सेक्सी बीएफ गेम

छवि स्रोत,देसी भाभी की हिंदी सेक्सी वीडियो

तस्वीर का शीर्षक ,

मशीन वाला बीएफ: सेक्सी बीएफ गेम, दोपहर तक रमा भी यहां पहुंच गई थी और एक घंटे के बाद वापस जाने का टिकट हो चुका था.

बिहारी सेक्सी बीएफ बिहार

मैंने ध्याने से देखा तो उसकी चूत का दाना भी अभी सही तरीके उभर भी नहीं पाया था. सेक्सी बीएफ रंडी की चुदाईमैंने बोला- हां … मेरा लंड भी छह इंच का ही है, लेकिन मेरी टाइमिंग बहुत ज़्यादा है.

जब भाई मजे ले रहा है तो मैं क्यूं पीछे रहूं?मैंने कहा- तो मुझमें ऐसा क्या खास लगा तुमको?वो बोली- तुम काफी समझदार लगे मुझे. ब्लू पिक्चर हिंदी चाहिएउनका प्रेम प्रसंग पहले से था, शादी से पहले कविता कुंवारी थी और रवि शादीशुदा था.

वो दर्द की अधिकता से मुझसे दूर होने लगीं, पर मैंने अपना जोर उन पर बनाए रखा और उनकी चुचियों को दबाता रहा.सेक्सी बीएफ गेम: आप इतने सुंदर और स्मार्ट हो, ऐसा नहीं हो सकता कि आपकी कोई गर्लफ्रेंड ना हो.

मैंने उसके हाथ में अपना हाथ दिया और उसने मुझे उठाया और फिर दूसरे हाथ से मेरे चूतड़ों को पकड़ कर अपनी ओर खींच लिया.रवि उससे ये कहते हुए उसके ऊपर चढ़ गया कि रानी अभी तो कल का भी दिन है … इतनी जल्दी कैसे थक गईं.

सेक्सी गर्ल क्सक्सक्स - सेक्सी बीएफ गेम

मगर जैसे ही मैं वापस जाने के लिए मुड़ा, मुझे अन्दर से श्रुति की कुछ आवाजें आईं … मैं उसे आवाज देने ही वाला था कि पर ये अजीब सी आवाजें सुनकर मैं रुक गया और चुपके से अन्दर जाने लगा.इसमें कोई शक नहीं है कि हम पांचों बहुत ही खुले विचारों वाली लड़कियां हैं लेकिन इस तरह से सार्वजनिक रूप से पराये मर्दों से चैट करना हम लोगों की शादीशुदा जिन्दगी के लिए काफी नुकसानदेह हो सकता है.

मैंने कहा- मम्मी आप हुक्म तो करो, मैं इतनी मेहनत करूंगा, इतनी मेहनत करूंगा कि आप पापा को भूल जाएंगी. सेक्सी बीएफ गेम हुआ यूं कि मेरा ब्वॉयफ्रेंड मेरे साथ सुहागरात मनाना चाहता था, मैं भी उसके साथ फर्स्ट टाइम सेक्स करने के लिए तैयार थी.

तब तक आप अन्तर्वासना पर गर्म गर्म कहानियों का मजा लेते रहें और सभी लड़कियां अपनी चूतों को सहलाने के लिये तैयार हो जायें और सभी चोदू मर्द अपने अपने लौडो़ं को हाथ में थाम लें.

सेक्सी बीएफ गेम?

आंटी पूछने लगी- तुम सोसायटी के व्हाट्स एप ग्रुप में हो क्या?मैंने कहा- नहीं. मैंने भी उसे देखते हुए हाथ में थूक लगा कर अपनी योनि के मुख पर मल लिया और चुदाई के लिए तैयार हो गई. टीना- भाई क्या हो गया, तुम मेरे बिस्तर पर क्यों बैठे हो?मैं- मैं तुम्हें किस करना चाहता हूँ और प्यार करना चाहता हूँ.

मैंने अपने हाथों से उसकी ब्रा और पैंटी को उतार कर उसको पूरी नंगी कर दिया. कुछ ही देर में उनकी ननद की सील टूट गई और वो भी चुदाई का मजा लेने लगी. और इसी फिटिंग दिखने के चक्कर में उसने मेरे दोनों मम्मे पकड़ कर दबा दिये।मैंने कोई बुरा नहीं माना तो उसने मुझे किसी दिन दोपहर को आने को कहा।मैं तो अगले ही दिन भरी दोपहरी में उसकी दुकान पर चली गई। गर्मी की वजह से दुकान में कोई ग्राहक नहीं था। मैं फिर से अपने लिए कोई ब्रा देखने लगी।मगर आज तो उस्मान ने बिना ब्रा लगाए ही मेरे दोनों मम्मे पकड़ कर खूब दबाये.

