हिंदी बीएफ सेक्सी चूत

छवि स्रोत,सेक्सी दिखाओ नंगी चुदाई

तस्वीर का शीर्षक ,

व्हाट्सअप सेक्सी व्हिडिओ: हिंदी बीएफ सेक्सी चूत, बाकी फिर कभी फ़ुर्सत में लिखूंगी कि आगे मेरी और राहुल को कितनी बार चुदाई की कोशिश हुई या चुदाई हो भी पाई या नहीं हो सकी.

सेक्सी वीडियो नेहा कक्कड़

मैं शर्म के मारे उससे नजर भी नहीं मिला पा रही थी, लेकिन इन सबमें मजा भी बहुत आ रहा था. सेक्सी गाने देखने केमैं भी कसमसा रही थी कि ये जल्दी से अपना लंड मेरी चूत में डाल दे और मुझे चोद दे.

और होती भी क्यूँ नहीं… नए जिस्म से जिस्म टकराने का मज़ा ही कुछ और होता!शायद इसिलये कहते हैं कि स्वाद बदलते रहें, जिंदगी खुद ब खुद बदल जायेगी!मंजू ने राज को ऐसे जकड़ रखा था मानो आज निचोड़ के ही छोड़ेगी. गुजरात बीपी सेक्सीअब वो चिकना हो चुका था और मेरी चुत में घुसने को पूरी तरह से बेताब था.

फिर कुछ देर बाद बोला- तुम भी मेरे लंड को चूसो और जैसे ही खड़ा हो जाए.हिंदी बीएफ सेक्सी चूत: अंकल और आंटी को कहीं रिश्तेदारी में जाना था और शाम को भैया आने वाले थे.

फिर मैंने अपनी जैकेट और टी-शर्ट उतार दी और उनकी उनके सामने ही नकल करने लगा तो वो हंस पड़ीं.तभी शिवानी बोली- भैया, मम्मी को क्यों मार रहे हो? उन्हें दर्द हो रहा है!सोनू- अरे बहन, प्यार करने का यह एक तरीका होता है, तू बड़ी होगी तो समझ जाएगी!मैंने कहा- शिवानी बेटा, तुम आंखें बंद कर के सो जाओ, भैया को प्यार करने दो मुझे!अब सोनू मेरी गांड पर भी थप्पड़ मार रहा था जिससे मेरा जोश और बढ़ता जा रहा था.

गांव वाला सेक्सी वीडियो एचडी - हिंदी बीएफ सेक्सी चूत

पद्मिनी सब लड़कियों से बहुत ज़्यादा खूबसूरत थी और उसका सबसे खूबसूरत जिस्म भी था.मैं अपनी वर्जिनिटी ऐसे ही वेस्ट नहीं करना चाहता था, पर मैं भी महाबकचोद था, सो बोल उठा- मुझे चाहिए.

मैंने उंगली हटा कर अपने लंड को बुर की फांकों में फंसाया तो वो लंड की गर्मी से समझ गई कि लंड बुर में जाने वाला है. हिंदी बीएफ सेक्सी चूत अब तो हमारा सेक्स चैट करने का रोज का नियम हो गया और फ़ोन सेक्स करने का खेल शुरू हो गया.

डॉक्टर का लंड पूरा 8 इंच लंबा था, वो लंड दिखाते हुए बोला- इससे अब तुम्हारा इलाज़ होगा.

हिंदी बीएफ सेक्सी चूत?

मम्मी चिल्ला उठी इस बार, बोली- निकालो निकालो … दोनों एक ही छेद में … दर्द हो रहा है!इस पर मामा ने कहा- दीदी, थोड़ी देर होगा, फिर मज़ा आने लगेगा. बापू अब तक उसकी पेंटी उतारने की कोशिश में लगा हुआ था, पर पद्मिनी ने तो अपने पैरों को मोड़ लिए थे और पैरों को पेट पर दबाये वो ज़ोरों से हंसी जा रही थी. उसने अन्दर प्रवेश किया, तो उसकी खूबसूरती देख कर मेरा तो नशा दोगुना हो गया.

चाचा बोले- फिर से सोच ले वन्द्या, मैं तुझे चोदूंगा और अपने दोस्त के साथ चोदूंगा. मैं चाचा की शर्ट के बटन खोलने लगी और कुछ ही पलों में शर्ट उतार दी, फिर उनकी बनियान भी उतार दी. परंतु मुझे नींद नहीं आ रही थी और मेरे मन में अपनी बड़ी बहन को चोदने के ख्याल आ रहे थे.

