- पापा होटल में तो रूम मिला नहीं, तो ये मुझे अपने परिवार के पास ले आए हैं. अब मैं सर के ऊपर बैठकर उनको गपागप ताबड़तोड़ तरीके से चोदे जा रही थी.

लड़कियों से बात करने का मोबाइल नंबर

थोड़ी देर बाद मैं एकदम मस्त हो गई और उन दोनों के पूरे लंड अन्दर तक लेकर चूसने लगी. सेब जैसे कड़क चूचे, जिनपर छोटे छोटे से भूरे रंग के निप्पल और पतली कमर के नीचे एकदम नोकदार चुत, जो एकदम क्लीन चमचमाती हुई थी. मुखिया- क्यों मेरी रानी, तुझे मेरा लंड बहुत पसंद आ गया क्या … जो सिर्फ़ मुझसे ही चुदेगी, उससे नहीं?गीता- ऐसी बात नहीं है मालिक, आपने एक बार कर लिया, ये बात सिर्फ़ आप तक है.

बट प्लग को उसने मॉम के मुंह में डाल दिया और उसे सोफे पर डॉगी पोज लेने के लिए कहा.

मुझे तो सिर्फ उनकी गोरी चिकनी पीठ ही नजर आ रही थी। अब मैं जल्दी जल्दी उनकी पीठ को चूम रहा था। वो फिर से मदहोश होने लगी। अब शायद चूत चुदवाने को का नशा मामी पर भी होने लगा था.

इस वक्त उस बड़ी सी हवेली में सुमन अकेली थी और रात के खाने की तैयारी कर रही थी. वो बोले- देख लो, बीमार हो गयी तो?मैंने कहा- बीमार नहीं पड़ूंगी, सारी रात चुदने की कैपेसिटी है मेरी।ये सब मेरे पति देव भी सुन रहे थे और उनका लन्ड बेकाबू हो रहा था।फिर उसके बाद सर ने मेरे पति से भी बात की और बोले- मुझे तो तुम्हारी बीवी की गांड चुदाई भी करनी है. फैमिली का सेक्सी वीडियोवजन उठाने के कारण फिर से उसके पैर में दर्द बढ़ गया और उसने जोर से चीख मारी और नीचे गिर गयी.

मैं- तो उनको कैसे पता चला कि वो होटल में है?भाभी- देवर के एक दोस्त ने सोनिया को अपने यार के साथ होटल में जाते हुए देख लिया था. कुछ ही देर में वो इतनी ज्यादा गर्म हो गई थी कि मेरे बालों को नौंचने लगी और मेरे कपड़े खोलने लगी. दोस्तो, अब मेरी जीजा साली सेक्सी कहानी को मैं अगले भाग में लिखूंगा.

इस बात को लेकर मेरी और भाभी की काफी खुली खुली बातें हुई थीं और हम दोनों सेक्स के मामले में चुदाई की बातों तक आ गए थे. तभी उसने मेरा मुँह पकड़ कर अपना लंड मेरे गले तक उतार दिया और मेरा मुँह चोदने लगा.

फिर उसने टोपे को मेरी गांड के छेद पर सेट कर दिया और हल्का सा धक्का मारा.

उसे उसके कपड़े पहनाए और वापस उसको उसकी जगह पर लिटा कर खुद वहां से बाहर चला गया. जैसे ही राहुल जाने लगा तो रूचि ने उसका हाथ पकड़ लिया- राहुल मेरे होते हुए तुम मास्टरबेट करोगे. फिर चाची के चूचों पर हाथ रखकर मैंने ब्रा को आगे सेट किया और पीछे से उसकी पीठ पर हुक को बंद करने लगा.

सेक्सी 2021 नई मैंने देरी न करते हुए रागिनी को अपने नीचे लिटा दिया और अपने लौड़े पर थूक लगा कर रागिनी के बिल पर सेट किया. सुरेश- अच्छा ये तो पता है … और आदमी का … उसको क्या कहते हैं?मीता- क्या आदमी, क्या जानवर, सबका लंड ही होता होगा.