उन्होंने ये भी बताया कि उन्होंने काफी डॉक्टर्स से ट्रीटमेंट करवाया, लेकिन उन सभी डॉक्टर्स के मुताबिक वो एकदम ठीक हैं, लेकिन उनके पति ने कभी अपना चैकअप नहीं करवाया है. इस वजह से मेरे पास पूरा समय था कि मैं निश्चिन्त होकर नए साल का आनन्द ले सकूँ. चूंकि पहली बार लिख रहा हूँ, मुझसे लिखने में कोई गलती हो जाए, तो प्लीज़ माफ़ कर देना.

मैंने नर्वस हो कर कहा- मेम आपका नाम क्या है?उन्होंने अपना नाम संगीता बताया. जहां इतनी देर जांघें फैलाये हुए अब मुझे मेरी जांघों में अकड़न होने लगी थी … वहीं कमलनाथ भी धक्के मारते हुए थकान महसूस करने लगा था.

कुछ देर बाद कांतिलाल उठा और अपना लिंग कविता के मुँह में देकर इसे चूसने को कहा.

आज मैं जो कहानी आप लोगों को बताने के लिए जा रहा हूं वो मेरी मां की कहानी है.

उसके बाद मुझे याद आया कि मैं उनके लिए खाने का कुछ सामान लाना तो भूल ही गयी. उसने कहा- मैं और औरतों को तो नहीं जानता, मैं बस तुमको ही जानता हूँ. इसी तरह की बातें चल रही थीं कि तभी कैब एक बढ़िया से रेस्टोरेंट के बाहर जा रुकी.

दो पल ऐसे ही घुटनों के बल खड़ा रहा और फिर बिस्तर पर गिर पड़ा और मुझे तौलिए से लिंग साफ करने को कहा. बस इतना ही हुआ कि उसने और मैंने एक दूसरे का साथ पाने की लालसा एक दूसरे तक बिना बोले ही पहुंचा दी थी. रवि के धक्कों में अब फिर से धीरे धीरे तीव्रता आने लगी और मुझसे भी जहां तक हो सकता था, वहां तक अपनी कमर उठा कर उसके लिंग को अपनी योनि में आने देती थी.

इतने में उसने हाथ बढ़ा कर मेरे पैंट के ऊपर से ही मेरा तना हुआ लंड छू लिया.

फिर मैं मैडम के ऊपर से हटा, तो देखा कि मैडम का तो चुद चुद कर बुरा हाल हो गया था. हॉल में लाइट्स न के बराबर थी … और आजू बाजू वाले मूवी के हॉट सीन देखने में बिज़ी थे. वो बोली- सर चुदाई करना कला होती है क्या?उसने जब ये पूछा तो उसकी नजर अब मेरी पैंट की जिप के इर्द-गिर्द घूम रही थी.

निधि पूरे जानवरों की तरह मेरे होंठों पर टूट पड़ी, लग रहा था जैसे वह मेरे होठों को खा जाएगी। मुझे ऐसा लग रहा था जैसे निधि ने सालों से किस नहीं किया है. वो इतना अधिक उत्तेजित था कि उसने एक बार भी मुझे लिंग चूसने को नहीं कहा. फिर एक बार बातों बातों में मैंने उन्हें सेक्सी कहते हुए उनके साथ सेक्स करने के लिए उन्हें प्रपोज कर दिया.

काव्या ने बोला- अच्छा जी … तो जनाब सीधा सेक्स करते हैं?ये कह कर उसने मुझे आंख मार दी.

मैं तो उसके गोल-गोल चूचों को देख कर उनके हिलने का और आनंद लेना चाह रहा था लेकिन स्वीटी की प्यास बुझाऩा अब जरूरी हो गया था. फिर उसने अपना लिंग बाहर निकाल कर मुझे उठाया और अपनी तरफ घुमाकर मुझे अपने ऊपर चढ़ने को कहा.

सेक्सी बीएफ गेम भाबी बोली- क्या हुआ? क्या प्रॉब्लम है?मैंने बाथरूम के अंदर से ही बताया- भाबी जब आप ऊपर आ रही थी तो मैं बाथरूम का दरवाजा खोल कर पेशाब कर रहा था. शायद मैं भी ट्राय करूंगा … मैं सब कर सकता हूं, जान तुम्हारे लिए मेरा मन मचला जा रहा है.