पद्मिनी जाते हुए बाहर से चिल्ला कर जवाब दिया- हाँ बापू आज वापस आने के बाद ज़रूर बताऊँगी… बाय बाय बापू…पद्मिनी बापू को एक फ्लाइंग किस हवा में उछालते हुए हंस दी. लेकिन बुआ जी कभी पता नहीं चला कि मैं अनु को चोदता हूँ और ना ही कभी अनु को पता चला कि मैं उसकी बुआ की लेता हूँ. मैंने लंड अन्दर ही रहने दिया और दूसरा धक्का मारा तो मेरा पूरा लंड उसकी नन्हीं सी बुर के अन्दर जड़ तक घुस गया.

लॉन में जाकर पहले तो दो कप चाय पी और फिर बाहर निकल के एक रिक्शा पकड़ा. पहले तो उसने मना किया, परन्तु मेरे कहने पर कुछ देर बाद जूली ने वह धीरे धीरे पी लिया.

थोड़ी देर बाद उसकी चूत गीली हो गयी, मेरा लंड अब आसानी से अंदर जा बाहर जा रहा था.

मेरी निगाह रूपा के मस्त उठे हुए मम्मों पर थी जोकि रूपा ने भी भांप लिया था.

वह बात बात पर रितु की तारीफ कर रहा था और बोल रहा था कि वह बहुत सुन्दर है. मेरी पिछली कहानी थीबीवी की चूत चुदाई उसके भाई सेआज मैं आप को अपना एक और किस्सा सुनाने जा रहा हूँ. मैंने फिर थोड़ा सा धक्का और दिया और इस बार मेरा पूरा लंड उसकी गांड में चला गया.

अपने आप मेरे हाथ दिनेश के बालों में चले गए और उधर मेरे पीछे रोहण चाचा अपना लौड़ा मेरे गांड में घुसाने की कोशिश कर रहे थे, पर घुस नहीं रहा था. चूत लंड, मम्में, लंड चूसना, चूत चाटना, चुदाई … ये सब पोर्न फ़िल्में अब तो सहज ही सबको उपलब्ध हैं. मैं तो सोने जा रही हूँ… तूने बहुत ही ज़्यादा तंग किया था रात भर… सारा बदन दुःख रहा है.

फिर 5-10 मिनट तक लगातार राहुल ने मेरी चूत में झटके दिए और गिनती की 6 पिचकारियां मेरी चूत में छोड़ दीं, जिनका मुझे पूरी तरह से अहसास हो रहा था.

यह घटना मेरे साथ दस दिन पहले ही उस वक्त हुई थी, जब मैं अपने ऑफिस से अपने घर के लिए एमजी रोड से मेट्रो में चढ़ा था. उसी वक्त मुझे उसका फूलता हुआ लंड अपनी चूत से टच करता हुआ महसूस हो रहा था, लेकिन मुझे डर भी था कि कहीं मेरा भाई ना आ जाए. तो मैंने उन्हें इतना कसकर पकड़ लिया कि वह हिल भी नहीं पा रही थीं और उनकी सांसें भी नहीं निकल रही थीं.

फिर उन्होंने भी मुस्कुराते हुए कहा कि अपना नम्बर दे दो, मैं सुबह मिस कॉल कर दिया करूँगी तो साथ में चल लिया करेंगे. सेक्स तो दूर की बात है।हालाँकि अब्बू सऊदी छोड़ अब यहीं रहते हैं लेकिन घर पर उनके पांव कम ही टिकते हैं, सो जब तक समर की शादी नहीं हो जाती, पूरी सुविधा है मुनिया की खुजली मिटाने की. मैं बोली- यह ठीक नहीं है चाचा, आप मुझसे बहुत बड़े हैं, मुझे छोड़ दीजिए, भगवान के लिए मेरे साथ ऐसा मत करिए.

अगले दिन रात के नौ बजे थे, मेरी दरवाजे की बेल बजी, देखा तो आंटी सामने थी.

उसने मेरी तरफ़ हाथ बढ़ाया मैंने रोक दिया, वो मुझे बहुत मिन्नत के साथ देखने लगा. वो जोर जोर से गांड हिलाने लगीं और उनकी चूत का जूस मेरे मुँह में आ गया.

हिंदी बीएफ सेक्सी चूत उधर चाचा मेरे सामने खड़े मैं उनसे नज़रें चुरा रही थी, उनकी तरफ देखने की हिम्मत तो मुझमें थी ही नहीं. लेकिन मैंने दारू पी हुई थी और इसीलिए मुझमें इतनी ताकत नहीं थी कि मैं उसे रोक पाऊँ.