उन भाभी की चुत चुदाई के लिए मैं यूपी गया और जब उनका पति कहीं बाहर गया था, तब मैंने उनके रूम पर जाकर कैसे उनकी चूत की बैंड बजाई, वो सब आपको मस्ती भरी सेक्स कहानी में बताऊंगा. उसके मुंह से एक दर्द और वासना भरी कामुक सी आह्ह … निकली और मेरे चूतड़ों को अपनी चूत की ओर दबाते हुए मुझे चोदने का इशारा देने लगी. लगभग बीस मिनट बाद धीरज ने अपने लंड का पानी मेरी अम्मी की चूत में छोड़ दिया और उनके ऊपर ढेर हो गया.

जंगल सेक्स फिल्म

मैं मानव प्रजनन के चैप्टर का इंतजार कर रहा था क्योंकि उसी में चूची, वैजाइना, निप्पल और लिंग जैसे शब्द खुले रूप से इस्तेमाल हो सकते थे. अब भाभी ने सोनिया के होंठों को चूम लिया और दोनों एक दूसरे को चूसने लगीं. ऐसे देख रही थी जैसे पहले कभी उन्होंने किसी मर्द को अंडरवियर में न देखा हो.

मेरा लंड भाभी के अंदर इतनी जोर से ठोक रहा था कि जैसे उनके पेट में घुस रहा हो. बीवी की टाइट चूत चोदते हुए अब मुझे भी मजा आ रहा था और मैं अब धीमे नहीं कर सकता था.

उसने जाते समय कहा कि अंडे, ब्रेड और दूध रखा है … तुम दोनों के लिए ही ये सब लाकर रखा था.

नंगी भाभी के जिस्म से लिपटकर मेरा लंड फिर से उसकी चूत में जाने के लिए तड़प उठा लेकिन मैं खुद को रोके रहा. भाभी- आह … आगे बढ़ो न!मैं- जानू अब आप मेरे ऊपर आकर मेरा लंड चूसो और मैं अपने होंठों से आपकी सेक्सी और गुलाबी कोमल सी चूत का रस निकालता हूँ. मैंने उसे 6 महीनों में ही पटा लिया था और उसके बाद दस बारह बार चोद भी चुका था, पर नई नई चुदाई के काफी समय के बाद कुछ ऐसा हुआ, जो मुझे अन्दर तक मजा दे गया था.

तभी कोरोना की वजह से अनाउंसमेंट हुई कि ट्रेन को रद्द किया गया है और आप सभी से अनुरोध है कि अपना अपना ध्यान रखें. मीनू का एकदम बेदाग गोरा बदन, सेब जैसे कड़क बूब्स, जिन पर छोटे छोटे से भूरे निप्पल टंके थे. कमरे पर पहुंचे तो मेरे पति कोल्ड ड्रिंक वगैरह लेने के लिए दुकान पर चले गए.

मैंने देखा कि मां के हाथ उसके लंड पर लगते ही उसका लौड़ा और ज्यादा टाइट हो गया.

बीएफ सेक्सी फुल वीडियो एचडी: उसके बाद राहुल बोला- अब नाम लेकर बताओ … क्या करना है!मैंने कहा- यार, मेरी चूत में कुछ हो रहा है … प्लीज इसे जल्दी से शांत कर दो. वो साया कौन था और कितने मज़े से सुमन को चोद कर चला गया, अब ये तो आगे चलकर ही पता लगेगा.

दोस्तो क्या बताऊं! उसकी गर्म गर्म चूत में जब मेरा सख्त लौड़ा जा रहा था तो मैं जैसे स्वर्ग में था. वहां जाते हुए रास्ते में हम दोनों एक दूसरे से कुछ न कुछ बातें करते रहे थे और एक दूसरे से सहज हो चुके थे. दर्द इतना था कि मुझे लगता था कि मैं बुरी तरह घायल हो गयी हूं और शायद ही अपने पैरों पर खड़ी हो सकूंगी.

मेरी सुहागरात की चुदाई कहानी में पढ़ें कि मेरी शादी से पहले मेरी मंगेतर ने कुछ शर्तें रख दी.

थोड़ी देर बाद मेरी नज़र खिड़की पर गई तो मैंने देखा कि मेरी भानजी सोनिया खिड़की से हम दोनों को देख रही थी. अब मैं अपनी आज की कहानी शुरू करता हूं जो कि मेरी भाभी की चुदाई की कहानी है. इससे आपके और मेरे लंड को जितनी दिक्कत हो रही है, मुझे उम्मीद है कि अन्तर्वासना की प्यारी पाठिकाओं को भी मायूस होना पड़ रहा होगा.