सेक्सी बीएफ गेम जैसे ही लंड बाबा, चूत बेबी से टच हुआ, मेरी जानू ने अपने हाथ से पकड़ कर उसे रास्ता दिखा दिया. क्या आप काम कर सकती हैं?उसने तुरंत उत्तर दिया कि काम तो वो कर देगी मगर सबसे आख़िर में घर जाते हुए ही काम करने का समय रखना पड़ेगा.

काफी देर तक भाभी की चूत को चाटने के बाद मैंने अपने कपड़े भी निकाल दिये.

मोटी सेक्सी बीएफ वीडियो

काव्या ने जैसे ही राकेश को देखा, वो तुरंत उठ कर खड़ी हो गयी और अपनी साड़ी ठीक करते हुए बोली- सॉरी राकेश … प्लीज़ तुम मुझे ग़लत मत समझना, ये सब बस जोश जोश में हो गया. तभी राजशेखर ने कहा- यार कांतिलाल, तुम तो रोज भाभीजी के साथ मजे करते हो … अगर बुरा न मानो तो आज भाभी जी को मैं अपने बिस्तर पर न्यौता देना चाहता हूँ. जिस तरह के कपड़े उसने मुझे दिलाए थे, वैसे कपड़े मैं पहनती नहीं थी और न कभी पहले पहना था.

तो उसने बोला- अरे वाह अकेले अकेले ही गेम खेल रहे हो?मैं बोला- नहीं यार … मैंने अपने दोस्त को कॉल करके बुलाया था, पर वो कुछ काम होने के कारण नहीं आ सकता था. अब मैं आस पड़ोस के बारे में भी निश्चिंत हो जाना चाहता था कि ऐन वक्त पर कोई आ ना जाए. आप मुझे मेल करके अपने विचारों को लिखिएगा … ताकि मैं अपनी दूसरी पोर्न स्टोरी हिंदी लिख सकूं.

उनको काफी देर तक काम करना होता है इसलिए वो देर रात को ही घर पर आते हैं.

उन्होंने आंखें बंद कर ली थीं और मैं धीरे धीरे उनके सांवले हाथों को सहला रहा था. मुझे इस तरह वेश्या का किरदार करने से खुद निर्लज्ज स्त्री की भांति जिज्ञासा जागने लगी थी. अगली विजिट पर डॉक्टर साहब ने कहा कि तुम्हारी आरसीटी हो जाये फिर तुम्हारी कॉस्मेटिक सर्जरी करके तुम्हारे दाँत बहुत सुन्दर कर दूँगा.

अब नहीं देखने हैं क्या?इतना कह कर उसने मेरे बालों को छोड़ दिया और सामने कुर्सी पर जाकर बैठ गयी. मैं अपने भाई का लंड अपने हाथ में लेकर उसकी लोअर के ऊपर से ही सहला रही थी. वो बोली कि यार आज ये वाली एक्सरसाइज करने में तुम मेरी थोड़ी हेल्प कर देना … मुझे पीछे कमर में थोड़ा दर्द है.

अब आगे:मेरा कांतिलाल के साथ पहले का भी सेक्स अनुभव था तो मैं जानती थी कि वो जल्दबाजी नहीं करेगा बल्कि मुझे पूर्ण रूप से उत्तेजित करके संभोग के लिए बाध्य कर देगा. वो फिर जोर जोर से उंगली करने लगी और उनके मुंह में से तेज तेज सिसकारियां निकलने लगीं.

तुम ये बताओ कि तुम चाय लोगे या कॉफी?उसने एक हल्की मुस्कान के साथ मुझसे पूछा. उसकी सील टूटने की बात उसने मुझे बताई थी, पर वो कहानी मैं बाद में बताऊंगा. पहले वे बैंक की नौकरी करते थे। जब भी उनका मन होता है तो वह अक्सर मेरे पास आ जाते हैं.

ऐसा मैं इसलिए कह रही हूँ क्योंकि मर्दों के अक्सर एक बार झड़ने के बाद दोबारा झड़ने में काफी समय लगता है.