हिंदी बीएफ सेक्सी चूत कॉलेज में मेरे बहुत सारे दोस्त थे लेकिन सिर्फ कॉलेज तक ही सीमित रहे, सब लोग अपने घर जाते हैं और ज्यादा किसी से मतलब नहीं रखते. मेरे सामने जो नजारा था वह मेरे अनुमान क्षमता के बाहर था, क्या मोटी मोटी चूची थी उनकी… और चूत तो उनकी ऐसी फूली हुई थी जैसे कि डबल रोटी!मैंने तो बस अपना काम शुरू कर दिया, मैं अपना होश खो बैठा और मैं मामी की चुचियों की गहराई में उतर गया, उनको मन भर कर दबाने लगा, चूसने लगा.

अब हम कॉलेज पहुंच गए और मुस्कान का काम होने के बाद मुस्कान बोली- चलो अब घर.

बीएफ पिक्चर भेजो वीडियो में

मैंने अपनी बहन की ब्रा में से एक चुचे को बाहर निकाला और उसे मुँह में लेकर चूसने लगा और दूसरे को हाथ से दबा रहा था. कुछ बाइक की वजह से, कुछ मैं अपने आप ही इस तरह से उससे चिपकती थी कि उसे मेरे मम्मों का पूरा पता लगे कि वो कैसे हैं. तभी मैंने नींद में होने का ड्रामा करते हुए उनका हाथ पकड़ लिया और एक हाथ से उनके चेहरे को सहलाने लगा.

पद्मिनी सब लड़कियों से बहुत ज़्यादा खूबसूरत थी और उसका सबसे खूबसूरत जिस्म भी था. करीब 15 मिनट चूत चुसाई के बाद मैंने अपना 7 इंच का लंड बाहर निकाला और उसके हाथ में दे दिया. उसने ऑटो वाले से मेरे ही कॉलेज का नाम बोला, यह सुन कर मेरा मन खुश हो गया.

मैं भाभी को चोदता जा रहा था और वो मज़े ले लेकर गांड उठा उठा कर चुद रही थीं.

सुरेश जी का मुँह मेरे तरफ और मेरा मुँह उनकी तरफ होने से मैं उनसे सटकर चिपक गया. तो मैं अपने लंड को भाभी की गांड में डालने लगा और भाभी को जब दर्द हो रहा था तो बोलीं कि बहुत मोटा है, यार ऐसे नहीं ले पाऊंगी. आंटी खुश हो गईं और बस इसके बाद हम दोनों ने दो दो पैग लगाए और एक बार फिर से चुत लंड का खेल खेला.

बुआ का लड़का भी शायद यही चाह रहा था कि मैं उसके लंड के आकार को देख कर गरम हो जाऊं, इसलिए तो वो अंडरवियर में टीवी देखने आया था. मेरे हाथ इस वक्त अपनी सास की चूत पे थे और मैं उनकी चूत को सहला रहा था. मैं तो चुदास से पागल हुआ जा रहा था और अपनी कमर को आगे पीछे करने में लगा था.

फिर आशिना ने अरुण को बाजू में धकेल दिया और खुद उसके ऊपर आकर उसका शर्ट को खोल कर फेंक दिया. फिर उसने एक और जोर का धक्का मारा, जिससे आधे से ज्यादा लंड मेरी चुत में घुस गया.

अहमदाबाद पहुँचने के बाद मैंने एक होटल में डबल बेड का एक रूम बुक किया, फिर उसे मिलने के लिए एक कॉफ़ी शॉप में बुलाया. वो मेरे ऊपर आकर मेरी तरफ मुँह करके अपनी टांगें सीट पर फैला कर अपनी भारी गांड को मेरे लंड रख कर बैठने को हो गईं. मैंने अभिलाषा को फोन नंबर मिलाया, तो अभिलाषा ने कहा- जूली जरूर आपके पास आएगी, उसने मुझसे वादा किया था.

मेरे घर वाले भी उसके साथ मिलने में मुझ पर कोई पाबंदी नहीं लगाते थे.

वो शर्मा रही थी, मैं भी उसके पास जाकर उसके गुलाबी रस भरे होंठों का रस पान करने लगा. फिर मैंने उनकी साड़ी, पेटीकोट और कच्छी सब उतार दिया, अब वो मेरे सामने पूरी नंगी खड़ी थी, वो शरमा कर अपनी चूत अपने हाथों से छिपाने लगी. उसके बाप ने गौर से पद्मिनी की चूचियों पर अपना नज़र दौड़ाईं, फिर अपनी वासना से लिप्त नज़रों को पद्मिनी के चूतड़ों पर किया.

उनकी इतनी बिंदास बात सुनकर मैं भी खुलने लगा था, मैंने कहा- अरे कहाँ बुआ जी, दिल्ली आ कर ही पता लगा कि लड़के लड़कियां आपस में दोस्ती करते हैं. उतने में मैंने किसी बड़े ऑफिसर आने की खबर सुनी और वहां पे ही खड़ा होकर देखने लगा.