मेरी बहन के मुँह से जोरदार सीत्कार निकल रही थी, जैसे उस की लंड से चुदाई में मस्त सीटियां बज रही हों. मेरी भी कोई गर्लफ्रेंड नहीं है और तुम्हारा भी कोई बॉयफ्रेंड नहीं है तो फिर क्यों न हम दोनों ही बॉयफ्रेंड और गर्लफ्रेंड बन जायें? मेरे ऐसा कहने पर वो शरमाने लगी और बोली- नहीं, ऐसा नहीं हो सकता. तभी रवि ने रमा के बाल एक हाथ से समेट कर मुट्ठी में पकड़े और दूसरे हाथ से उसके कंधे को थामा.

मेरा मोटा और सख्त लंड उनको अपनी गांड पर शायद महसूस हुआ तो वो एकदम से उठ गई. अम्मा ने कहा- बेटे मैं थोड़ी देर के लिए शीला चाची के पास जा रही हूँ, तू सो जा, मैं अभी आती हूँ.

उसने तुरंत मेरे लन्ड को पकड़ लिया और उस पर अपने कोमल हाथ से सहलाने लगी. उसके जाने के बाद मेरी बहन नज़मा हैरानी से बोली- ये क्या चक्कर है?मैंने बोला- वो मेरी माशूका आने वाली थी … और हम दोनों गोवा जाने वाले थे. भाभी इतनी सेक्सी दिखती हैं कि उनको जो भी बंदा एक बार देख ले, बस वो उसी पल से भाभी को अपने बिस्तर की रानी बनाने की सोचने लगेगा.

बीएफ व्हिडीओ भेजो

वो बोली- भैया रहने दो ना प्लीज़।मैं कहाँ रुकने वाला था, आगे बढ़ते हुए मैंने अपनी जीभ उसकी चूत के दाने पे लगा दी।इतना कुछ वो बर्दाश्त नहीं कर पाई और मेरा लंड मुँह में लेकर चूसने लगी। जबकि उसने पहले ऐसा कभी नहीं किया था। वो पास में खड़ी होकर मेरा लंड चूस रही थी जबकि मैं लेटे-2 उसकी चूत को चाट रहा था।काफी देर तक हम दोनों इसी हालत में एक दूसरे के साथ मजे लेते रहे.

अब मैंने अपनी उंगली उनकी चूत में घुसा दी और चूत में उंगली करने लगा. मैं उसकी चूत को चूसने लगा और वो मेरे लंड को मुंह में भर कर चूसने लगी. मुझे अपनी बांहों में भींच लिया और फट से अपना बरमूडा, अंडरवियर, टी-शर्ट निकाल कर फेंक दिए.

मैं ज्यादा देर तक टिक नहीं पाया और पांच मिनट में ही मेरे लंड ने दीदी की चूत में अपना वीर्य उगल दिया. कभी मैं उनके घर जाकर चुदवा लेती थी तो कभी अंकल मेरे घर आकर मौका पाकर मुझे चोद देते थे और चले जाते थे. हिंदी वाली बीएफ चुदाईहर वो लड़का और लड़की ये अच्छी तरह से जानते हैं कि जब पहला सेक्स होता है और जब पहली बार कोई आपके सेक्सुअल पार्ट्स को टच करता है तो वो पहला नशा एकदम अजीब सा होता है.

इतने में ही आंटी घूम गई और आंटी के घूमते ही मेरे होंठ आंटी के होंठ से मिल गए. अब गर्मी तो पहले से ही बहुत थी, तो मैंने बिना कोई और देरी किए, इंशा को घोड़ी बनाया और पीछे से उसकी फुद्दी में अपना लौड़ा घुसेड़ दिया.

उसने भी मेरा पूरा साथ दिया और हर धक्के की वापसी, मुझे अपनी जांघों पर महसूस होने लगी. मैं जब वहां गया और उनके घर जाकर मैंने उनका दरवाजा खटखटाया, तो भाभी ने दरवाजा खोला. उनको देख कर हम दोनों भी एक दूसरे के बारे में यही सोच रहे थे कि कैसे शुरूआत हो.

मैंने कहा- आपको तो पता ही है कि आज कल लड़कियां कितना पैसा खर्च करवाती हैं. फिर उसने अपना लिंग बाहर निकाल कर मुझे उठाया और अपनी तरफ घुमाकर मुझे अपने ऊपर चढ़ने को कहा. मैंने लंड से धक्का मारा, तो मेरा सुपारा आंटी की चूत की फांकों में घुस गया.

या फिर शायद विकास ने जानबूझकर मेरा हाथ उसके लंड से टच करवा दिया था.