मैंने लंड के सुपारे को भाभी की चूत पे लगाया और उनको बैठने का इशारा किया. काश तुम्हारे लंड को मैं अपनी चूत में ले पाती!फिर मैंने उसके जवाब में कहा- कोई बात नहीं रेशमा जी, अब मुलाकात हो ही गई है तो अगर आप चाहो तो बार बार होती रहेगी और आप की चूत की अच्छी सी सेवा मैं कर दिया करुंगा. जैसे मैंने दोनों हाठों सर उसके बूब्स दबाये तो क्या बताऊँ दोस्तो … इतने मुलायम उसके बूब्स थे कि क्या कहना!और वो तुरंत आहें भरने लगी, उम्म उम्म की आवाज़ करने लगी.

छोटी छोटी लौंडिया की बीएफ

उनको देखकर मेरा भी कई बार लंड खड़ा हो जाता था, पर मैं हाथ से लंड दबा कर छुपा लिया करता था.

अब शादी ब्याह में तो ये सब चलता ही है और किसी की चुदाई भी हो जाय तो कोई बड़ी बात नहीं. क्या बात है?मैंने उसको बताया कि उसको अभी प्लेन से कहीं जाना था इसलिए छोड़ दिया. मैंने तो पहले जूस ऑर्डर किया, पर जब मैडम को वोड्का के शॉट लगाते देखा तो मुझे भी हिम्मत आ गई और मैंने व्हिस्की आर्डर कर दी.

उसने बताया- मैंने अभी 5 दिन पहले ही अपनी चूत को साफ किया है, इसमें बहुत बाल हो गये थे. आधे घण्टे बाद उसका लंड फिर से खड़ा हो गया और वो बोला- अबकी बार तुम्हें भी मज़ा आएगा. बॉलीवुड फिल्में सेक्सीमैंने अपनी बहन की ब्रा में से एक चुचे को बाहर निकाला और उसे मुँह में लेकर चूसने लगा और दूसरे को हाथ से दबा रहा था.

दोस्तो, आपको कैसी लग रही है मेरी न्यूड स्टोरी, बताने के लिए मुझे यहाँ मेल कर सकते हैं[emailprotected]आपके प्रोत्साहन से मुझे लिखने की प्रेरणा मिलती है।. इसलिये हमारे दोस्त या सगा संबंधी आकर इसी में ठहरते हैं और ऊपर से एक रूपया भी लिया तो दिनेश भार्इ 100 खर्च करवा देगा।वह मेरे रूम में आकर चहक रहा था, वो पूरी बात बताने लगा:सर, छाबड़ा सर अपने संग हम दोनों को छत पर बने रूम में लेकर गये, पीछे से सामान भी आ गया। दो रूम का सेट था.

हम दोनों का ये खेल काफी देर तक चलता रहा और फिर वो मेरा मोबाइल नम्बर मांगने लगी, जिस पर व्हाट्सैप चलता था. ऐसा करने में मयूरी ने उसकी पूरी मदद की और अपनी एक टांग उठा कर उसने विक्रम के कंधे पर रख दिया. क्योंकि अब वो थोड़ा इंग्लिश भी जान चुकी थी और मेरे से कंप्यूटर भी चलाना सीख लिया था.

इसे तो मैं अपनी मेल आइडी पर भी भेज चुकी हूँ ताकि अगर तू ज़बरदस्ती इसे डिलीट कर भी दे तो भी मेरे पास बनी रहे. अब मैं उनके चेहरे को चूसते हुए उनकी गर्दन को चूमने, चाटने लगा था और मेरे ऐसा करते ही वो सिसकारी लेती हुई मुझसे लिपटी जा रही थी. तब ये दोनों खेतों में आई … पर क्यों?सवाल मेरे दिमाग में घूम ही रहा था कि मैंने देखा राहुल, मेरा एक और दोस्त वहां आ गया था.

मेरे धक्कों से और उनकी गांड उछलने से हमारे बदन की घर्षण से ठप ठप की आवाज़ और हमारी सीत्कारों की आवाज गूंज रही थी ‘आहह आहह श इस्स यस्स.

फिर चार पांच मिनट के बाद मैंने अपनी चुदाई की स्पीड बढ़ा दी और जोर जोर से पिंकी को चोदने लगा. मैंने भाभी को अलग अलग पोजीशन में हचक कर चोदा, सब कुछ गीला हो गया था.

कोमल अपनी फ्रेंड के पास चली गयी और मैं सिगरेट पीने के लिए थोड़ा बाहर निकल गया. पूरे दिन उन्होंने मुझसे बात नहीं की, मेरी गांड फट रही थी कि वो किसी को रात के बारे में कुछ बता ना दें!शाम को बहुत गर्मी हो रही थी तो मैं नल से नहा रहा था, मैं जानबूझ कर पानी इधर उधर फैला रहा था ताकि वो मुझसे बोले और मेरी तरकीब काम आई, मौसी मुझसे बोली- पानी मत फैलाओ!मैं ख़ुश हो गया और मैं जल्दी जल्दी नहाया. तभी पीछे का दरवाजा खुला और मेरी मल्लिका, मेरी कामदेवी, मेरी मधु बाहर आयी.

बाबा ने ये चमत्कार कैसे किया था, यह बात अभी तक वल्लिका को समझ न आ सकी थी. चूत में जीभ घुसेड़ी तो उसने अपनी टांगें खोल दीं और चूत चुसाई का मंजर शुरू हो गया. फिर साड़ी को पूरा ऊपर कर दिया, अब मेरी कमर से नीचे पूरी नुमाइश हो रही थी.

हिंदी बीएफ सेक्सी चूत उसके बाद मैंने पेटिकोट का नाड़ा खींच कर खोल दिया और उसे नीचे खिसका दिया, इस दौरान मेरे हाथ उसकी जांघों से टकराये तो लगा कि शायद उसकी मां ने उसके पूरे शरीर की वैक्सिंग कर दी थी. मैं कभी कभी घर का भी काम कर लेती हूँ, या मैं जब फ्री रहती हूँ तो अपनी सहेलियों के साथ घूमने चली जाती हूँ.

ओपन सेक्सी व्हिडिओ बीएफ

मुझे उसके लंड से अजीब सी गंध आ रही थी तो मैंने लंड चूसने से मना कर दिया. और पेटीकोट पैंटी को उतारते ही वो मेरा लंड पकड़े ही लेट गयी। उसकी चूत के चारों तरफ झांटें थी, साफ करने की जहमत नहीं उठाती थी क्योंकि घर में इस तरह से चुदने का मौका नहीं मिलता था तो हो सकता है कि यह एक तरह से विद्रोह भी था. हाय क्या मजा आता है जब किसिंग करते हुए कोई आपके पूरे शरीर पर हाथ फेरे तो मानो ऐसा लगता है, जैसे कि आसमान में उड़ रहे हों.

उस रात को मैं जब आंटी के यहाँ गया तो सभी मेरा ही इंतज़ार कर रहे थे. वो बाथरूम में अन्दर आ गए और उन्होंने मुझे कसकर अपनी बांहों में लिया. सेक्सी वीडियो साथियापेंटी उतारते से ही उसने अपना मुँह मेरी चूत में लगा दिया और मेरी चूत को चाटने लगा.

कुछ देर तक मैं स्तब्ध सा उसकी रेशम जैसी चिकनी मुलायम टांगों की सुंदरता आँखों में बसाता रहा, फिर रेखा को हौले से उठाकर उसकी शमीज़ भी उतार डाली.

उसने भी अपने भाई को 20 रूपये दिए और अपने भाई को मेरे 10 रूपये वापस करने के लिए भेजा है. मैंने लंड निकालने की कोशिश की लेकिन वो मेरे ऊपर था, तो कुछ नहीं कर सकती थी.

अब यह लगने लगा था कि किसी तरह मुझे अन्दर अपनी चूत में लंड डलवाना चाहिए. मैंने मौका देख कर अपना लंड चलती गाड़ी में बाहर निकाला और छुआ दिया आंटी की ड्रेस पर और हाथ डाला उनके बूब्ज पर…अब मैं इंतजार नहीं कर सकता था, आज मुझे कुछ भी क्यों ना करना पड़े, मैं करूंगा… ऐसा सोच कर फिर मैंने बूब्स को हाथ लगाया और आंटी परेशान हो गयी. अब मैं जॉब के सिलसिले में चंडीगढ़ आ गया हूं और यहीं रह कर कोई न कोई रंडी या औरत की चुदाई करता रहता हूं.

मैं धक्के पे धक्का लगाए जा रहा था मुझे ऐसा लगा कि जैसे मैं मक्खन में लंड घुमा रहा होऊं.

फिर देखिये क्या ज़बरदस्त, भेजा उड़ा देने वाला मज़ा वोआपकी लौंडियाचुदाई मेंदेगी. मैंने जूली की टांगों को चौड़ा किया और चूत के छेद को खोल कर देखा, छेद में ऐसा लग रहा था कि जैसे अन्दर जगह ही नहीं है. कहानी का पिछला भाग:पराई नार की चूत चुदाई का मजा-1मैं पागलों की तरह उसे किस कर रही थी, उसके एक होंठ को मैं अपने दांतों में लेकर उसे काट रही थी.