तो मैं सुबह करीब आठ बजे तैयार होकर जाने के लिये सीढ़ियों से नीचे आ रहा था कि एकदम से मेरे पैर थम गये. मैं भी उस मीठे दर्द की अनुभूति बार बार चाहने लगी थी, जिसके कारण मैं कांतिलाल के लिए अपने चूतड़ और ऊंचे कर दिए, ताकि उसे मेरी योनि का अधिकतम मुख मिले.

उसने मेरे दोनों स्तनों को एक एक हाथ से पकड़ चूचुकों को बारी बारी चूमकर बोला- क्या अब भी इनमें से दूध आता है?मैंने उत्तर दिया- हां. मैं बेड पर गया, तो काव्या ने मेरा लंड चूस कर खड़ा कर दिया और फिर खुद ही चूत फैला कर लेट गयी. उसके बाद हम दोनों न जाने कितनी और बार मिले … हमारे बीच मस्त रिश्ता बन गया था.

फिर जब उसकी चूत में फिर आग लगी तो उसने खुद ही बाकी घर वालों को नींद की गोली खिला कर फिर से चूत चुदवाने का प्रोग्राम बना लिया. फिर 5 मिनट बाद जब मेरा लंड थोड़ा शांत हुआ, तो उसने फिर से अपने हाथ से मेरा लंड खड़ा कर दिया और मैंने फिर से उसकी चूत में डाल दिया और उसे चोदने लगा. फिर हाथ से लिंग को पकड़ कर उसने दिशा दिखाते हुए रमा की योनि की छेद में लिंग को डालने लगा.

सेक्सी बीएफ गेम चूंकि मेरी गांड है भी बहुत सेक्सी, इसलिए मैं इस मौके पर अपनी गांड को खुला रखना चाहती थी. अगर आंटी ने मेरी यह हरकत इमरान को बता दी तो शायद मैं इमरान के घर पर भी नहीं आ पाऊँगा उसके बाद। इसलिए मैं आंटी को सॉरी बोलने के लिए चला गया.

भाभी के साथ एक्स एक्स

उसकी इस तरह के संभोग क्रिया से मुझे लगने लगा कि रवि के आगे मैं देर तक नहीं टिक पाऊंगी. मैंने अपूर्वा को वहीं योग मैट पर लिटा दिया और उसके मुँह में अपना मुँह डाल कर उसे स्मूच करने लगा. वहीं कविता भी उसका पूरा सहयोग दे रही थी और किसी भी तरह से कांतिलाल का जोश न कम हो, इसके लिए वो बारबार उसके होंठों, गालों, गले और छाती को चूमती हुई उसका उत्साह बढ़ा रही थी.

लेकिन वो अभी शायद किसी असमंजस में थी कि मैंने अचानक इस तरह उसके सामने गाड़ी क्यों लगा दी. पर मैं नहीं गया क्योंकि बुआ के साथ एक जने का रहना जरूरी था। मैंने कहा कि मैं बुआ के पास रुक जाता हूँ तो सब लोग मुझे और बुआ को घर में छोड़ कर लखनऊ चले गए. इंग्लिश बीएफ ओपन व्हिडिओचूंकि ये चाची की चूत की चुदाई मेरी पहली कहानी है इसलिए कहानी लिखते समय कोई गलती हो जाये तो आप उसे नजरअंदाज कर दें.

फिर उन्होंने कहा- कुछ दवाइयां आपको आज ही मिल जाएंगी और बाक़ी दवाइयां आपको दो दिन बाद उपलब्ध हो पायेंगी।मैंने उनसे कहा- लेकिन आप जरूर यह दवाई मंगवा दीजिए।मैं अपने घर आ गया और घर पर मैंने वह दवाई अपनी मम्मी को दे दी। मैंने अपनी मम्मी को सारा कुछ समझा दिया था.

उसने मेरे बीवी की नाइटी पहनी हुई थी, जिसमें मम्मों के ऊपर एक चैन लगी हुई थी. तभी मैंने अपनी उंगली उसकी चूत में डाली तो वो दर्द से उछाल गई और बोली- उंगली डालने से दर्द हो रहा है तो लंड कैसे झेलूँगी?मैंने कहा- डरो नहीं मेरे जान, मैं उंगली से तुम्हारी चूत को सहलाउँगा तो वो थोड़ी गीली हो जाएगी और शुरू में थोड़ा सा दर्द होगा.

मैं अक्सर सोचा करता था कि उनके पति शायद जॉब पर जाते होंगे इसलिए उनसे मुलाकात नहीं हो पाती है. दीदी भी पूरे उफान पर थी इसलिए मेरी मंशा को भांप कर दीदी ने भी अपनी गांड हल्की सी उठा दी और दीदी की बिना पैंटी वाली योनि पर मेरा हाथ जा लगा. मैं फ़ेसबुक की अपनी प्रोफाइल पर हमेशा सेक्सी भाभी या लड़कियों की तस्वीर डाला करता था.