सेक्सी वीडियो चुम्मा चाती वालावो एक हाथ से मेरे एक चूचे को दाब रहा था और दूसरे चूचे को मुँह में भर कर चूसने लगा. क्या नजारा था दोस्तो… क्या बताऊँ! मुझे वो मिल गया था जिसे मैं कितने दिनों से चूसना चाहता था।उसने अंदर सफेद रंग की ब्रा पहन रखी थी, क्या कयामत लग रही थी वो!मैंने उसे थोड़ी देर तक देखा और फिर उसकी ब्रा से बाहर दिख रही चूचियों को चूमना, चाटना शुरू किया.

इंग्लिश पिक्चर बीएफ दिखाइए

वो मेरे पास आकर कुछ ऐसे बैठ गईं कि उनकी एक जांघ बिल्कुल नंगी सी हो गई. जब पूरी तरह से उसका लौड़ा पानी निकाल चुका तो उसको याद आया कि उसने तो मेरी चूत अब तक देखी ही नहीं. उसने मुझे उस दिन खाना भी नहीं बनाने दिया, बस अपनी बांहों में ही जकड़े रखा.

मेरे हाथ उनकी जांघों से होते हुए साइड से उनकी पेंटी के अन्दर चले गए. कंडोम की चिकनाहट और उसकी चूत के रस की वजह से एक ही झटके में पूरा लौड़ा चूत की गहराइयों में उतर गया. भाभी एकदम तृप्त हो चुकी थीं और वे मुझे बड़े प्यार से सहलाए जा रही थीं.

मंजू का मुंह खुला हुआ था, वो चीखना चाहती थी लेकिन चीख नहीं पा रही थी!धीरे धीरे मंजू निढाल होने लगी और मेरी ही आँखों के सामने वो बिस्तर में गिर पड़ी. उसने अगले ही पल मम्मों को दबाना शुरू कर दिया और गुलाबी निपल्स को चूसना चालू कर दिया. अब चेंज करके क्या मार ही डालोगी?वो मुस्कुराईं और मैं उनको होंठों पर किस करने लगा.

एक पल को रुक कर मैंने लंड को चूत में सैट किया और अब मैं धक्कों पे धक्के देते हुए मैडम की चुत को फटाफट चोदने लगा. जेम्स ने अपने लंड पर तेल लगया और रितु की गांड पर अपना लंड टिका दिया, रितु के होंठों को मैंने अपने होंठों से दबा रखा था और जेम्स ने उसकी गांड में अपना लंड पेल दिया.

उनके होंठों पर हल्की सी मुस्कान भी थी, मुझे तो यह शक हो रहा था कि उन्होंने मुझे खीरे को मेरी मुनिया में घुसाते हुए देख लिया है.

तभी उसने 69 की पोज़िशन में आकर मेरी सलवार उतार दी और मेरी चड्डी उतार कर फेंक दी. योनी सेक्सी व्हिडिओइसलिए बताना नहीं चाहते?अरे नहीं ऐसी बात नहीं है, मैं तो बस ये कह रहा था कि आप तो दिल में बसाने की चीज हो. सेक्सी फिल्म वीडियो में नंगी पिक्चरजब तुमसे बात नहीं होती तो एक अजीब सी घबराहट होती है, दिल बैचैन रहता है, हमेशा तुम्हारे ही ख्याल दिल में आते हैं, यह सोचती हूं कि काश तुम पहले मिल गए होते! तुमसे बात करके मैं अपना खाना पीना सब भूल गयी हूँ, बस ऐसा लगता है कि कोई मुझे खाना पीना ना दे और सिर्फ तुमसे बातें करने के लिए बोल दे. मैं जीभ को निकाले उसे चाटते हुए नाभि पर आया, नाभि के चारों तरफ जीभ को गोल गोल घुमाने लगा, उसकी सिसकारी भी बढ़ती जा रही थी।उसके चूतड़ के नीचे तकिया रखा तो चूत और खुल कर मेरे मुँह के सामने आ गई, मेरे लिये यह पहला प्रयास था तो हिचक भी रहा था.

मेरी उम्र 21 साल है, लंबाई 6 फिट है और मेरे लंड की साइज लगभग सात इंच और मोटाई ढाई इंच है.

उसकी हर ख्वाइश और हर सपने में सिर्फ मैं ही रहूंगी, ऐसा सभी कहते हैं. मैंने उससे जवाब माँगा तो उसने कहा कि आप मेरी पहली ज़िन्दगी के बारे में नहीं जानते. बता चलेगी मेरे साथ, जहां मैं बोलूंगा, ऐसे ऐसे लंड से चुदवाऊंगा कि तेरी लाइफ में कभी सोच नहीं सकती, वो सभी फौलादी मर्द होंगे.