मेरी एक बेटी है 6 साल की और मैं अपनी जिंदगी में काफी खुश हूं।दोस्तो, मेरा फिगर साइज 36-32-36 है। मेरा जिस्म बिल्कुल गोरा और गदराया हुआ है.

उसके बड़े-बड़े पहाड़ों के बीच से मेरी जीभ जैसे नाग की तरह सरक रही थी. मैंने दीदी की पजामी पर हाथ मारा तो दीदी की जांघों के बीच में उठी हुई सी वो आकृति हाथ को छू गई. मैंने मामी के पूरे बदन को चूसा और चाटा और फिर उनकी चूत में उंगली दे दी.

सेक्स वीडियो एचडी सेक्सीअब वो मस्ती से सिसकारियां लेने लगी थी- उम्म्म … आह … उम्मम … ओहहमैंने अपने झटकों की स्पीड और बढ़ा दी. दो-तीन मिनट तक उसकी टाइट कुंवारी चूत में लंड को डालकर मैं लेटा रहा.

बीएफ सेक्सी वाला वीडियो

कुछ देर मुझे चूमने के बाद कमलनाथ ने मुझे सोफे के एक कोने पर झुकने को कहा. खुले काले लंबे बाल, गोरे गाल, लाल होंठ, बड़े बड़े दूध … सपाट पेट, चौड़ी गांड. डॉक्टर साहब ने फिर से लण्ड को निशाने पर रखा मेरी कमर को कसकर पकड़ा और धीरे धीरे दबाव बनाते हुए लण्ड को अन्दर करने लगे.

मैं पहली बार मम्मी के स्कूल गया था इसीलिए मम्मी ने मुझे सबसे मिलवाया … उस लड़की से भी!वो मुझे देखकर मुस्कुराई, मैंने भी स्माइल दी।वो मेरी मम्मी की सबसे चहेती छात्रा थी और मम्मी को क्लास भी लेनी थी इसलिए मम्मी ने उससे मुझे स्कूल दिखाने को कहा. कविता ज्यादा देर तक उसे रोक नहीं पाई और फिर उसने खुद को कांतिलाल को समर्पित कर दिया. मैंने अपने चूतड़ों को हिलाते हुए उसे धक्के लगाने का संकेत देना शुरू कर दिया.

तो मैंने उनसे पूछा- क्या मैं तेल मालिश कर दूं?तो उन्होंने मना कर दिया. आंटी ने मुझे कुछ पैसे देते हुए कहा- अब से जब भी तू मुझे चोदेगा, मैं तुझे पैसे दूंगी. उषा- अरे तेरी बीवी की चुत का भोसड़ा बन जाएगा … उसका क्या?मैं बोला- मौसी चुत तो होती ही है चुदने के लिए … उसे एक चोदे या हजार … क्या फर्क पड़ता है.

उनका मुंह एक बार मेरी गांड में घुस जाता और अगली बार फिर होंठ मेरी चूत को चूस जाते. दुकान में मां की चूत देख कर मेरा लंड मुझे चैन से बैठने नहीं दे रहा था.

उसने अब मेरे चूतड़ों को दोनों हाथों से फैलाना शुरू कर दिया और अपना मुँह बीच में डाल मेरी योनि जीभ से टटोलनी शुरू कर दी.

चुदाई के बाद टेबल के मेजपोश से लंड पौंछ कर बोला- तुम निबटोगे?मैंने मना कर दिया।वह बड़ा थैंकफुल था- अरे यार मजा आ गया! तुमने बड़ी मदद की. गाना वाला सेक्सी बीएफफिर मैंने उनसे पूछा- आप यहां पर कैसे?उसने थकावट भरी आवाज में जवाब दिया- बहुत देर से बस का इंतजार कर रही हूँ लेकिन अभी तक कोई उस तरफ की बस नहीं आई है. घूमर बीएफवो हंसने लगी- हां कमीने … मैंने देखा है ब्लू फिल्म में!फिर मैंने उसके बालों को पकड़ा और अपनी तरफ खींचा. वैसे भी पापा ने स्पोर्ट्स बाइक लेकर देने को मना कर दिया और बोला था कि खुद कमाओ और चाहे जहाज खरीद लो.