थोड़ी देर इसी पोजीशन में रहने के बाद मैंने उन्हें अपनी गोदी में बैठा लिया और अपनी बांहों में जकड़ कर उनकी योनि में जोर से झटके देने लगा. मैंने जब टिकट लिया था तो वेटिंग में थी लेकिन मेरा टिकट कंफर्म हो गया, मैं अपनी सीट पर जाकर बैठ गया. यही तो वो पल था जिसे देखने को मैं पागल हो रहा था… अपनी बीवी को किसी और लन्ड से स्खलित होते हुए देखना!आहहहह… आहहह… उफ.

गांव की लड़कियों की बीएफ सेक्सी वीडियो

फिर जब पद्मिनी बोले जा रही थी, तब बापू ने आहिस्ते से अपना लंड पेंट से बाहर निकाल कर उसकी बातें सुनते हुए पद्मिनी की जांघों पर छुआ रहा था. फिर उसने मुझे अपना लंड चूसने का बोला, तो मैं नीचे बैठ गई और उसके लंड को अपने मुँह में लेकर चूसने लगी. लाल जी का लंड बहुत बड़ा था जिसे देख कर मैंने उससे पूछा कि तेरा लंड इतना बड़ा कैसे हो गया? क्या कोई दवा लेता है?अब आगे.

विक्रम खड़ा हो गया, उसने अपने शॉर्ट्स निकाल दिया और उसका टनटनाता हुआ लंड बाहर खड़ा था.

मेरी बात सुन कर वो बहुत हैरान हुआ और बोला- क्यों ऐसे क्या बात हुई है.

उनकी इस अदा से कहने से यूं लगा जैसे वो कह रही हों कि चलो अब चुदाई का मजा लेने के लिए कमरे में चलते हैं. एक दिन जब मैं मसाज़ करवाने गयी तो जिस लड़की से मैं मसाज़ करवाती थी, वो नहीं आयी थी. सेक्सी ओपन चुड़ैअब तक की सेक्स स्टोरी में आपने पढ़ा कि बापू अपनीजवान बेटीके बदन से खेल रहा था और उसकी मिन्नत कर रहा था.

मुझे लग रहा था कि शायद भाभी मुझे और भी ज्यादा फंसाने के मूड में हैं. मेरी बात सुन कर वो बोला- क्या तुम चाहती हो कि मैं फिर से दुबारा उसी तरह से बीमार हो जाऊं?मैंने कहा- यह तो मैं मरते दम तक नहीं सोच सकती. दीदी आहें भर रही थीं और आंखें बंद किए बस मज़ा ले रही थीं- नहीं सतीश, प्लीज़ कुछ मत करो ना, मेरी बात मान जाओ ना, फिर कभी कर लेना, आज रहने दो, देखो कोई आ जाएगा, बहुत बदनामी होगी.

और तभी…पम्मी- हाँ सालों, इतना रहा नहीं जाता तो बुला ले ऑफिस में, पीछे कोई नहीं है, चिपक लेना. भाभी पहले से ही चुदासी थीं, सो वे मेरे सामने ज्यादा देर टिक ना पाईं और उन्होंने अपनी चूत से भलभला कर पानी छोड़ दिया.

उन्होंने कहा- ठीक है, जब भी मुझे आपको बुलाना होगा तो दो तीन पहले फोन पर बता दूंगी.

बापू ने एक मिनट अपनी पद्मिनी को उसके गले से छाती पर देखते हुए, पेट के ऊपर अपने नज़र को रोक कर. हम दोनों अब पीठ के बल अगल बगल लेटे तेज़ी से साँस ले रहे थे, दोनों पसीने में डूबे थे. मैं- वाह, क्या गोल गोल चूतड़ हैं मामी जी आपके… इनकी संगत में आपकी गांड चुदाई में बहुत मजा आएगा.

ट्रिपल सेक्सी बीपी हिंदी फिर मैं दिन भर यही सोचता रहा कि कैसे उसके मोबाइल से अपने फोटो डिलीट करूँ. मैं एकदम से नाटक करते हुए कहने लगी- अरे क्या कर रहे आप?तो उन्होंने बोला- कब से देखता आ रहा हूँ तुम्हारी हरकतें.