फिर मैंने मम्मी से पूछा- कैसा रहा मम्मी … पापा की कमी पूरी हुई या नहीं?तो मम्मी बोलीं- अरे बेटा, तेरे पापा में इतना दम कहां बचा है.

मैंने अपने दोस्त की चाची की गांड की चुदाई कर डाली … एक दिन मैं अपने दोस्त के घर गया तो उसकी चाची से नजर मिली. कविता ने बिना समय बर्बाद किए झट से अपने हाथों को कांतिलाल के सीने पर रखा और घुटनों पर वजन डाल कर अपने मदमस्त चूतड़ों को आगे की तरफ धकेलते हुए लिंग पर अपनी योनि को रगड़ना शुरू कर दिया. जैसे जैसे मैं उसके मम्मों को जोर से दबाता और मसलता, वो और तेज़ तेज़ से मेरा लंड चूसने लगती और उसे पूरा अन्दर तक ले जाती.

वो मेरी योनि में उंगली डाल चाट रहा था और मैं एक हाथ से उसका लिंग हिला रही थी, दूसरे हाथ से उसके आंडों को सहला रही थी. एक तरफ कमलनाथ उसकी योनि चाट रहा था और दूसरी तरफ रमा उसका लिंग चूस रही थी. मैं भी ताबड़तोड़ मम्मी की चुदाई रहा था, लेकिन मेरा पूरा लंड मम्मी की चूत में जा नहीं रहा था.

ट्रिपल एक्स इंडियन सेक्सी व्हिडिओ

भाभी ने भी मुझे देख लिया था और उन्होंने हाथ के इशारे से अन्दर आने को कहा. हमें घूमने के लिए आस पास के एरिया में ही जाना था और दो दिन वहीं घूमना था. मैंने धीरे से कहा कि लंड को हाथ में पकड़ लो लेकिन उसने मना कर दिया.

एक दिन नॉर्मल बात हुई फिर सबकी तरह उसकी भी वही डिमांड कि पिक सेंड कर दो.

मैंने उसकी चूचियों को मसलना शुरू कर दिया और उसकी जीभ को अपने मुंह में खींचते हुए उसकी किस करने लगा जिससे कि धक्के का असर उस पर कम से कम हो.

कुछ दिन बीत जाने के बाद नानी ने मेरी मां के पास फोन किया और मेरे आने के बारे में पूछा क्योंकि मामा जी कुछ दिन के बाहर जा रहे थे और नानी ने मां को कह दिया कि वो मुझे यहां मामा के घर जल्दी ही भेज दें क्योंकि वहां पर घर की देखभाल करने वाला कोई नहीं था. साथ में एक जवान लड़की अपनी चूत में उंगली कर रही हो तो भला किसे चैन आने वाला था. ब्लू सेक्सी इंडियन वीडियोमैंने उसके लहंगे का नाड़ा खींच दिया और वो एक पैंटी में मेरे सामने आ गई.

उसका लिंग सच में बहुत मस्त आकार में था और लंबाई और मोटाई एकदम सही थी. उसकी इस तरह के संभोग क्रिया से मुझे लगने लगा कि रवि के आगे मैं देर तक नहीं टिक पाऊंगी. मुझे पीछे से उसकी ब्रा का स्ट्रेप दिख रहा था, तो मुझसे नहीं रहा गया.

फिर उसने दूसरा सवाल पूछा- सर, क्या लंड से हमेशा ही स्पर्म गिरता है?मैंने कहा- नहीं, यह केवल सेक्स के बाद ही गिरता है. उनको मेरा व्यवहार बहुत पसंद आता है और मैं हमेशा अपने को एक अलग लुक देकर रखता हूं.

लेकिन घर आने के बाद भी पत्नी के साथ सेक्स करने का मौका नहीं मिला।2 दिन रुकने के बाद मैं वापस आ गया और मैंने जानबूझ कर शाम की ट्रेन पकड़ी, रात को लगभग 2 बजे मैं ससुराल वाले घर पहुँचा.

मैंने कहा- तो तुमने कभी मुझसे कहा क्यों नहीं?वो बोली- कैसे कहती पिताजी, बहू जो हूं. उसका लिंग किसी भी स्त्री को चरम सीमा तक पहुंचाने के लिए बड़ा मजबूत दिख रहा था. चूंकि मैं और मैडम काफी अच्छे फ्रेंड्स की तरह ही थे, तो मैंने पूछ लिया- मैडम क्या हुआ? आप क्यों रो रही थीं?उन्होंने मेरी बात टाल दी.