अब सब कुछ अपने पूरे शवाब पे था और निक्की मेरा लंड हाथ में लेकर पम्मी को दिखाने लगी और निक्की ने उसको भी बोला कि हाथ में ले कर सहलाओ!पम्मी लंड पकड़ने में थोड़ा झिझक रही थी, तो निक्की ने मेरा लंड चूसना शुरू कर दिया. इस तरह अरुण ने चूमते चूमते आशिना के कान के निचले हिस्से को काटा, आशिना एकदम से गनगना उठी. उसके बाद उन्होंने मेरा सर उठाया और एक लंबा किस करते हुए कहा कि मैं धन्य हो गई, आज तक किसी ने मेरी बुर नहीं चाटी थी.

सेक्सी वीडियो बीएफ हिंदी में दिखाएं

मैंने कह दिया- चलो कॉल नहीं करूँगा, लेकिन चैट तो कर सकते हैं न?तो उसने मुझसे कहा- वो भी जब करना जब मैं शुरुआत करूँ. इसी के साथ अपना मुँह उनकी नेट वाली पेंटी पर घिसते हुए मेरी गर्म सांसें उनकी चुत पर छोड़ने लगा. मैंने खाला को एक बार फिर से अपनी बाहों में भर लिया और हम दोनों एक दूसरे की आँखों में देखने लगे.

तुम अपने पति को मेरे पास भेज़ो, मैं उसे बताऊंगा कि वो तुमको रोज़ 3-4 बार चोदे और किस तरह से चोदे. दोनों ने एक-दूसरे की तरफ देखा और दोनों ने एक-दूसरे को गहरी मुस्कान दी.

ऐसी हॉट लड़की कि तूने सपनों में भी ना सोचा होगा, हीरोइन भी कुछ नहीं लगती उसके सामने, जो ब्लू फिल्म में तू देखता है, वो लड़कियां उसके पैरों के बराबर भी नहीं हैं.

मैंने उससे पूछा- ऐसा क्यों?वो बोली कि मुझे खुद नहीं पता कि कैसे गीली हो गई?मैं समझ गया कि वो एक बार झड़ चुकी थी और उसे खुद नहीं पता था. यह सुन कर मैं बहुत ही खुश हो गई कि इसने तो पहले से ही पूरा इंतज़ाम करके रखा हुआ है. 30 बजे शाम को फस्ट क्लास एसी में डी लोअर बर्थ में था और अपर बर्थ अभी खाली थी.

मैं जिस स्पा में मसाज़ करवाने जाती हूँ वहाँ 2 लड़के और 8 लड़कियाँ हैं. मैं अपने कपड़े निकालने लगा और केवल फ्रेंची में उसके सामने खड़ा हो गया. मैं एक बड़ी कम्पनी में काम करती हूँ और मेरी कम्पनी अपने वर्कर को ख़ुद का ख्याल रखने के लिए सैलरी से अलग पैसे देती है, तो मैं बॉडी मसाज़ करवा लेती हूँ ताकि अच्छा फ़ील हो.

मैंने भाभी की हंसी देख कर हिम्मत बाँधी और कहा- भाभी ये आपको देखकर खड़ा हुआ है.

हिंदी बीएफ सेक्सी चूत: अब मैंने इसी बहाने उससे बात आगे बढ़ाई और सेक्स के बारे बातें करने लगा. उसकी 42 साईज की चूचियां ब्रा के बंधन से आजाद होने के लिए तड़प रही थीं.

गीता ने उससे कहा कि मुझे माहवारी हुई है या नहीं, मैं नहीं कह सकती क्योंकि खून तो आया था मगर बहुत कम. दोस्तों ने कई बार उसको टोका भी कि क्या पागल हो गयी है, किसके ख्यालों में इतना खोई हुई है, कोई मिल गया क्या?अपने चेहरे पर लाली लिए पद्मिनी अपने बापू को दिमाग़ में सोचती हुई दोस्तो से बोली- हाँ मिल गया है कोई… जो मेरा इंतज़ार करेगा आज शाम को…तो हाल यह था कि पद्मिनी अपने बापू से प्यार करने लगी थी. मयूरी- पर ये तब हो पायेगा जब तुम्हारी बीवी इस बात के लिए मानेगी… और हर लड़की तुम्हारी अपनी बहन मयूरी नहीं है… की तुम दोनों का लंड एक साथ लेने को तैयार हो जाएगी.

और फिर धीरे धीरे अपनी हथेलियों से ग्रिप बनाते हुए उनके दूध पकड़ कर सहलाने लगा साथ ही उनकी नाभि में अपनी जीभ घुसा दी.

फिर उसने उन मैडम से उनका टिकट पूछा तो उसने कहा कि मेरा टिकट विकास नगर का है. उसने लाल रंग की ब्रा पहन रखी थी, मैंने ब्रा के ऊपर से ही उसके बूब्स को दबाया. मैं तो अपना सब कुछ आप पर लुटाना चाहती हूँ मगर आप लूटना ही नहीं चाहते.