सी वीडियो बीएफ देहाती मैं जहां जहां धक्के मार उसे पकड़ चिपकी रही, वहीं वो तब तक गुर्राते हुए झटके मारता रहा. मेरे अम्मी अब्बू अपने कमरे में ही रहते हैं तो मुझे पकड़े जाने का कोई डर नहीं। उधर चचाजान के घर में भी कोई बाहर नहीं होता.

साथ ही उसने प्रिया दीदी की बहुत सेक्सी दिखने वाली पेंटी भी फाड़ दी. उसका लंड थोड़ा थोड़ा सा ही अन्दर गया होगा और मेरे मुँह से उम्म्ह … अहह … हय … ओह … निकल गई. अब शायद दोनों ही भाई बहन उन पुराने दिनों की यादों को फिर से ताज़ा करने के लिए तैयार हो गये थे.

इंडियन बीएफ देहाती

मुझे 12 से 14 मिनट लगे होंगे वाशरूम में … और शायद वो सब सुन रही थी. कुछ दूरी पर झाड़ी में से ‘उह … अहह आराम से करो … दर्द हो रहा है!’ आवाज़ आ रही थी।काजल वहां से जाने को बोलने लगी।तो हमें जाना पड़ा।फिर हम 1 ऐसी जगह गए जहां कोई नहीं था. मुझे क्या? हो सकता है, इसी बिना पर मैं माँ बेटी दोनों को एक साथ चोदने का भी मज़ा ले सकूँ.

वो एक बार दर्द से छटपटाई, उसकी दर्द भारी सिसकारियाँ निकलने लगी ‘उम्म्ह … अहह … हय … ओह …’ लेकिन फिर नॉर्मल हो गई. राज- वैसे रुचि ने मुझे बताया था कि तुम्हारा बॉयफ्रेंड भी आने वाला था!मैं- हां यार, लेकिन वो आ नहीं पाया … मेरी किस्मत खराब थी.

मैंने एक बार प्रिया को देखा, तो वो दूसरी तरफ देख रही थी कि कोई आ ना जाए.

अब मैंने उसकी साड़ी का पल्लू हटाया, वैसे ही मुझे उसके उठे हुए गोल, मुलायम और सफेद चुचे दिखने लगे और मेरा दिमाग़ खराब होने लगा. पांच मिनट के बाद वो मुझे अपनी बांहों में कस कर पकड़ने लगी और उसकी बुर मेरे लंड पर कसने लगी. फिर सबको जुगाड़ करके और सबको सुला देने के बाद मैंने सामान के पास जाने का सोचा और उधर की तरफ निकल पड़ा.

तभी मैंने महसूस किया कि भाबी ने मेरा हाथ उठा कर अपने एक स्तन पर रख दिया. वो बोली- आह चोद दो मुझे … जल्दी से … आह मेरे पति के आने से पहले मुझे तृप्त कर दो. उसके चूचे मेरे सीने से लगे थे और हम दोनों एक दूसरे के होंठों को चूसने में लग गए थे.

उसके ऐसा करने से उसकी फ्रॉक तो ज़्यादा ऊपर नहीं हुई, लेकिन उसकी पैंटी मुझे सीधी दिखने लगी.

सेक्सी बीएफ गेम: ब्लाउज खोलते ही मुझे भी थोड़ी राहत मिली क्योंकि ब्लाउज थोड़ा ज्यादा ही कसा हुआ था. जैसे ही मेरी जीभ स्वीटी की चूत में गई तो उसने बेड की चादर को नोचना शुरू कर दिया.

भाभी की बातों से मुझे पता लग रहा था कि भाभी को अपनी सेक्स लाइफ में कुछ संतुष्टि नहीं मिल पा रही है. वो दोनों आपस में बातें करने लगीं और कुछ देर के बाद लाइट बुझा दी गई. इस तरह से हम सब साफ साफ राजेश्वरी की योनि में लिंग घुसता निकलता देख सकते थे.

उसके फिगर के कारण ही बार बार मेरा लंड उसकी चूत मारने के लिए तड़प उठता था.

निर्मला ने मुझे बताया कि वो एक तरह की शराब है, जो लोग खास तरह के मौकों पर पीते हैं. मैं- ये कौन सा था जाम, जो तूने आंखों से पिला दिया … बंदा तो एकदम सीधा था, तूने सारा सिस्टम हिला दिया. अम्मा किसी से बोल रही थीं- अरे कोई बात नहीं … आप आओ एक हफ्ते के लिए … मैं सब सैट कर देती हूँ.